छेडख़ानी से तंग छात्रा ने स्कूल जाना किया बंद, पापा ने पूछा कारण तो बेटी की बात सुनकर रह गए सन्न...

Rajesh Kumar Pandey

Publish: Jan, 13 2018 04:22:25 (IST)

Sagar, Madhya Pradesh, India
छेडख़ानी से तंग छात्रा ने स्कूल जाना किया बंद, पापा ने पूछा कारण तो बेटी की बात सुनकर रह गए सन्न...

बुंदेलखंड में छात्राएं, नाबालिग और महिलाएं कितनी सुरक्षित हैं

सागर. बुंदेलखंड में छात्राएं, नाबालिग और महिलाएं कितनी सुरक्षित हैं। यह आए दिन इनके साथ हो रहे रेप, छेडख़ाड़ी, अत्याचार के मामलों के सामने आने के बाद स्पष्ट होता है। रोज किसी न किसी जिले में नाबालिग रेप का शिकार हो रही है। पुलिस आरोपियों को गिरफ्तार कर अपनी पीठ तो थपथपा लेती हैं, लेकिन ऐसे अपराध पर अंजाम लगाने में कहीं भी सफल नहीं हो पा रही है। सूबे के मुखिया को भी इस क्षेत्र से काफी लगाव है। गृहमंत्री तो हमारे ही जिले है। फिर भी कानून की ऐसी लचर व्यवस्था है।
सागर गेंगरेप का मामला अभी ठंडा ही नहीं हुआ है कि छतरपुर में एक नाबालिग के साथ उसके ही पिता की दरिंदगी सामने आती है। इसके बाद दमोह में नाबालिग छात्रा से छेडख़ानी और अगले ही दिन टीकमगढ़ में एक नाबालिग से चार युवाओं द्वारा गेंगरेप कर दिया जाता है। मामला तूल न पकड़े इसीलिए पुलिस आरोपी को पकड़कर प्रेस कांफ्रेंस कर देती है। वहीं दूसरे दिन यहां फिर एक नाबालिग से छेडख़ानी का गंभीर मामला सामने आता है। यहां तंग छात्रा स्कूल तक जाना बंद कर देती है।

Gang rape of minors and the students latest hindi news

टीकमगढ़ में स्कूली छात्रा से छेडख़ानी के मामले में बताया गया है कि बीते 3-4 दिनों से एक युवक द्वारा नाबालिग स्कूली छात्रा के साथ छेड़छाड की जा रही थी। जिससे छात्रा मानसिक तनाव में थी और स्कूल भी नहीं जा रही थी। पिता द्वारा जब छात्रा से स्कूल न जाने का कारण पूछा तो डरी सहमी छात्रा ने रोते हुए अपने साथ होने वाली गंदी छेडख़ानी की बात कही। यह सुनकर परिजनों के होश उड़ गए। हर कोई शॉक्ड हो जाता है। पहले तो परिजन नाबालिग से बात को दबाने पर नाराजगी व्यक्त करते है। फिर उसके साथ पुलिस थाने जाकर शिकायत दर्ज कराते है। पुलिस ने मामले में अपराध दर्ज कर लिया है।
सिटी कोतवाली टीआई नवल आर्य ने बताया कि सिविल लाईन स्थित एक प्रतिष्ठित निजी स्कूल की नाबालिग छात्रा के साथ रिहान खान 19 द्वारा कुछ दिनों से स्कूल आने-जाने के दौरान अश्लील हरकतें की जा रही थी। साथ ही छेड़छाड़ की जा रही थी। जिससे छात्रा डरी हुई थी और वह दो-तीन दिन से स्कूल भी नहीं जा रही थी।छात्रा के पिता के द्वारा जब छात्रा से स्कूल न जाने का कारण पूछा तो डरी सहमी छात्रा ने छेडख़ानी की बात कहीं। गुरूवार को छात्रा ने अपनी दिव्यांग मां व नाना के साथ थाने में पहुंचकर मामले की सूचना दर्ज कराई। जिस पर पुलिस ने धारा 354 आईपीसी एवं 7/8 पॉक्सो एक्ट के तहत मामला कायम कर लिया। साथ ही आरोपी को भी तत्काल ही गिरफ्तार कर लिया गया।

Gang rape of minors and the students latest hindi news

दो दिन पहले चार युवकों ने नाबालिग से किया था गेंगरेप
टीकमगढ़ में एक दिन पहले एक नाबालिग के साथ चार युवकों द्वारा गेंगरेप का मामला सामने आया था। गेंगरेप उस वक्त किया गया जब नाबालिग खुले में शौच के लिए गई हुई थी। जिसे देख युवकों ने नाबालिग को पहले बंधक बनाया फिर उसे एक कमरे में ले जाकर बारी-बारी से रेप किया गया। इस मामले के सामने आने के बाद भी टीकमगढ़ में पक्ष, विपक्ष के नेता शांत रहे। वहीं पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर खुद को अलर्ट होने का सर्टिफिकेट दे दिया जाता है। मीडिया में भी मामला पुलिस की वार्ता के बाद ही सामने आता है। मामले में खास बात यह रहती है कि इस नाबालिग के परिजनों का का नाम प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत मिलने वाले घरों में रहता है, लेकिन अब तक मकान नहीं मिल पाने के कारण वह झुग्गी में रहते आ रहे थे और खुले में शौच जाते थे। जिसका ही फायदा आरोपियों द्वारा उठाया जाता है।
एएसपी राकेश खाखा ने बताया 16 वर्षीय किशोरी बुधवार-गुरुवार की दरम्यानी रात 12.30 बजे के लगभग घर से बाहर टॉयलेट के लिए निकली। किशोरी के घर का टॉयलेट घर के बाहर बना हुआ था। घर से बाहर निकली किशोरी को महेन्द्र लोधी, पुष्पेन्द्र राजपूत, रूप राजपूत, मझले काछी ने पकड़ लिया और उसके हाथ पैर बांध कर गांव से दूर एक सुनसान जगह पर बने खाली मकान में ले गए। जहां सभी ने उसके साथ बारी-बारी से दुष्कर्म किया और जान से मारने की धमकी दी। उधर किशोरी के परिजन उसकी तलाश करते यहां वहां भटकते हुए घटनास्थल पर पहुंचे तो उक्त आरोपी युवक वहां से भाग खड़े हुए। इसी दौरान भागते समय महेन्द्र लोधी गिर गया। जिससे उसके सिर में चोट आई है। पीडि़ता के परिजनों ने देर रात मामले की सूचना डॉयल-100 को दी।
डॉयल-100 पुलिस उसे लेकर कोतवाली पहुुंची जहां महिला पुलिस अधिकारी के समक्ष किशोरी ने अपने बयान दर्ज कराए। इस आधार पुलिस ने चारों आरोपियों के विरूद्ध धारा 36 3, 36 6 , 376 डी, 506 , 34 आईपीसी एवं 5/6 पॉक्सो एक्ट के तहत मामला कायम कर लिया। सभी आरोपी बस के माध्यम से फरार होने की कोशिश कर रहे थे।
***************************

Gang rape of minors and the students latest hindi news

दमोह में छेडख़ाड़ी का विरोध करने पर छात्रा को पीटा
दमोह में मंगलवार की शाम को स्कूल से लौटते समय एक नाबालिग छात्रा के साथ छेड़छाड़ करते हुए उसकी बेदम पिटाई कर दी गई। इस मामले का दुखद पहलू है कि कुम्हारी थाना पुलिस ने मामला दर्ज नहीं करते हुए आरोपियों का बचाव किया। जिसके बाद बुधवार को एसपी के समक्ष पीडि़ता व परिजन पहुंचे तब जाकर शाम को जिला अस्पताल में मुलाहजा कराने के बाद कोतवाली में मामला दर्ज हो सका।
मामले में बताया जाता है कि कुम्हारी थानांतर्गत एक गांव में कक्षा सातवीं की स्कूली छात्रा मंगलवार को अपने घर जा रही थी। तभी सागर जिले के रहली थाना के छापरी गांव निवासी राम सींग कुर्मी जो सागर की शराब कंपनी में काम करता है, उसने नाबालिग छात्रा के साथ पहले छेड़छाड़ की फिर उसकी बेदम पिटाई कर दी। जब लहुलुहान छात्रा को लेकर कुम्हारी थाने पहुंचे तो वहां थाना प्रभारी एके द्विवेदी व मिश्रा ने परिजनों के साथ मारपीट की, व बयानों में यह जबरदस्ती यह लिखवाया गया कि छात्रा को गिरने के कारण चोटें आई हैं। इसके बाद परिजन बुधवार को दमोह एसपी विवेक अग्रवाल के समक्ष पहुंचे। हटा दौरे के बाद जब एसपी कार्यालय पहुंचे तो उन्होंने मामले की गंभीरता भांपते हुए जिला अस्पताल भेजकर मुलाहजा कराया। इसके बाद कोतवाली पुलिस में मामला दर्ज कराया गया है। जिसमें रामसींग कुर्मी के विरुद्ध धारा 354 ए, 323, 294, 506 बी, 7/8 पास्को एक्ट के तहत मामला शून्य पर कायम कर डायरी पटेरा थाना भिजवाई जाएगी।
*********************

Gang rape of minors and the students latest hindi news

यहां पिता ने कर दिया था रिश्तों को शर्मशार, मां ने दी थी इजाजत
छतरपुर. जिस माता-पिता की गोद में खेलकर बच्चे बड़े होते हैं। जिन मां-बाप पर बच्चों को सबसे ज्यादा भरोसा होता है। हर दुख, दर्द में मां-बाप से बच्चों को सहारा होता हैं। जिन मां-बाप के अनेक ऐसे किस्से दुनिया में सुनते मिलते हैं, जिससे संतानें गौरवान्वित हो उठती हैं। मां-बाप का वह रिश्ता जिसे हर कोई नमन करता है। ऐसे रिश्ते को कलंकित करने वाला एक मामला मप्र के छतरपुर जिले में सामने आया है। जो इतना भयावह है कि जिसे भी इसकी जानकारी लगती है आंख से आंसू गिरा देता है। वह रो देता है। इस मामले के सामने आने के बाद रिश्ते कलंकित करने वाले आरोपी दरिंदे माता-पिता को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

दिल को रुदन कर देने और पूज्य रिश्तों को कलंकित कर देने वाला यह मामला छतरपुर जिले के ओरछा रोड थाना क्षेत्र में सामने आया है। जहां एक दरिंदा, जिसे पिता नहीं कहना चाहिए, अपनी ही मासूम बेटी का लंबे समय से यौन शोषण कर रहा था। 12 साल की उसकी बेटी अपने पिता के इस गंदे काम से 5 साल से पीडि़त थी। यानि करीब 7 साल की छोटी उम्र से ही यह हवसी दरिंदा अपनी बेटी के साथ अश्लीलता करने लगा था।

डर के चलते छिपाती रही सबकुछ

बेटी ने पहले तो डर के चलते किसी से कुछ नहीं कहा। बाद में जब बेटी ने अपनी मां से पिता की शिकायत की तो यहां भी मासूम बेटी को बचाने की बचाय अपने पति का साथ दिया गया। मां इतनी भी निर्दयी हो गई कि अपनी ही बेटी का यौन शोषण अपने पति से कराती रही। हद तो तब हो गई तब दरिंदा पिता ज्यादती के उतारू हो जाता है और बेटी जान बचाकर अपनी चाची के घर भाग जाती है। यहां से शुरू होता है दरिंदों का पर्दाफाश।
शहर के ओरछा रोड थाना क्षेत्र अंतर्गत एक गांव में एक 12 वर्षीय बालिका के साथ उसके ही पिता द्वारा ज्यादती किए जाने का मामला सामने आया है। पीडि़ता ने इसकी जानकारी डायल-100 को कॉल कर दी। मामला सामने आने के बाद पुलिस उसके घर पहुंची। जहां माता-पिता गायब मिले। इस दौरान पुलिस ने बालिका से पूरे घटनाक्रम के बारे में जानकारी हासिल की। इसके बाद पुलिस ने दोबारा उसके घर पहुंच कर पीडि़ता के माता-पिता को गिरफ्तार कर लिया है। कलयुगी पिता द्वारा ही अपनी ही पुत्री के साथ इस तरह की करतूत किए जाने से हर कोई सन्न है।


जानकारी के अनुसार शहर के ओरछा रोड थाना क्षेत्र अंतर्गत एक गांव में एक 12 वर्षीय बालिका के साथ उसके ही पिता द्वारा ज्यादती की गई। पीडि़त ने इसकी जानकारी डायल-100 को कॉल कर दी थी और अपने साथ हो रही आपबीती को बताया। जिस पर पुलिस ने गंभीरता दिखाई। इसके बाद पुलिस उसके घर पहुंची तो तब पुलिस के आने की सूचना मिलते ही माता-पिता दोनों फरार हो गए। इस दौरान पुलिस ने पीडि़त से घटना की जानकारी ली। तब पीडि़त ने बताया कि उसके पिता पांच साल से उसका उत्पीडऩ कर रहा है। अभी कुछ दिन पहले भी उसके साथ ज्यादती की गई। इस काम में उसकी मां भी पिता का सहयोग करती है। तब पुलिस आरोपी माता-पिता की तलाश में जुट गई। पुलिस को जानकारी मिली कि पीडि़त के माता-पिता अपने घर में हैं। तब पुलिस ने दबिश देकर गिरफ्तार कर लिया। इस संबंध में ओरछा रोड थाना प्रभारी संधीर चौधरी का कहना है कि डायल-100 पर पीडि़ता ने कॉल किया था। मामल संज्ञान में आते ही पीडि़त के घर के घर पर दबिश दी गई, लेकिन माता-पिता नहीं मिले। इसके बाद फिर से घर में दबिश दी गई तब पीडि़त के माता-पिता को गिरफ्तार कर लिया गया।

पीडि़ता ने बताई यह बात,रो-रो कर हाल खराब
मामले में 12 साल की मासूम ने अपनी चाची को बताया कि पापा उसके साथ जबरदस्ती कर रहे थे। जो उससे बर्दाश्त नहीं हो रहा था, इसीलिए वह भागकर यहां आ गई। रो-रोकर उसका बुरा हाल था। उसने बताया कि पापा लंबे समय से उसके साथ अश्लील हरकतें करते रहते थे। जिससे उसे काफी पीड़ा होती थी। वह रोती रहती थी, लेकिन किसी को बताती नहीं थी। एक बार उसने अपनी मां से यह बात बताने का साहस किया। मां को सब बताया, लेकिन मां ने उसे ही डांट दिया। वह कहती थी पापा जो कर रहे है करने दो। मां की यह बात सुनकर वह और डर गई थी। इधर पापा लगातार गंदे काम करने लगे थे। जब अति हो गई तब वह दरिंदों के चुंगल से छूटकर चाची के घर आ गई और अपनी आपबीति सुना दी। यह सुनकर तत्काल की पुलिस बुलाई गई।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned