प्रेक्षक ने पूछा अधिकारी, कर्मचारियों से किसका क्या काम है बताएं

प्रेक्षक ने पूछा अधिकारी, कर्मचारियों से किसका क्या काम है बताएं

Anuj Hazari | Publish: Nov, 11 2018 09:00:00 AM (IST) Bina, Sagar, Madhya Pradesh, India

मतदान केन्द्रों का किया निरीक्षण

बीना. चुनाव आयोग की ओर से मतदान केन्द्रों की जांच सहित अन्य चुनाव संबंधी कार्यों की जांच करने के लिए प्रेक्षक भूपिन्दर सिंह ने शहर व ग्रामीण क्षेत्रों में मतदान केन्द्रों की जांच की। शनिवार दोपहर करीब 12 उत्कृष्ट स्कूल स्थित मतदान केन्द्रों की जांच करने के लिए पहुंचे, जहां पहुंचते ही उन्होंने अधिकारियों से जानकारी ली। उन्होंने वहां उपस्थित तहसीलदार प्रशांत अग्रवाल से कहा कि मतदान केन्द्र तक पहुंचने के लिए कहां-कहां से प्रवेश गेट दिए गए हैं, जहां से मतदाता आसानी से पहुंच सके। इसके बाद तहसीलदार स्पष्ट जवाब नहीं दे पाए। उन्होंने प्रेक्षक से कहा कि अभी ज्वाइन करे हुए कुछ ही दिन हुए हैं इसलिए केवल एक बार ही मतदान केन्द्रों का जायजा लिया है। एक नंबर स्कूल में छह मतदान केन्द्र होने के कारण वहां बेरीकेट्स लगाने के लिए कहा गया है। उन्होंने आंगनबाड़ी कार्यकर्ता से पूछा कि वह बताएं कि दिव्यांग मतदाताओं के लिए मतदान कराने की क्या व्यवस्था की गई है, जिसमें ब्लाइंड मतदाता कैसे मतदान करेंगे तो आंगनबाड़ी कार्यकर्ता ने बताया कि वार्ड मेें एक भी ब्लाइंड मतदाता नहीं है। इसके बाद प्रेक्षकने शहर के अन्य मतदान केन्द्र के अलावा रामनगर गांव पहुंचे जहां पर उन्होंने चुनाव की तैयारियों का जायजा लिया। इसके बाद वह अंतर्राजीय चेक पोस्ट, पीरघाट, भरछा चेक पोस्ट की व्यवस्थाएं देखीं। साथ ही ढांड़, खिमलासा हाइ स्कूल में बने मतदान केन्द्र भी देखे।
तहसील कार्यालय में ली बैठक
प्रेक्षक ने दोपहर दो बजे से तहसील कार्यालय में एफएसटी, बीएसटी, फ्लाइंग स्कावाइड, सेक्टर प्रभारियों की बैठक ली। उन्होंने सभी को जिम्मेदारी से काम करने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि कोई भी ऐसी गतिविधि विधानसभा में न होने दी जाए जिससे कि चुनाव प्रभावित हों। उन्होंने सभी अधिकारियों से सतर्कता से काम करने के लिए कहा। बैठक में एसडीएम डीपी द्विवेदी, एसडीओपी शिवेन्द्र वघेल, टीआई अनिल मौर्य, नायब तहसीलदार अंबर पंथी, सीएमओ ज्योति सिंह, सीईओ सुरेन्द्र साहू, बीआरसी पीएस राय, आरआई प्रेमप्रकाश गोस्वामी सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned