सोना पहुंचा 57 हजार प्रति दस ग्राम, चांदी में एक महीने में आया प्रतिकिलो 37 हजार का उछाल

सराफा दुकानोंं से लोगों ने बनाई दूरी, व्यापारियों की बढ़ी चिंता

By: anuj hazari

Published: 08 Aug 2020, 09:00 AM IST

बीना. लॉकडाउन लगने के साथ ही सोने और चांदी के दामों में भारी उछाल आया है, जिसके कारण लोगों ने सराफा बाजार से दूरी बना ली है। यदि हम पिछले पांच महीनों की बात करें तो सोना 40 हजार प्रति दस ग्राम से बढ़कर अब 57 हजार प्रति दस ग्राम हो गया है। दिनों दिन बढ़ रहे सोने के दाम के कारण सराफा व्यापारियों की चिंता भी बढ़ गई है। सोने का सामान खरीदने का मन बनाने वाले लोग सराफा दुकानों पर सामान खरीदने के लिए नहीं जा रहे हैं। वहीं पिछले एक महीने में चांदी के दाम प्रति किलोग्राम में 37 हजार का उछाल आया है, जिससे व्यापारियों के साथ आम जनता भी परेशान है। हर महीने में सोने के दाम में तेजी आई है। पिछले पांच महीने के अंदर सोने की दरों में रिकॉर्ड बढ़ोत्तरी हुई है, जिसका असर मार्केट पर भी दिखाई देने लगा है। महंगाई के कारण लोग सोने के दाम सुनकर ही ज्वेलरी नहीं खरीद रहे हैं। सराफा दुकानों का हाल यह है कि व्यापारी सुबह से शाम तक ग्राहक आने का इंतजार करते नजर आ रहे हैं। गौरतलब है कि 24 कैरेट सोने की कीमत 57 हजार है तो वहीं 22 कैरेट सोने की कीमत 55 हजार 200 व 18 कैरेट सोने के दाम 47 हजार 150 रुपए प्रति दस ग्राम है। अभी आने वाले दिनों में और ज्यादा कीमत में बृद्धि होने की आशंका है, जबकि अभी शादी का सीजन भी नहीं है।
सोने की बजाए चांदी से थी आशा
कुछ दिनों बाद संतान सप्तमी आने वाली है और सराफा व्यापारियों को सोने के दाम बढऩे पर चांदी से कुछ व्यापार होने की उम्मीद लगाए थी, लेकिन एक माह में जो कीमत में बढ़ोत्तरी चांदी में हुई है उससे व्यापार अच्छा होने की उम्मीद नहीं है। संतान सप्तमी में चांदी की चूड़ी महिलाएं खरीदती हैं, लेकिन जो दम अब बढ़ रहे है उससे ग्राहकी कम रहेगी।
ग्राहक सोच समझकर कर रहे खरीदी
लगातार बढ़ रहे सोने के रेट से व्यापार प्रभावित है, पहले की अपेक्षा ग्राहक बहुत सोच समझकर खरीदारी कर रहे हैं। पिछले महीनों की अपेक्षा इन दिनों दस प्रतिशत ही कारोबार चल रहा है, अगर हालात इसी प्रकार रहे तो दुकान का खर्चा निकलना भी मुश्किल है।
अभिषेक सोनी, सराफा व्यापारी
लॉकडाउन के बाद बिगड़ी स्थिति
लॉकडाउन के बाद से ही सोने-चांदी के दाम बढ़े हंै। पहले लॉकडाउन से बाजार बंद रहा। शादी का सीजन भी खाली निकल गया। अभी इक्का दुक्का लोग ही आ रहे है। सराफा व्यापार की स्थिति बहुत खराब है।
समकित जैन, सराफा व्यापारी

anuj hazari Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned