जब फर्श पर गिरी फसल को कचरा कहने पर भड़के किसान

- जैसीनगर में तुषार से बर्बाद फसल का सर्वे कराकर आर्थिक सहायता को आए थे किसान
- एक सप्ताह में तीसरी बार लेकर आए किसानों से नाराज हुए नायब तहसीलदार

By: Hitendra Sharma

Published: 09 Feb 2021, 09:15 AM IST

सागर. तुषार के कारण बर्बाद हुई फसल का सर्वे कराकर आर्थिक मदद किए जाने की मांग को लेकर विधानसभा क्षेत्र सुरखी के किसानों ने 1 हफ्ते के भीतर आज जैसीनगर तहसील में तीसरा ज्ञापन दिया। हाथों में फसल लेकर प्रदर्शन करते वक्त किसानों के हाथों से गेहूं की फसल के कुछ बालियां गिर जाने के कारण नायब तहसीलदार नाराज होकर किसानों से कहने लगे कि कचरा हटाओ यहां से। नायब तहसीलदार की बात सुनकर किसान भडक गए। किसानों का कहना था यह उनकी फसल है कोई कचरा नहीं। हालांकि बाद में किसानों ने फर्श पर बिखरी बालियों को समेट लिया।

यहां के किसान हैं अधिक परेशान
जैसीनगर तहसील क्षेत्र के बेरखेड़ी, मेडकी, चौका केसलोन जोतपुर गांव के बड़ी संख्या में किसान तहसील कार्यालय अपनी खराब हुई। प्रशासनिक स्तर पर अब तक फसल का सर्वे न होने के कारण किसान फसल को हाथ में लेकर पहुंचे थे। उनका कहना था कि अधिकारी फसल देखकर स्वयं अंदाजा लगा लें कि सर्वे की जरूरत है अथवा नहीं।

 

इस मौके पर उन्होंने तहसीलदार को ज्ञापन सौंपकर बताया कि तुषार की वजह से उनकी चना, मसूर और गेहूं की फसल खराब हो गई है। खराब हुई फसलों का सर्वे कराकर उचित आर्थिक सहायता देने जाने की मांग की। इस मामले में जैसीनगर नायब तहसीलदार एलपी अहिरवार का कहना है कि किसानों द्वारा दिए गए ज्ञापन से वरिष्ठ अधिकरियो को अवगत करा दिया गया है जो भी निर्देश आएंगे कार्यवाही की जायेगी।

Show More
Hitendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned