कैसे बन पाएगी स्मार्ट सिटी

कैसे बन पाएगी स्मार्ट सिटी

Abhilash Kumar Tiwari | Publish: Jul, 20 2019 04:28:04 PM (IST) Sagar, Sagar, Madhya Pradesh, India

इंजीनियर फोरम ने डॉ. हरिसिंह गौर पार्क के निर्माण पर स्मार्ट सिटी के अफसरों पर साधा निशाना, मधुकरशाह पार्क की बाउंड्रीवाल बनाए जाने को भी बताया गलत, बस स्टैंड पर ज्यादा यातायात दवाब होने के बाद भी सड़क की चौड़ाई की कर दी अनदेखी

सागर. स्मार्ट सिटी योजना के तहत सागर स्मार्ट सिटी लिमिटेड के अफसर जोखिम उठाने में डर रहे हैं। दूसरे शब्दों में यह भी कहा जा सकता है कि अफसरों ने शहर की भूगौलिक स्थिति को सही तरीके से समझा ही नहीं है कि किस क्षेत्र में क्या समस्याएं हैं और उसको कैसे दूर किया जा सकता है। यह आरोप एक बार फिर से शहर के इंजीनियर फोरम ने लगाए हैं। इंजीनियर फोरम के अध्यक्ष इंजी. राजेश सोनी का आरोप है कि डॉ. हरिसिंह गौर पार्क को लेकर बहुत ही घटिया प्लानिंग की गई है। गल्र्स डिग्री कॉलेज के सामने यातायात का दबाव ज्यादा है। बस स्टैंड भी पास में है फिर भी मार्ग के चौड़ीकरण को लेकर कोई प्लानिंग नहीं की गई है। इतना ही नहीं कॉलेज की दीवार के सहारे रैलिंग लगाकर मार्ग की चौड़ाई और भी कम कर दी गई है। स्मार्ट सिटी के अफसर कार्रवाई का जोखिम नहीं उठा पा रहे हैं और जो जहां पर है उसे वहीं रंगरोगन करके स्मार्ट नाम देना चाह रहे हैं, जो कि गलत है।

इंजीनियर फोरम ने ये बताईं विसंगतियां
- बस स्टैंड गल्र्स डिग्री के सामने से डॉ. हरिसिंह गौर पार्क, निगम स्टेडियम, रविंद्र भवन समेत पूरे क्षेत्र का फोरम के इंजीनियर्स ने कुछ महीने पहले सर्वे किया था। इस सर्वे में पार्क को स्टेडियम की दीवार तक बनाने की डिजाइन दी थी जबकि कॉलेज के सामने करीब 10 से 15 फीट तक सड़क को और चौड़ा करने का निर्णय लिया था। स्टेडियम में पार्क के अंदर से ही एंट्री देने का प्लान तैयार किया था जो बिलकुल ही अलग होता। इसके साथ ही गल्र्स कॉलेज के सामने करीब 40 से 50 फीट चौड़ी सड़क हो जाती लेकिन स्मार्ट सिटी के अफसरों ने जहां पर पार्क है उसी के रंगरोगन करके व्यवस्था में कोई परिवर्तन नहीं किया, जो अफसरों की अदूरदर्शिता की निशानी है।

 

- गोपालगंज में स्थित मधुकरशाह पार्क को लेकर भी लापरवाही करने का आरोप लगाया गया है। अध्यक्ष सोनी का कहना है कि बकौली चौराहा से आइजी बंगला तक स्मार्ट रोड बनाई जानी है। जब स्मार्ट रोड बनाई जाएगी तो गोपालगंज पुलिस थाना के सामने मार्ग चौड़ा भी किया जाएगा क्योंकि वर्तमान में यहां पर जगह की कमी है। ऐसे में यहां पर पार्क की बाउंड्रीवाल तोडऩी होगी। ऐसे में सवाल यह उठता है कि बिना प्लानिंग के पार्क की बाउंड्रीवाल क्यों बनाई गई।

- तिली तिराहा से सिविल लाइन चौराहा और सिविल लाइन चौराहा से पीली कोठी होते हुए कटरा तक स्मार्ट रोड बनाई जानी है लेकिन स्मार्ट सिटी के अफसरों ने मार्ग पर अभी से कई जगहों पर कैमरे और सिगनल के पोल खड़े करवा दिए हैं। जब ये मार्ग बनेगा तो फिर से इनको शिफ्ट करना पड़ेगा, जिससे पैसों की बर्वादी होगी।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned