पंजाब में कृषि बिल के विरोध में चल रहे आंदोलन से रेलवे का हो रहा नुकसान

पंजाब की ओर नहीं चलाई जा रही ट्रेनें

By: anuj hazari

Published: 29 Oct 2020, 09:42 AM IST

बीना. पंजाब में चल रहे कृषि बिल कानून के विरोध में लोगों द्वारा आंदोलन किया जा रहा है, जिसके कारण रेलवे व सरकार को भारी नुकसान हो रहा है। आंदोलन के चलते इस रूट पर ट्रेनों को नहीं चलाया जा रहा है और लोगों को भी परेशानी हो रही है। रेलवे सूत्रों के अनुसार मंडल से लेकर रेलवे बोर्ड तक दिल्ली-मुंबई रूट की मुख्य ट्रेनों में से एक पंजाबमेल एक्सप्रेस, झेलम एक्सप्रेस, दादर अमृतसर एक्सप्रेस, मालवा एक्सप्रेस को चलाने की तैयारी पूरी कल ली गई थी। इन ट्रेनों को भी स्पेशल टे्रनों के रूप में चलाया जाना था, लेकिन पंजाब में चल रहे आंदोलन के कारण इस रूट पर ट्रेन चलाने की रिस्क रेलवे नहीं ले रहा है। क्योंकि पंजाब सरकार ने भी ट्रेनें पंजाब से निकालने की अनुमति नहीं दी है और घटना से बचने के लिए रेलवे ने भी अभी इन ट्रेनों को नहीं चलाने का निर्णय लिया है।

हजारों यात्री हो रहे परेशान
अनलॉक होने के बाद मां वैष्णो देवी के दर्शन करने जाना हो या फिर सिख समाज के लिए अमृतसर जाना हो, इन टे्रनों के बंद होने के बाद कोई भी यात्री इस रूट की यात्रा नहीं कर पा रहा है। जबकि रेलवे ने नवरात्रि में मां वैष्णों देवी के दर्शन के लिए जाने वाले यात्रियों का आंकलन करके ही इन ट्रेनों को चलाने का निर्णय लिया था। लेकिन कृषि कानून बिल का आंदोलन जिस तरह से पंजाब में चल रहा है उस हिसाब से अभी और कई दिनों तक इन ट्रेनों को नहीं चलाया जाएगा।

रेलवे को भी हो रहा आर्थिक नुकसान
रेलवे जिन ट्रेनों के चलने से फायदा हो ऐसी चुनिंदा ट्रेनों को चला रही है, जिससे कोरोना काल में रेलवे को आर्थिक मजबूती मिले और ट्रेनों के लिए भी पर्याप्त यात्री मिलें, लेकिन इन मुख्य ट्रेनों के नहीं चलने के कारण रेलवे को आर्थिक नुकसान हो रहा है।

anuj hazari Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned