scriptRewa resident youth died in Bhopal under suspicious circumstances | रीवा निवासी युवक की भोपाल में संदिग्ध मौत | Patrika News

रीवा निवासी युवक की भोपाल में संदिग्ध मौत

-पुलिस जांच में जुटी

रीवा

Published: December 02, 2021 06:51:05 pm

रीवा. जिले के मऊगंज निवासी युवक की भोपाल में संदिग्ध परिस्थियों में मौत हो गई। उनका शव उनके ही कमरे में लटका मिला। शव के पास एक सुसाइड नोट भी मिला है। ऐसे में पुलिस इसे आत्महत्या का मामला मान कर जांच में जुट गई है।
CRIME (symbolic photo)
CRIME (symbolic photo)
घटना के संबंध में बताया जा रहा है कि मऊगंज निवासी युवक संजय गुप्ता पेशे से डॉक्टर थे। एमडी की डिग्री हासिल करने के बाद वह भोपाल के पंडित खुशीलाल आयुर्वेदिक कॉलेज से आयुर्वेद चिकित्सा में रिसर्च कर रहे थे। वह भोपाल के चूना भट्‌टी क्षेत्र स्थित निर्मल कल्पना सोसायटी में डॉ दीपक सोनी के साथ एक ही कमरे में रहते थे। मृत डॉ गुप्ता के रूम पार्टनर डॉ सोनी ने पुलिस को बताया है कि उनकी पोस्टिंग सतपुड़ा भवन में है। बुधवार सुबह करीब 10.30 बजे वह ड्यूटी पर चले गए। कमरे में अकेले डॉ गुप्ता थे। शाम करीब सात बजे वह ड्यूटी से लौटे तो दरवाजा अंदर से बंद मिला। काफी देर तक खटखटाने और आवाज देने के बाद भी न कोई जवाब मिला, न ही दरवाजा खुला तो उन्होंने डॉ गुप्ता के मोबाइल पर कॉल किया, लेकिन कॉल रिसीव नही हुई। इस पर उन्हें संदेह हुआ तो उन्होंने खिड़की की कांच तोड़कर अंदर झांका तो पाया कि डॉ गुप्ता फांसी पर लटके मिले। ऐसे में उन्होंने फौरन पुलिस को घटना की जानकारी दी। पुलिस मौके पर पहुंची और दरवाजा तोड़ कर अंदर पहुंची और डॉ गुप्ता को नीचे उतारा। लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी, डॉ गुप्त दम तोड़ चुके थे।
पुलिस को कमरे से एक सुसाइड नोट मिला है, जिसमें लिखा है, "मैं अपने जीवन को बैलेंस नहीं कर पा रहा हूं। मम्मी मुझे माफ करना, सॉरी-सॉरी..। मौत की जवाबदारी मेरी है और किसी की नहीं है। मैं अपनी मां को बहुत मिस कर रहा हूं।" ऐसी स्थित में पुलिस इसे सुसाइड मान रही है। लेकिन संदेह का कारण डॉ गुप्ता के मुख पर पट्‌टी और पैरों में रस्सी बंधा होना है।
इस मामले में पुलिस का कहना है कि 2016 में डॉ गुप्ता की शादी हुई थी। लेकिन महीने भर बाद ही पत्नी उन्हें छोड़ कर चली गई। पुलिस के अनुसार इसके करीब आठ महीने बाद डॉ गुप्ता की मां का निधन हो गया। फिर 2019 में उनका पत्नी से तलाक भी हो गया। डॉ गुप्ता के पिता वन विभाग में कार्यरत रहे। वह रीवा के मऊगंज में ही रहते हैं। मां के निधन और पत्नी के से तलाक के चलते वह काफी तनाव में रहने लगे थें।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

भाजपा की दर्जनभर सीटें पुत्र मोह-पत्नी मोह में फंसीं, पार्टी के बड़े नेताओं को सूझ नहीं रह कोई रास्ताविराट कोहली ने छोड़ी टेस्ट टीम की कप्तानी, भावुक मन से बोली ये बातAssembly Election 2022: चुनाव आयोग ने रैली और रोड शो पर लगी रोक आगे बढ़ाई,अब 22 जनवरी तक करना होगा डिजिटल प्रचारभारतीय कार बाजार में इन फीचर के बिना नहीं बिकेगी कोई भी नई गाड़ी, सरकार ने लागू किए नए नियमUP Election 2022 : भाजपा उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी, गोरखपुर से योगी व सिराथू से मौर्या लड़ेंगे चुनावमौसम विभाग का इन 16 जिलों में घने कोहरे और 23 जिलों में शीतलहर का अलर्ट, जबरदस्त गलन से ठिठुरा यूपीBank Holidays in January: जनवरी में आने वाले 15 दिनों में 7 दिन बंद रहेंगे बैंक, देखिए पूरी लिस्टUP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्य
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.