Satna में गरीबों को सरकारी राशन के बदले मिलती है गाली-लाठी

पीएम-सीएम की मुफ्त राशन योजना का हाल, आदर्श नगर की पीडीएस दुकान में बुजुर्ग से अभद्रता

 

By: Pushpendra pandey

Updated: 10 Jun 2021, 03:01 AM IST

सतना. प्रधानमंत्री गरीब कल्याण के तहत दो माह और मुख्यमंत्री जन कल्याण योजना के तहत तीन माह का एकमुश्त मुफ्त राशन वितरण किया जाना गरीबों के लिए अभिशाप बन गया है। राशन की दुकानों में गरीबों को राशन की जगह गाली और लाठी मिल रही है। बुधवार को कुछ ऐसा ही मामला शहर के आदर्श नगर में सामने आया। यहां एक बुजुर्ग उपभोक्ता को सरेआम गाली दी गई और कोटेदार ने डंडा लेकर दौड़ाने का प्रयास किया। जिस प्रकार से कोटेदार ने गरीब के साथ दुव्र्यवहार किया उसके बाद उम्मीद की जा रही कि प्रशासन इस मामले में गंभीरता दिखाते हुए सख्त कदम उठाएगा।

कैमरे में कैद कोटेदार की हरकत
शहर के आदर्श नगर स्थित पीडीएस दुकान में एक बुजुर्ग गल्ला मांगने गया। यहां गल्ला तो नहीं मिला पर गालियां और डंडे जरूर मिल रहे हैं। बुधवार को ही एक बसोर हितग्राही शासन द्वारा मुफ्त दिए गए 3 माह का राशन मांगने पहुंचा तो उसे कोटेदार बद्री पांडेय ने गल्ला की जगह गालियां दीं, डंडा उठा कर दौड़ाया। क्षेत्रीय लोग बताते हैं कि कोटेदार राशन वितरण करना ही नहीं चाहता है। हर किसी के साथ ऐसा ही बर्ताव करता है। उसकी हरकत कैमरे में कैद हुई है।

कहां गया गरीबों का राशन
गौरतलब है कि पिछले पांच महीने का राशन मुफ्त दिया जाना है। दो माह का राशन पीएम की तरफ से, जबकि तीन महीने का राशन सीएम की तरफ से देना था। लेकिन कई जगहों पर राशन का वितरण नहीं किया गया। कोई कोटेदार पीएम के नाम का तो कोई सीएम के नाम का राशन डकारने की कोशिश कर रहा है। आरोप है कि बद्री पांडे भी इसी उम्मीद में है। वह गरीबों को राशन देना नहीं चाहता, लिहाजा बहानेबाजी कर रहा है। यदि कोई उससे सवाल करता है तो वह मारने और गाली गलौज पर उतर आता है।

Pushpendra pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned