Election 2019: भाजपा का गढ़ रही है ये संसदीय सीट, इस बार गणेश सिंह के सामने किला बचाने की चुनौती

Election 2019: भाजपा का गढ़ रही है ये संसदीय सीट, इस बार गणेश सिंह के सामने किला बचाने की चुनौती

Suresh Kumar Mishra | Publish: Apr, 17 2019 07:08:01 PM (IST) | Updated: Apr, 17 2019 07:08:02 PM (IST) Satna, Satna, Madhya Pradesh, India

सतना लोकसभा सीट: भाजपा लगातार पांच बार से जीत रही चुनाव
- भाजपा ने मौजूदा सांसद गणेश सिंह पर विश्वास जताते हुए उन्हें मैदान में उतारा है
- शुरुआती दो चुनावों सहित पांच बार कांग्रेस ने जीत दर्ज कराई थी

सतना। मध्यप्रदेश की सतना लोकसभा सीट भाजपा का गढ़ मानी जाती है। 6 मई को प्रदेश के दूसरे चरण में मतदान है। यहां मुख्य मुकाबला भाजपा के सांसद और उम्मीदवार गणेश सिंह का कांग्रेस के राजाराम त्रिपाठी और बसपा के अच्छेलाल कुशवाहा के बीच है। यहां 14 उम्मीदवार मैदान में हैं। लोकसभा क्षेत्र में मुख्य मुद्दा शहर से लेकर गांव तक जलसंकट, आधा दर्जन कंपनियों के बीच किसी को रोजगार नहीं, शहर के अंदर की जर्जर सड़कें, अधूरा फ्लाइ ओवर, रोजगार के वादे अधूरे, रामनगर क्षेत्र में विस्थापितों का दर्द, सतना-बेला मार्ग, शहर के अंदर धूल-डस्ट और कंपनियों का धुआं है।

पांच बार कांग्रेस हुई सफल
आजादी के बाद 1952 में हुए पहले आम चुनाव में सतना सीट पर कांग्रेस को जीत हासिल हुई थी। इसके बाद 1967 में फिर लगातार दूसरी बार कांग्रेस ने जीत दर्ज की। लेकिन उसके बाद यहां पर मतदाताओं ने अन्य पार्टियों के सिर पर जीत का सेहरा बांध दिया। 1971 में नरेन्द्र सिंह भारतीय जन संघ, 1977 में सुखेन्द्र सिंह भारतीय लोक दल ने यहां कांग्रेस को करारी मात दी। लेकिन 1980 में कांग्रेस की वापसी हुई और गुलशेर अहमद फिर कांग्रेस से सांसद बने। 9184 मेें कांग्रेस के अजीत कुरैशी ने भोपाल से आकर चुनाव लड़ा और जीते भी। इसके बाद 1989 में सुखेन्द्र सिंह भाजपा ने चुनाव जीता, 1991 में अर्जुन सिंह कांग्रेस से सांसद बने लेकिन 1996 में बसपा के सुखलाल कुशवाहा से हार गए।

भाजपा का गढ़ रही यह सीट
1971 के आम चुनाव में भारतीय जन संघ के नरेन्द्र सिंह ने कांग्रेस को सत्ता से बेदखल कर पहली जीत दर्ज कराई। इसके बाद 1977 में भारतीय लोक दल और 1989 में भाजपा के सुखेन्द्र सिंह ने बीजेपी के जीत की नींव रखी। जिसके बाद से लगातार पांच बार से भाजपा उम्मीदवार जीतते आ रहे है। 1998 और 1999 में दोबारा रामानंद सिंह भाजपा से सांसद बने। 2004, 2009, 2014में लगातार तीन बार चुनाव जीतकर भाजपा के गणेश सिंंह जीत हैट्रिक लगा चुके है।

अब तक सतना लोकसभा से सांसद
- 1952 शिवदत्त उपाध्याय - कांग्रेस
- 1967 देवेन्द्र विजय सिंह - कांग्रेस
- 1971 नरेन्द्र सिंह - भारतीय जन संघ
- 1977 सुखेन्द्र सिंह - भारतीय लोक दल
- 1980 गुलशेर अहमद - कांग्रेस
- 1984 अजीत कुरैशी - कांग्रेस
- 1989 सुखेन्द्र सिंह - भाजपा
- 1991 अजुर्न सिंह - कांग्रेस
- 1996 सुखलाल कुशवाहा - बसपा
- 1998 रामानंद सिंह - भाजपा
- 1999 रामानंद सिंह - भाजपा
- 2004 गणेश सिंंह - भाजपा
- 2009 गणेश सिंह - भाजपा
- 2014 गणेश सिंह - भाजपा

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned