scriptInflation spoiled the budget, food prices increased by 20 percent | महंगाई ने बिगाड़ा बजट, 20 फीसदी बढ़े खाद्य सामग्रियों के भाव | Patrika News

महंगाई ने बिगाड़ा बजट, 20 फीसदी बढ़े खाद्य सामग्रियों के भाव

किराना में तो 25 प्रतिशत तक बढ़ चुकी है महंगाई

सतना

Published: May 21, 2022 08:34:48 pm

सतना. गरीब व मध्यम वर्गीय परिवार बढ़ती महंगाई से कराह रहा है। खाद्य सामग्री व सब्जियों की महंगाई ने घरेलू बजट की कमर ही तोड़ दी है। जिन घरों में किराना के भाव कम होने पर कुछ पैसे बचा लिए जाते थे वहां अब महंगाई ने इस बचत पर अंकुश लगा दिया है। आम लोग यह समझ नहीं पा रहे कि आखिर इस महंगाई में बजट को कैसे संतुलित किया जाए।

food_prices_increased_by_20_percent.png

खाद्य सामग्रियों में लगातार बढ़ रही महंगाई के कारण महिलाओं का घरेलू बजट बिगड़ गया है। किराना में सरसों तेल और रिफाइन, दाल सहित अन्य सामग्रियों की कीमत में बेतहाशा वृद्धि से ये वस्तुएं आम आदमी की पहुंच से दूर होती जा रही हैं। किराना की बात करें तो 25 प्रतिशत तक महंगाई बढ़ चुकी है,80 रुपए में बिकने वाली धनिया आज 130 रुपए में बिक रही है।

भाड़ा भी महंगाई का कारण बढ़ा
पेट्रोल, डीजल का दाम बढ़ने से माल भाड़े पर सीधा असर पर पड़ा है। इस कारण नमक, दाल से लेकर खाने वाले तेल और अन्य खाद्य सामग्री की कीमत काफी बढ़ी है। बाजार में किराना वस्तुओं की कीमतों के बढ़ने के कारण इनके थोक भाव में तेजी आई है और जब थोक भाव बढ़े तो खुदरा कारोबार में तेजी आना तय है। लगभग सभी खाद्य वस्तुओं की कीमतों में 20-25 प्रतिशत तक तेजी आ गई है। बाजार में बढ़ी कीमतों का असर अब रसोई पर दिखता है, लोग अपने बजट में कटौती करने लगे हैं। पहले जहां वे किलो में खरीदते थे वहीं अब आधा किलो में काम चलाने लगे हैं।

किराना व्यापारियों ने बताया कि पहले की अपेक्षा ऑयल के दाम काफी बढ़ चुके है,व्यापार भी काफी कम हुआ है। 1600 रुपए में मिलने वाले तेल अब 2500 रुपए में मिल रहा है। किराना बाजार में लगभग 15 प्रतिशत की महंगाई है, डीजल-पेट्रोल और रसोई गैस के दा बढ़ने से महंगाई तो बढ़नी ही है। किसानों को एमएसपी में अच्छा दाम देकर गेहूं तेल कैसे सस्ता मिलेगा। किराना व्यापार के कुछ आइटमों में 5-10 प्रतिशत तक दाम बढ़ चुके है। मसाले में भी काफी तेजी है। पेट्रोल-डीजल के से ट्रांसपोर्टेशन भी तो महंगा हो रहा है। महंगाई का असर तो व्यापार में बहुत दिख रहा है बिक्री भी प्रभावित है। डीजल के दाम बढ़ने के कारण भाड़े बढ़ रहे है, स्वाभाविक है कि सामान के दाम महंगे होंगे। लगन सीजन होने के बाद भी व्यापारी हाथ पर हाथ धरे बैठे रहते है,व्यापार नहीं है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

सुशील कुमार मोदी का नीतीश सरकार पर हमला, कहा - 'लालू के दामाद और कार्यकर्ता चला रहे सरकार, नीतीश लाचार'CM हेमंत सोरेन के आवास पर आज UPA की बैठक, JMM, कांग्रेस और RJD होंगे शामिलड‍िप्‍टी सीएम मनीष स‍िसोद‍िया के यहां CBI की रेड के बाद LG का बड़ा आदेश, 12 IAS अफसरों का ट्रांसफरमनीष सिसोदिया के घर समेत 31 जगहों पर रेड, 17 अगस्त को ही दर्ज हुई थी FIR, CBI ने जारी की पूरी डीटेलउपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के आवास पर CBI की छापेमारी के बाद आम आदमी पार्टी ने किया ऐलान - '2024 में मोदी Vs केजरीवाल'PICS: देशभर में श्री कृष्ण जन्माष्टमी की धूम, सुनाई दे रही जयश्री कृष्णा की गूंजक्यों मनीष सिसोदिया के घर पर CBI कर रही छापेमारी? जानिए क्या है पूरा मामलामहाकाल की शाही सवारी 22 को, चार लाख श्रद्धालुओं के आने का अनुमान
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.