संस्कृति शर्मा बनीं उचेहरा एसडीएम, साधना परस्ते को मिली दोहरी जिम्मेदारी

संस्कृति शर्मा बनीं उचेहरा एसडीएम, साधना परस्ते को मिली दोहरी जिम्मेदारी
sanskriti sharma gets Uchehra SDM, Sadhna gets dual responsibility

Sonelal Kushwaha | Updated: 15 Jun 2019, 05:09:31 PM (IST) Satna, Satna, Madhya Pradesh, India

कलेक्टर सतेंद्र सिंह ने दोबारा कार्यभार ग्रहण करने ही प्रशासनिक व्यवस्था में फेरबदल करते हुए रामनगर एसडीएम रहे प्रशांत त्रिपाठी को सतना बुला लिया

सतना. कार्यभार ग्रहण करने के साथ ही कलेक्टर सतेन्द्र सिंह ने अब चुनाव के बाद अधिकारियों की नई जमावट शुरू कर दी है। मैदानी कामकाज में गति लाने की दृष्टि से दो अनुभागों में बदलाव करते हुए नए अफसरों की पदस्थापना की गई है। इसके अनुसार डिप्टी कलेक्टर संस्कृति शर्मा को उचेहरा अनुभाग का एसडीएम बनाया गया है। अब तक उचेहरा और अमरपाटन अनुभाग देख रहीं साधना परस्ते को अमरपाटन के साथ अब रामनगर एसडीएम की भी जिम्मेदारी दी गई है।

पूर्ववत जिम्मेदारी यथावत
वहीं रामनगर एसडीएम रहे प्रशांत त्रिपाठी को वापस कलेक्ट्रेट बुला लिया गया है। महत्वपूर्ण तथ्य यह है कि संस्कृति शर्मा और साधना परस्ते नई जिम्मेदारियां अपने पूर्व आवंटित कार्यों के साथ-साथ देखेंगी। अर्थात संस्कृति शर्मा के पास पूर्ववत सिटी मजिस्ट्रेट की जिम्मेदारी रहेगी। इसके अलावा अन्य शाखाओं की भी जिम्मेदारी संस्कृति शर्मा और साधना परस्ते के पास यथावत रहेंगी।

पहले ही दिन सड़क के लिए जारी किए ४१ लाख
चुनाव बाद अब कलेक्टर सतेन्द्र सिंह जमीनी कामों के लिए एक्शन मोड में आ गए हैं। पहले ही दिन उन्होंने मझगवां क्षेत्र की बहुप्रतीक्षित दो सड़कों के लिये निर्माण एजेंसी को राशि जारी कर तत्काल काम शुरू करने के निर्देश दिए है।
41 लाख रुपए वन विभाग को
जानकारी के अनुसार मझगवां के सुदूर तराई इलाके में वन भूमि पर दो सड़कों की मांग लंबे समय से चली आ रही थी। इसमें शाहपुर से वीरपुर साढ़े तीन किलोमीटर (२०.६० लाख) और दूसरी चकर से केल्हौरा पहुंच मार्ग ११ किलोमीटर (६१.८० लाख) शामिल रहा। इस तरह कुल ८२.२८ लाख की सड़क की स्वीकृति देने के साथ ही कलेक्टर ने ४१ लाख रुपए वन विभाग को दे दिया है। इस कार्य की निर्माण एजेंसी वन विभाग है। साथ ही डीएफओ को तत्काल काम शुरू करवाने के निर्देश दिए गए हैं।

तय होगी व्यंकट वन की डिजाइन
शहर की ऐतिहासिक व्यंकट क्रमांक एक विद्यालय के कायाकल्प का निर्णय ले चुके कलेक्टर सतेन्द्र सिंह ने यहां स्मार्ट क्लास बिल्डिंग निर्माण के लिये उन्होंने डिजाइन तय करने के निर्देश दिए थे। इसकी तीन डिजाइन तय हो चुकी है। अगली टीएल को इन्हें फाइनल कर दिया जाएगा। साथ ही अगले दिन मझगवां उत्कृष्ट विद्यालय में भी टीम भेजी जा रही है। जहां इसके सुदृढ़ीकरण के संबंध में नापजोख की जाएगी।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned