थाने से कुछ देर में बन जाता है दूसरे राज्यों के लोगों का पुलिस वैरीफिकेशन

थाने से कुछ देर में बन जाता है दूसरे राज्यों के लोगों का पुलिस वैरीफिकेशन

sachendra tiwari | Publish: Sep, 04 2018 11:00:00 AM (IST) Sagar, Madhya Pradesh, India

रिफाइनरी में काम करने के लिए बन रहे हैं प्रमाण-पत्र

बीना. रिफाइनरी में शट डाउन चल रहा है जिसके चलते दूसरे जिले, दूसरे राज्यों के लोग यहां काम करने के लिए आए हैं। यहां काम करने के लिए पुलिस वैरीफिकेशन का होना जरुरी है और आगासौद थाने में ही प्रमाण-पत्र बना दिया जाता है। गौरतलब है कि पुलिस वैरीफिकेशन बनाते समय लोगों के थानों में दर्ज अपराध देखे जाते हैं और इसके बाद वैरीफिकेशन किया जाता है। जिससे किसी अपराधी को इसका लाभ न मिल सके। रिफाइनरी में इन दिनों काम करने के लिए करीब 10 हजार लोग आए हुए हैं जो प्रदेश के बाहर के भी हैं और इन लोगों को भी थाने से कुछ मिनटों में ही पुलिस वैरीफिकेशन बनाकर दे दिया जाता है। जबकि यदि दूसरे राज्यों के थानों से जानकारी मंगाई जाए तो कुछ दिनों का समय लगता है। इस प्रकार की लापरवाही के कारण अपराधियों का भी पुलिस वैरीफिकेशन बनाया जा सकता है, जिससे यह दूसरी जगह भी घटनाओं को अंजाम दे सकते हैं।
पहले एसपी ऑफिस से होता था वैरीफिकेशन
पहले पुलिस वैरीफिकेशन के लिए एसपी ऑफिस में आवेदन देना पड़ता था, इसके बाद संबंधित थाने से जानकारी लेने के बाद वैरीफिकेशन बनाकर दिया जाता था और इसमें सही वैरीफिकेशन किया जाता था, लेकिन अब थानों से ही यह काम किया जा रहा है।

शहर में भी नहीं किया जा रहा वेरिफिकेशन

शहर में बाहर से आकर रह रहे लोगों का भी वेरिफिकेशन पुलिस नहीं कर रही है। जबकि इस संबंध में कई बार लोगों ने पुलिस से भी मांग की है। क्योंकि बाहर से आकर रह रहे लोगों का पुलिस के पास कोई डाटा नहीं है। जो घटनाआें को अंजाम देने से नहीं चूकते हैं।
ऑनलाइन मंगाते हैं जानकारी
संबंधित लोगों की जानकारी ऑनलाइन मंगा ली जाती है और थाने से ही पुलिस वैरीफिकेशन बना दिया जाता है। अब एसपी कार्यालय जाने की जरुरत नहीं रहती है।
रक्षपाल सिंह यादव, एसडीओपी, बीना

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned