script मोबाइल टावरों में डीजल के टेंडर का लालच देकर लखनऊ के कारोबारी से 59 लाख की ठगी, चार अधिकारियों पर FIR | Lucknow businessman lodged FIR against Delhi company in Saharanpur | Patrika News

मोबाइल टावरों में डीजल के टेंडर का लालच देकर लखनऊ के कारोबारी से 59 लाख की ठगी, चार अधिकारियों पर FIR

locationसहारनपुरPublished: Nov 25, 2023 10:54:52 am

Submitted by:

Shivmani Tyagi

कारोबारी को मोटे मुनाफे का लालच देकर अलग-अलग मोबाइल टावरों के जनेरेटर में डीजल भरने का टेंडर दिया गया। आरोपों के अनुसार 59 लाख रुपये हड़प लिए।

saharanpur_crime.jpg
प्रतीकात्मक फोटो
अगर आपको भी कोई कंपनी मोटा मुनाफा बताकर सरकारी या प्राइवेट टेंडर देने की बात कहे तो सावधान रहिएगा। सहारनपुर के मोबाइल टावरों में डीजल भरने का टेंडर देकर दिल्ली की एक कंपनी ने लखनऊ के व्यापारी से 59 लाख रुपये की ठगी कर ली। इतनी रकम गवाने के बाद जब कुछ भी हाथ नहीं लगा तो अब व्यापारी पुलिस थानों के चक्कर लगा रहे हैं।
ये है पूरा मामला
लखनऊ के रहने वाले कारोबारी लल्लन कुमार के अनुसार दिल्ली की एक कंपनी फ्रंटलाइन बिजनेस सोल्यूशन प्राइवेट लिमिटेड ने उनसे 59 लाख रुपये हड़प लिए। कारोबारी की शिकायत पर अब पुलिस ने कंपनी के चार अधिकारियों के खिलाफ केस FIR दर्ज की है। इनमें से एक अधिकारी अमेरिका के रहने वाले भी बताए जा रहे हैं।
कोतवाली सदर बाजार में दर्ज FIR के अनुसार लखनऊ के विकल्प खंड के गोमतीनगर क्षेत्र निवासी लल्लन कुमार ने फ्रंटलाइन बिजनेस सोल्यूशन प्राइवेट लिमिटेड नाम की कंपनी के सीनियर अधिकारी विशाल, संजय सिंहा, पुस्पेश सिंह और जनबास्को ने उन्हे बताया कि यूपी के सहारनपुर में लगे सभी टेलीकाम कंपनियों के टॉवरों में डीजल भरने का टेंडर है। 17 नवंबर 2016 से लेकर 30 अप्रैल 2017 तक इन जनरेटरों में डीजल डलना था। इसके लिए टेंडर उन्हे दिया गया। कारोबारी के अनुसार उन्हे 59 लाख रुपये के डीजल का पैसा दिया ही नहीं गया।
कारोबारी के अनुसार वो लंबे समय से पुलिस के चक्कर लगा रहे थे लेकिन उनकी FIR दर्ज नहीं हो रही थी। अब पुलिस ने उनका मामला दर्ज कर लिया है। कोतवाली प्रभारी प्रवेश सिंह का कहना है कि FIR में कंपनी के चार अधिकारियों के नाम दिए गए हैं। इनमें एक अधिकारी अमेरिका का रहने वाला भी बताया जा रहा है। पूरे मामले की जांच की जा रही है।

ट्रेंडिंग वीडियो