चित्रकूट और रहिकवारा कांड के बाद तबादलों की राजनीति में निपटे सतना एसपी, निर्वाचन आयोग में की गई थी शिकायत

चित्रकूट और रहिकवारा कांड के बाद तबादलों की राजनीति में निपटे सतना एसपी, निर्वाचन आयोग में की गई थी शिकायत
Satna SP Santosh Singh gaur transfer to PHQ bhopal

Suresh Kumar Mishra | Updated: 16 Mar 2019, 01:33:39 PM (IST) Satna, Satna, Madhya Pradesh, India

निर्वाचन आयोग में की गई थी शिकायत: बढ़ रहे अपराधों को बनाया मुद्दा

सतना। जिले में बढ़ती वारदातों पर लगाम कसने में नाकाम एसपी संतोष सिंह गौर का स्थानांतरण कर दिया गया है। स्थानीय नेताओं की राजनीति भी उन पर भारी पड़ी है। दरअसल, तबादलों की राजनीति शुरू हुई तो पुलिस कप्तान उलझ गए। तबादलों के लिए की गई राजनीतिक सिफारिश को दरकिनार किया तो फिर से कानून व्यवस्था का मुद्दा गरमाया और इसकी शिकायत चुनाव आयोग से कर दी गई।

रीवा रेंज के पुलिस महानिरीक्षक भी अपनी सफाई देते हुए कानून व्यवस्था बेहतर बनाए रखने का हवाला देते रहे। इस बीच रहिकवारा में छह साल के बच्चे को अगवा कर उसकी हत्या के प्रकरण ने आग में घी का काम कर दिया। यही वजह है कि गृह विभाग ने सतना पुलिस अधीक्षक रहे संतोष सिंह गौर का तबादला करते हुए उनकी जगह रियाज इकबाल को सतना की कमान सौंपी है।

कानून व्यवस्था की जिम्मेदारी
शुक्रवार को जारी आदेश के बाद एसपी गौर को सहायक पुलिस महानिरीक्षक, पुलिस मुख्यालय भोपाल के लिए तबादला कर दिया गया। जबकि सहायक पुलिस महानिरीक्षक सायबर सेल पुलिस मुख्यालय भोपाल रियाज इकबाल को फिर एक दफा सतना जिले के कानून व्यवस्था की जिम्मेदारी दी गई है।

सिफारिश को नहीं मानने पर उन्हें हटा दिया
इसके पहले भी एसपी रियाज इकबाल सतना जिले में कुछ दिनों के लिए एसपी बनाए गए थे। वह नजदीकी जिले पन्ना, सिंगरौली और मुरैना में भी काम कर चुके हैं। एसपी गौर के इस तबादले के बाद यह माना जा रहा कि कानून व्यवस्था को नहीं सुधार पाने और फिर जिलास्तर पर तबादला करने में राजनीतिक सिफारिश को नहीं मानने पर उन्हें हटा दिया गया।

शहर से गांव तक अपराध
चित्रकूट से अगवा छह साल के सगे भाई प्रियांश व श्रेयांश की फिरौती के लिए हत्या के बाद रहिकवारा में छह साल के शिवकांत प्रजापति की हत्या कर दिए जाने के मामले ने ज्यादा तूल पकड़ा। इस बीच शहर से सटे इलाकों में वाहन सवारों के साथ लूट की वारदातें और रीवा रोड पर रंगदारी के लिए व्यावसायिक प्रतिष्ठान में गोली चलने के प्रकरण भी बिगड़ी कानून व्यवस्था को बयां कर रहे थे। विपक्षियों के साथ जब सत्ताधारी राजनीतिक दल और व्यापारियों ने भी कानून व्यवस्था पर प्रश्नचिह्न लगाकर मोर्चा खोला तो गृह विभाग को इसे गंभीरता से लेना पड़ा।

एसपी से मिले चेंबर पदाधिकारी
शहर की बिगड़ती कानून व्यवस्था, अपहरण, हत्या, फायरिंग की वारदात को अंजाम देने वाले अपराधियों के न पकड़े जाने पर विंध्य चेंबर के अध्यक्ष द्वारिका गुप्ता के नेतृत्व में व्यापारियों के प्रतिनिधिमंडल ने पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौंपा। उनसे अपराधियों को पकडऩे की मांग की। एसपी ने उन्हें सुरक्षा का आश्वासन दिया।

रहिकवारा कांड: मासूम को दी गई श्रद्धांजलि
रहिकवारा में बच्चे की मौत के बाद पूर्व जिला सहकारी बैंक अध्यक्ष रत्नाकर चतुर्वेदी ने नईबस्ती में युवा साथियों एवं बस्ती वासियों के साथ मासूम की आत्मा की शांति के लिए कैंडल जलाकर दो मिनट का मौन रखा। इस दौरान हिमांशु पटनहा, माखन सिंह, उमेश सिंह, प्रमित गुप्ता, अज्जु,आदित्य मिश्रा, सचिन पटनहा, सैबी, गौरव, उमेश, चेतन, नीरज, हरि,शनि द्विवेदी मौजूद रहे।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned