ग्रामोदय यूनिवर्सिटी के छठवें दीक्षांत समारोह में शामिल हुए राज्यपाल, 172 स्टूडेंट्स को मिला गोल्ड

महात्मा गांधी चित्रकूट ग्रामोदय विश्वविद्यालय के परिसर को आकर्षक और भव्य बना दिया। अवसर था विश्वविद्यालय के छठवें दीक्षांत समारोह का।

By: suresh mishra

Published: 14 Nov 2017, 11:47 AM IST

सतना। श्रीराम की कर्मभूमि चित्रकूट में सोमवार को स्टूडेंट्स ने भारतीय परिधान सफेद कुर्ता-पायजामा, सलवार-कुर्ता, सफेद साड़ी तथा राजस्थानी पगड़ी धारण कर महात्मा गांधी चित्रकूट ग्रामोदय विश्वविद्यालय के परिसर को आकर्षक और भव्य बना दिया। अवसर था विश्वविद्यालय के छठवें दीक्षांत समारोह का।

मध्यप्रदेश के महामहिम राज्यपाल और कुलाधिपति ओम प्रकाश कोहली के हाथों उपाधि और गोल्ड मेडल पाकर छात्रों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। समारोह में महामहिम राज्यपाल द्वारा प्रवीणता अंक अर्जित करने वाले 172 विद्यार्थियों को गोल्ड मेडल तथा विभिन्न विषयों में 222 शोधार्थियों को शोध उपाधि प्रदान की गई।

कला, विज्ञान, प्रबंधन, इंजीनियरिंग और कृषि के स्नातक/परास्नातक के 3802 विद्यार्थियों को उपाधि प्रदान की गई। कार्यक्रम का शुभारंभ स्वागत गीत के साथ हुआ। इसमें विश्वविद्यालय के छात्राओं ने लोकगीत ग्राम विद्या की राजधानी तुम्हारी जय हो, तुम्हारी जय हो का सुमधुर गायन कर समारोह में समां बांध दिया। विश्वविद्यालय के छात्र-छात्राओं ने दीक्षांत समारोह की संध्या पर आकर्षक रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत किया, जिसे देख उपस्थित अतिथिगण एवं अभिवाभव मंत्रमुग्ध हो गए।

कौशल केन्द्र का लोकार्पण
राज्यपाल ओपी कोहली एवं उच्च शिक्षा मंत्री जयभान सिंह पवैया ने संयुक्त रूप से कुलपति प्रोफेसर नरेशचन्द्र गौतम की उपस्थिति में विश्वविद्यालय परिसर में नव-निर्मित दीनदयाल उपाध्याय कौशल केन्द्र का लोकार्पण किया। इस अवसर पर अतिथिद्वय ने नवनिर्मित कृषि संकाय भवन का लोकार्पण भी किया।

आज रहेगा अवकाश
कुलपति प्रोफेसर नरेश चन्द्र गौतम ने दीक्षांत समारोह के उपलक्ष्य में मंगलवार 14 नवंबर को महात्मा गांधी चित्रकूट ग्रामोदय विश्वविद्यालय में अवकाश की घोषणा की। मंगलवार को विश्वविद्यालय बंद रहेगा।

अतुल को गोल्ड मेडल
महात्मा गांधी ग्रामोदय विश्वविद्यालय चित्रकूट के छठवें दीक्षांत समारोह में मास्टर ऑफ जर्नलिज्म मास कम्युनिकेशन में अव्वल रहने पर अतुल कुमार मिश्रा को गोल्ड मेडल से नवाजा गया। इसके पहले भी अतुल को बीजे में गोल्ड मेडल मिल चुका है।

ग्रामोदय देश का प्रथम ग्रामीण विश्वविद्यालय
दीक्षांत समारोह में पहुंचे लोक सेवा आयोग के सदस्य प्रदीप कुमार जोशी ने कहा, ग्रामोदय विश्वविद्यालय देश का पहला ग्रामीण विवि है। नाना जी ने राम की तपोभूमि में विश्वविद्यालय की स्थापना कर आदिवासी अंचल में शिक्षा की अलख जगाई है। नानाजी के सिद्धांतों का अनुशरण करते हुए यहां के छात्र ५ हजार आदिवासी बच्चों को आखर ज्ञान करा रहे हैं।

देश सेवा की ली शपथ
समारोह के दौरान विवि में अध्ययन पूरा कर चुके छात्र- छात्राओं को उपाधि वितरित करने से पहले कुलाधिपति द्वारा देश हित में ईमानदारी से कार्य करने की शपथ दिलाई गई। सभी छात्रों ने एक हाथ आगे कर देश और समाज हित में कार्य करने की शपथ ली। इस अवसर पर उच्च शिक्षा मंत्री ने छात्रों को सफलता के तीन सूत्र दिए। उन्होंने कहा कि अतीत को पढ़ो, वर्तमान को गढ़ो और आगे बढ़ो।

खास-खास
- समारोह में राज्यपाल द्वारा 172 छात्रों को गोल्ड मेडल तथा २२२ शोधार्थी छात्रों को शोध उपाधि प्रदान की गई।
- कार्यक्रम में स्नातक एवं स्नातकोत्तर के 3802 विद्यार्थियों को डिग्रिया प्रदान की गई।
- दूरवर्ती शिक्षा से अध्ययन कर चुके स्नातक के 9329 एवं परास्नातक के 10567 विद्यार्थियों को उपाधि प्रदान की गई।
- छात्र/ छात्राओं ने परंपरागत भारतीय परिधान पहनकर कार्यक्रम उपाधि हासिल की।
- राज्यपाल की अध्यक्षता में विश्वविद्यालय के प्रबंध मण्डल की 52वीं बैठक आयोजित की गई।
- इसमें कुलपति प्रोफेसर गौतम सहित प्रबंध मण्डल के सदस्यगण सम्मिलित हुए।

suresh mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned