रीवा में 34 हजार से ज्यादा किसानों के धान खरीद का दावा

-बोले कलेक्टर, क्रय केंद्रों से तत्काल हो खरीदी गई धान का उठान

By: Ajay Chaturvedi

Published: 24 Dec 2020, 06:19 PM IST

रीवा. जिले में अब तक 34 हजार से ज्यादा किसानों के धान की खरीद कर ली गई है। ऐसा कलेक्टर इलैयाराज टी का दावा है। कलेक्टर ने आपूर्ति निगम के जिला प्रबंधक को हिदायत दी है कि क्रय केंद्रों से धान का उठान प्राथमिकता के आधार पर तत्काल सुनिश्चित किया जाए।

धान खरीद की समीक्षा के दौरान बताया गया कि अब तक जिले में 34 हजार 644 किसानों से 16 लाख 157 क्विंटल धान की खरीद हो चुकी है। इस दौरान कलेक्टर ने जिला प्रबंधक नागरिक आपूर्ति निगम को हिदायत दी कि खरीदे गए धान का तत्काल उठान कराकर सुरक्षित स्थान पर पहुंचा दिया जाए। रोजाना कम से कम तीन सौ ट्रक धान का परिवहन अनिवार्य है। खरीदे गए धान का भुगतान भी किसानों को सुनिश्चित किया जाए। कलेक्टर ने कहा कि धान की खरीद 15 जनवरी तक की जाएगी। किसानों को एसएमएस भेजने के बाद खरीद के लिए पर्याप्त समय उपलब्ध रहेगा।

कलेक्टर ने कहा कि धान खरीद के अंतिम दिनों में किसी तरह की गड़बड़ी नहीं होनी चाहिए। किसानों से निर्धारित मात्रा में ही गुणवत्तापूर्ण धान खरीद हो। प्रत्येक शनिवार तथा रविवार को ऑनलाइन धान की खरीद नही होती है। इसलिए सोमवार को खरीदी केंद्रों में किसानों की संख्या अधिक रहती है। जिन खरीदी केंद्रों में अधिक संख्या में किसान पहुंच रहे हैं वहां अतिरिक्त तौल-कांटे तथा मजदूर लगाकर किसानों से धान की खरीद सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने कहा कि हर पंजीकृत किसान से धान का उपार्जन किया जाएगा। सभी क्रय केंद्र में इस तरह की व्यवस्था होनी ही चाहिए कि किसान को धान लेकर रात में रूकना न पड़े।

कलेक्टर ने क्रय केंद्रों पर पेयजल, शौचालय तथा अन्य व्यवस्थाओं के साथ अलाव की भी व्यवस्था करने की हिदायत भी दी। साथ ही सभी खरीदी केंद्रों में पर्याप्त संख्या में बारदाने उपलब्ध कराने का निर्देश दिया ताकि खरीद में किसी तरह की कठिनाई न हो।

उन्होंने महाप्रबंधक जिला सहकारी बैंक को निर्देशित किया कि धान खरीद केंद्र चाकघाट एक तथा चाकघाट दो के बाबत लगातार शिकायतें मिल रही हैं, इन दोनों खरीद केंद्र में तत्काल उचित व्यवस्थाए कराई जाए। खरीदी केंद्र लौर दो में भी पर्ची देने के बाद 38 किसानों से उपार्जन शेष है। सीमावर्ती खरीदी केंद्रों में भी कड़ी निगरानी रखें। पंजीकृत किसानों के अलावा किसी भी व्यक्ति की धान का उपार्जन नही होगा।

कलेक्टर ने जिले के किसानों से अपील की कि पंजीकृत किसान एसएमएस मिलने के बाद ही धान लेकर खरीद केंद्र पहुंचें। खरीद केंद्र में धान खरीदी के लिए किए गए प्रबंधों के अनुरूप धान का उपार्जन करें। धान खरीदी में किसी भी तरह की कठिनाई होने पर उसका तत्काल हल किया जाएगा। कलेक्टर ने बैठक के बीच से ही चाकघाट तथा लौर के खरीदी केंद्र प्रभारियों से मोबाइल फोन पर चर्चा करके खरीदी के संबंध में निर्देश दिए। समीक्षा के दौरान अपर कलेक्टर इला तिवारी भी मौजूद रहीं।

Show More
Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned