blind murder : आरपीएफ के लॉकअप में चोरी के संदेही ने की आत्महत्या, परिजन बोले-हत्या की गई

घटना के छह घंटे बाद भी जीआरपी को नहीं दी सूचना, मृतक के परिजनों को गुमराह करते रहे अफसर

 

By: Pushpendra pandey

Published: 10 Jun 2021, 02:29 AM IST

सतना. रेल सुरक्षा बल की सतना पोस्ट में बुधवार की दोपहर एक युवक की संदिग्ध हालातों में मौत हो गई। खबर है कि उसने फांसी लगाई है। जबकि देररात सतना पहुंचे मृतक के परिजनों ने सीधे तौर पर आरोप लगाया कि आरपीएफ की मारपीट से मौत हुई है। इस पूरे घटनाक्रम को सतना पोस्ट के अधिकारी छिपाते रहे और राजकीय रेल पुलिस को तक सूचना देना उचित नहीं समझा। देररात सतना पहुंचे आरपीएफ के वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त ने यह बात स्वीकार की है कि पोस्ट में संदेही की मौत हुई है। मृत्यु कैसे और पोस्ट में किस जगह हुई? इस बात को बताने से वह बचते रहे।

रीवा का था संदेही
पता चला है कि रीवा जिले के कोतवाली थाना अंतर्गत पचमठा घोघर निवासी आदित्य पासी पुत्र स्व. गुरु प्रसाद पासी (१८) की मृत्यु रेल सुरक्षा बल की सतना पोस्ट में हुई है। खबर है कि लॉकअप के अंदर उसे बंद रखा था। वहां आदित्य ने कंबल का एक हिस्सा फाड़कर फांसी लगाई है। एक चर्चा जहर से मौत की हो रही है। आरपीएफ यह स्पष्ट नहीं कर पाई कि आखिर मृत्यु किन कारणों से और कैसे हुई।

अस्पताल में कर दिया शिफ्ट
आदित्य को मृत हालत में जिला अस्पताल ले जाया गया। वहां मृत्यु की पुष्टि के बाद उसका शव मर्चुरी में शिफ्ट कर दिया। जबकि इसकी तहरीर जीआरपी को आना चाहिए थी, लेकिन रेल सुरक्षा बल के अधिकारी मंडल स्तर के अधिकारियों से संपर्क साधने में व्यस्त रहे और जानबूझकर जीआरपी को सही समय पर मेमो नहीं दिया। रात बजे तक जीआरपी के जिम्मदार अधिकारियों ने यही बताया कि उन्हें मृत्यु के संबंध में कोई अधिकृत सूचना नहीं मिली है।

स्टेशन पर भागते पकड़ा
रेल सुरक्षा बल के वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त अरुण त्रिपाठी का कहना है कि महानगरी एक्सपे्रस से एक यात्री का फोन चोरी हुआ था। ट्रेन से उतरकर आदित्य भाग रहा था, जिसे ड्यूटी में मौजूद सिपाहियों ने पकड़ा। यह कौन सिपाही हैं? इनके नाम नहीं बताए गए। यह जरूर बताया कि आदित्य के पास चोरी का फोन मिला था। उससे पूछताछ के बाद उसे जीआरपी के सुपुर्द करने की कार्रवाई की जा रही थी, इसी बीच उसने आत्महत्या कर ली। आत्महया कैसे की? इसके बारे में भी वरिष्ठ अधिकारी नहीं बता पाए।

blind murder in satna
patrika IMAGE CREDIT: patrika
Pushpendra pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned