कॅरियर गाइडेंस: ऑर्ट में भी हैं अपार अपॉच्युर्निटी, असमंजस में नहीं रहे युवा

अच्छी जॉब के लिए यह अच्छा विकल्प

By: suresh mishra

Published: 01 Jul 2019, 05:23 PM IST

सतना। ऑर्ट में अपार अपॉच्र्युनिटीज हैं। स्टूडेंट्स इस सब्जेक्ट से ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन कर कॅरियर संवार सकते हैं। यदि आप कॉम्पिटीशन की तैयारी करने की सोच रहे तो यह सोने पर सुहागा है। विगत वर्षों की अपेक्षा इस वर्ष छात्रों का रुझान भी ऑर्ट की ओर बढ़ा है। यही कारण है कि यूजी पहले वर्ष की सूची में सबसे ज्यादा स्टूडेंट्स ने बीए के लिए आवेदन किया है। इस कोर्स की लगभग 75 प्रतिशत सीटें भर चुकी हैं। दूसरे नंबर पर कॉमर्स, बीएससी बीसीजी और बीएससी पीसीएम कोर्स रहा है। इसमें 50 प्रतिशत सीटें भर चुकी हैं।

कॅरियर एक्सपर्ट डॉ. सुशील शर्मा का कहना है कि ग्रामीण परिवेश में बी.ए. शब्द कहने में तो आसान है पर इस क्षेत्र में निजी नौकरियों से लेकर सरकारी नौकरी तक की संभावनाएं हैं। आप अपनी रीजनल लैंग्वेज में भी बीए कर सकते हैं। चाहे वह हिंदी हो अथवा संस्कृत। इंग्लिश, पॉलिटिकल साइंस, इतिहास, भूगोल और अर्थशास्त्र, समाज शास्त्र से पढ़ाई कर सरकारी नौकरी की तैयारी करने वाले लोगों के लिए यह एक अच्छा विकल्प है। इस कोर्स के बाद अगर आप आगे पढऩा चाहते हैं तो बीएड या एमएड कर टीचर बन सकते हैं। अगर आप कॉलेज प्रोफेसर बनना चाहते हैं तो आपको एमफिल या पीएचडी करना होगा और यूजीसी नेट का पेपर क्लियर करना होगा। यही कारण है कि ज्यादातर टीचर-प्रोफेसर कला क्षेत्र से आ रहे हैं।

ये सवाल-जवाब आपके लिए खास
बेहतर कॅरियर को लेकर ज्यादातर युवा असमंजस में रहते हैं। इसके लिए पत्रिका संवाददाता ने डिग्री कॉलेज के कॅरियर मार्गदर्शक विशेषज्ञ डॉ. सुशील शर्मा से कुछ सवाल पूछे।

- 12वीं के बाद छात्रों को किस ओर जाना चाहिए?
- जिन छात्रों को गणितीय ज्ञान है उनको गणित की ओर जाना चाहिए। साइंस के छात्रों को फिजिक्स, कैमेस्ट्री या फिर बॉटनी की ओर जाना सही रहेगा। जो लोग मैनेजमेंट के क्षेत्र में जाना चाहते हैं उनको बीकॉम, एमकॉम करना चाहिए। सिविल सेवाओं की तैयारी करने वाले छात्र आट्र्स की पढ़ाई कर अपना कॅरियर बनाएं। सब्जेक्ट चूज करने में असमंजस में नहीं रहें।

- बीएससी और बीकॉम की अपेक्षा बीए में सीटें क्यों ज्यादा रहती है?
- शिक्षा का स्तर धीरे-धीरे गिरता जा रहा। सभी पैरेंट्स चाहते हैं कि बच्चे पढ़ें। बीए का कोर्स अन्य कोर्सों की अपेक्षा सरल रहता है। इसलिए 60 फीसदी छात्र औपचारिकता करने के लिए एडमिशन ले लेते हैं। 40 फीसदी छात्रों की ही पढ़ाई की ओर रुचि दिखती है।

- लड़कियों के लिए बेहतर ऑप्शन क्या हैं?
- ऑर्ट के विषय साइंस के मुकाबले सरल होते हैं। हिंदी, अंग्रेजी, संस्कृत, राजनीति शास्त्र, भूगोल की पढ़ाई करने वाली लड़कियां टीचर बन सकती हैं। 60 फीसदी लड़कियां इसलिए बीए करती हैं। हालांकि अब हर क्षेत्र में लड़कियां कदम रख चुकी हैं।

- विंध्य क्षेत्र में ऑट्र्स का कल्चर क्यों ज्यादा है?
- बघेलखंड के छात्रों में सिविल सर्विसेस की महत्वाकांक्षा अन्य क्षेत्रों की अपेक्षा ज्यादा होती है। इसलिए विंध्य के कॉलेजों में आट्र्स का बोल-बाला है। बाहर रहकर कम्पिटीशन की तैयारी करने वाले छात्र यहां से पढ़ाई करते हैं। उनको ऑर्ट विषय से ज्यादा मदद मिलती है।

यदि आपको 12वीं के बाद जॉब करनी है तो
अगर आप 12वीं के बाद जॉब करने का सोच रहे हैं तो आपको क्लर्क की जॉब मिल जाती है। इसके लिए आपको बीए के साथ डीसीए-पीजीडीसीए करना होगा। इसके बाद सहायक ग्रेड-3 और 4 की नौकरी मिल सकती है। बड़ी सरकारी नौकरी के लिए आप किसी महत्वपूर्ण विषय से एमए कर सकते है। इसके बाद आप यूपीएससी, एमपी पीएससी, एसएससी सहित अन्य सरकारी नौकरियों के लिए अप्लाई कर सकते है।

ये ऑप्शन भी बेस्ट
इवेंट मैनेजमेंट, मैनेजमेंट, ऑडियो विजुअल मीडिया एंड एनिमेशन कॉर्सेज, टूरिज्म, बैचलर इन सोशल वर्क, डिजास्टर मैनजेमेंट, वाइल्ड लाइफ फोटोग्राफी, पर्सनल स्टाइलिस्ट, ज्वेलरी डिजाइनिंग, एंथ्रोपोलॉजी, बैचलर ऑफ जर्नलिज्म एंड मास कम्यूनिकेशन, होटल मैनेजमेंट, ग्राफिक्स डिजाइनर।

Show More
suresh mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned