समर्थन मूल्य पर चना बेचने किसान बिनाई कर तेवड़ा कर रहे अलग, करनी पड़ रही मशक्कत

चना में कुछ दाने तेवड़ा के मिले होने पर कर देते हैं रिजेक्ट

By: sachendra tiwari

Published: 28 May 2020, 09:15 AM IST

बीना. समर्थन मूल्य केन्द्र पर तेवड़ा मिले चना खरीदने से साफ इंकार किया जा रहा है, जिससे किसान परेशान हैं। परेशान किसानों ने अब समर्थन मूल्य पर चना बेचने के लिए बिनाई शुरू कर दी है और तेवड़ा अलग कर उसे बेचा जा रहा है।
बाजार में चना करीब 38 सौ रुपए क्विंटल तक खरीदा जा रहा है, जबकि समर्थन मूल्य पर दाम 4875 रुपए क्विंटल हैं और पंजीकृत किसान समर्थन मूल्य पर ही चना बेचना चाह रहे हैं, लेकिन यहां तेवड़ा मुसीबत बना है। चना में तेवड़ा का एक भी दाना नहीं होना चाहिए तभी वह समर्थन मूल्य पर खरीदा जाएगा, जिससे अब छोटे किसानों ने चनों की बिनाई शुरू कर दी है। तेवड़ा अलग कर वह चना बेचने के लिए पहुंच रहे हैं। बिनाई करने के लिए भी उन्हें रुपए खर्च करने पड़ रहे हैं। बड़े किसान चना की ग्रेडिंग करा रहे हैं, लेकिन उसमें तेवड़ा के दाने में आ जाते हैं। आठ दिन पहले तक समितियों पर खरीदी लगभग शून्य थी, लेकिन जबसे किसान बिनाई करके चना ला रहे हैं बड़ी मात्रा में खरीदी हो चुकी है। 10 जून तक चना की खरीदी केन्द्रों पर की जानी है। 1929 किसानों ने चना बेचने के लिए पंजीयन कराए हैं। गौरतलब है कि किसानों द्वारा लगातार मांग की जा रही है कि 5 प्रतिशत तक तेवड़ा मिले चना की खरीदी समर्थन मूल्य पर की जाए, लेकिन इस संबंध में पहल नहीं की गई है।
मंडी में नहीं आए आदेश
पिछले दिनों एक आदेश जारी हुआ था, जिसमें तेवड़ा मिला चना मंडी में खरीदा जाएगा और उसपर 500 रुपए क्विंटल बोनस दिया जाएगा, लेकिन अभी तक मंडी में ऐसे कोई आदेश नहीं आए हैं। सचिव बीएस तोमर ने बताया कि अभी तक इस संबंध में कोई आदेश नहीं आए हैं और न ही पोर्टल शुरू किया गया है। आदेश आते ही खरीदी शुरू हो जाएगी।
समितियों पर हुई चना की खरीदी
भानगढ़ समिति - 500 क्विंटल
बीना विपणन - 600 क्विंटल
धनोरा समिति - 1200 क्विंटल
बीना इटावा समिति - 1261क्विंटल
मंडीबामोरा समिति- 500 क्विंटल

sachendra tiwari Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned