आइजी बोले, मातृ भाषा में लिखें नाम, टर्न ऑउट देख दिया इनाम

परेड व वाहनों का जायजा लेकर दिए निर्देश, दरबार में सुनी पुलिस कर्मियों की समस्या, थाना रामपुर में जांचा अपराधों का रिकॉर्ड

सतना. पुलिस महानिरीक्षक रीवा जोन चंचल शेखर शुक्रवार को सतना पहुंचे। यहां उनका पहला वार्षिक निरीक्षण था। परेड सलामी से शुरूआत करते हुए उन्होंने परेड में शामिल सभी प्लाटून का टर्न ऑउट जांचा और जिस पर खुश हुए उसे इनाम भी दिया। पुलिस लाइन में बने नए जिम का उद्घाटन करते हुए उन्होंने अस्पताल की व्यवस्थाएं देखीं और फिर पुलिस वेलफेयर के लिए खुले पेट्रोल पंप का जायजा भी लिया। पुलिस अधीक्षक कार्यालय का भ्रमण कर यहां के कामकाज को जांचा और फिर रीवा जाते समय रामपुर बाघेलान थाना का निरीक्षण किया। इस दौरान आइजी के साथ एसपी रियाज इकबाल समेत अन्य अधिकारी भी मौजूद रहे।

सावधान रहे प्लाटून

परेड के बाद जब सभी प्लाटून अपनी जगह पर खड़े हुए तो उन्हें सावधान कर दिया गया। इसी अवस्था में आइजी ने टर्न ऑउट जांचा। बताते हैं कि जिस प्लाटून को जांचा जाता है वह सावधान की मुद्रा में रहता है जबकि बाकी सभी को विश्राम कर दिया जाता है। लेकिन एेसा पहली दफा हुआ कि जब तक सभी का टर्न ऑउट नहीं जांच लिया गया तब तक सभी प्लाटून सावधान की मुद्रा में रहे।

हिन्दी में बनाएं नेम प्लेट

परेड की सलामी लेने के बाद जब टर्न ऑउट जांचने की शुरूआत हुई तो एक महिला आरक्षक की नेम प्लेट देख आइजी बोले, अपनी मातृ भाषा हिन्दी है तो नेम प्लेट पर हिन्दी में नाम लिखें। आइजी निरीक्षण कर ही रहे थे तभी जैतवारा थाना की महिला आरक्षक वंदना तिवारी अचानक गश खाकर गिर गई। उसे पास मौजूद महिला पुलिस कर्मियों ने सहारा देते हुए लाइन से बाहर किया और आराम करने भेज दिया।

महिला आरक्षकों को थाने भेजो

पुलिस लाइन में या जिला पुलिस मुख्यालय के कार्यालय में काम करने वाली महिला आरक्षकों को थाने में रवानगी देने के निर्देश आइजी ने दिए हैं। ताकि नव आरक्षक पुलिस का काम काज बेहतर तरीके से समझ सकें। इसके साथ ही महिलाओं को आवश्यक रूप से साप्ताहिक अवकाश देने के लिए भी कहा है।

यात्रा भत्ता का मामला उठा

पुलिस दरबार में थानों में आवास, बाउण्ड्री निर्माण, वाहनों की कमी के मामले सामने आए। इनमें आइजी ने कहा कि वह सभी समस्याओं के बारे में पुलिस मुख्यालय से पत्राचार कर रहे हैं। इनमें एक प्रमुख मामला यात्रा भत्ता का सामने आया। कुछ महीनों से यात्रा भत्ता की जानकारी ऑन लाइन दी जाने लगी है। एेसे में ऑन लाइन र्फा भरते समय आ रही तकनीकी दिक्क्तों से अधिकांश पुलिस कर्मियों का यात्रा भत्ता अटका है। इस समस्य का जल्द निराकरण कराने की बात आइजी ने कही। इस दौरान आइजी ने अपराध पर नियंत्रण और दस्यु उन्मूलन में अहम भूमिका निभाने पर सतना पुलिस को साबासी भी दी।

चोरी के पुराने मामले सुलझाओ

रामपुर बाघेलान थाना का जायजा लेेते हुए उन्होंने अपराध रिकॉर्ड को जांचा। इस इलाके में पूर्व में हुई चोरी की घटनाआें पर गंभीरता से काम करते हुए उन्हें सुलझाने के निर्देश दिए हैं। थाना का भ्रमण करते हुए पुलिस कर्मियों के लिए उपलब्ध सुविधाएं जांची और काम में तेजी लाने को कहा।

काम करने वालों को इनाम

सीसीटीनएस में रहीस सिंह, वाहन का मेंटीनेंस बेहतर रखने पर सिविल लाइन थाना से मुकेश त्रिपाठी, कार्यालयीन काम अच्छा मिलने पर लिपिक कमार द्विवेदी को इनाम मिला। इसके अलावा कई अन्य पुलिस कर्मियों के नाम आइजी ने इनाम के लिए सूची में दर्ज कराए हैं।

Dhirendra Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned