होम आइसोलेशन का उल्लंघन करने वाले दो युवकों को स्वास्थ्य विभाग ने थमाया नोटिस

-दुबई से लौटे युवकों के बाहर घूमने की सूचना पर स्वास्थ्य विभाग ने दी चेतावनी, निर्देश न मानने पर आइसोलेशन वार्ड में किए जा सकते हैं भर्ती

कोरोना अलर्ट- स्वास्थ्य विभाग की मुश्तैदी

By: आकाश तिवारी

Published: 21 Mar 2020, 11:04 AM IST

सागर. शहर के किष्किन्धा कॉलोनी में रहने वाले 2 लोगों को उनके ही घर पर 13 मार्च से होम आइसोलेशन में रखा गया है। दोनों को घर पर ही रहने की निर्देश दिए गए हैं, लेकिन इनके द्वारा निर्देशों का पालन ना करने का मामला सामने आया है। पड़ोसियों द्वारा की गई शिकायत, जिसमें युवकों द्वारा घर से बाहर निकल कर घूमना बताया गया है। इस पर स्वास्थ्य विभाग ने लगातार दो दिनों तक समझाइश दी, लेकिन जब यह लोग नहीं माने तो स्वास्थ्य विभाग ने इनके घरों पर नोटिस चस्पा कर दिए हैं। यदि इसके बाद यह लोग घर के बाहर नजर आते हैं या फिर इस तरह की शिकायत मिलती है, तो सीएमएचओ मजिस्ट्रियल पावर का उपयोग कर इन्हें आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराने के निर्देश जारी कर सकते हैं।

जानकारी के अनुसार दुबई से 13 मार्च को सागर के किष्किन्ंधा कॉलोनी निवासी दो लोग सागर आए थे। इसकी सूचना सरकार द्वारा जिला प्रशासन को दी गई थी। हालांकि एयरपोर्ट पर दोनों का स्वास्थ्य परीक्षण हो गया था। जिसमें दोनों को कोरोना वायरस ना होने की पुष्टि की गई थी। एतिहात के तौर पर स्वास्थ्य विभाग की टीम ने इनका हेल्थ परीक्षण किया और घर पर ही होम आइसोलेशन वार्ड बना दिया। होम आइसोलेशन के उल्लंघन का यह पहला मामला है।
-30 विदेशी दौरे से आ चुके सागर

सागर में 20 दिनों में 30 लोग विदेश यात्रा कर लौटे हैं। इनमें से 18 सागर के रहने वाले थे। इन सभी को होम आइसोलेशन में में घर पर ही रखा गया है। हालांकि कोरोना के कोई भी लक्षण इन लोगों में नहीं है। थाईलैंडए मलेशियाए दुबईए जर्मनी जैसे देशों से यह लोग सागर लौटे हैं। इन सभी पर स्वास्थ विभाग कड़ी नजर रखे हुए हैं। सीएमएचओ डॉ एमएस सागर ने इन पर नजर रखने वाली टीम को विशेष निर्देश देते हुए सतत निगरानी और समय पर रिपोर्ट देने को कहा है।
-खतरा कुछ नहीं है, लेकिन नियमों का पालन करना होगा

नोडल अधिकारी डॉ. एमएल जैन ने बताया कि दोनों युवकों में कोरोना के कोई लक्षण नहीं है। सर्दी-खांसी की भी कोई शिकायत नहीं है। दोनों से किसी भी प्रकार का खतरा नहीं है, लेकिन २८ दिनों तक इन्हें घर पर रहना है। गाइड लाइन का पालन करना जरूरी है, लेकिन पड़ोसियों द्वारा इनके बाहर घूमने की शिकायतें की जा रही थीं। दोनों को समझाइश दी गई है और नोटिस भी इनके मकान में चस्पा कर दिय गया है। इसके बाद भी यदि यह नहीं मानते हैं तो सीएमएचओ के निर्देश के तहत इन्हें आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया जा सकता है।

आकाश तिवारी Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned