महाकुंभ में उमड़े निजी स्कूल संचालक

महाकुंभ में उमड़े निजी स्कूल संचालक

Abhishek Ojha | Publish: Sep, 07 2018 04:19:47 PM (IST) Sawai Madhopur, Rajasthan, India

www.patrika.com/rajasthan-news

सवाईमाधोपुर. निजी स्कूलों के राज्य स्तरीय संगठन स्कूल शिक्षा परिवार राजस्थान के प्रथम महाकुंभ में जिले के स्कूल संचालकों ने उत्साह से भाग लिया। इस दौरान सभी संचालकों ने स्कूलों की समस्या बताई। जिले से करीब 12 बसें और 23 छोटे वाहनों में एक हजार स्कूल संचालक एवं स्टाफ कर्मचारियों ने प्रदेश उपाध्यक्ष आचार्य लोकेन्द्र शर्मा के नेतृत्व में महाकुंभ में शामिल हुए। सवाई माधोपुर से तहसील अध्यक्ष व मंत्रियों के नेतृत्व में 35 गाडिय़ों का काफिला कोथून मोड़ पर एकत्रित हुआ। वहां से सभी रवाना हुए। जिला मुख्यालय पर वरिष्ठ उपाध्यक्ष मुमताज अहमद, अजय शर्मा, सत्यनारायण नरेनिया, संजय शर्मा, अनूप गर्ग, उमेश शर्मा, अजय अग्रवाल, पदम सिंह, आमेरा, अजय अग्रवाल, भूपेन्द्र शर्मा, मनोज शर्मा, भगवान सहाय गुप्ता, यागेन्द्र महावर, ज्ञानेन्द्र दत्त शर्मा ने सहयोग किया।


ईवीएम, वीवीपेट प्रदर्शन रथ को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना
सवाईमाधोपुर. ईवीएम एवं वीवीपेट प्रदर्र्शन रथ को गुरुवार सुबह जिला कलक्टर पीसी पवन, मुख्य कार्यकारी अधिकारी पीयूष सामरिया, अतिरिक्त जिला कलक्टर महेन्द्र लोढा ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। लोगों को जागरूक करने तथा इसके कार्य करने की प्रक्रिया को लोगों को समझाने के लिए ईवीएम एवं वीवीपेट प्रदर्शन रथ प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में जाएंगे। ईवीएम एवं वीवीपेट मशीन के कार्य करने की पद्धति एवं प्रक्रिया को समझाया गया। प्रदर्शन रथ सवाई माधोपुर, गंगापुर, खंडार एवं बामनवास विधानसभा क्षेत्र के गांवों में जाकर इसके बारे में जानकारी देगा।


खण्डार. यहां उपखण्ड अधिकारी राकेश कुमार मीणा ने विधानसभा क्षेत्र के लिए मोबाइल वैन को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। इसके बाद तहसीलदार द्वारिका प्रसाद गर्ग ने तहसील परिसर में ईवीएम वीवीपीटी मशीन लगाकर लोगों को जानकारी दी। चुनाव कनिष्ठ लिपिक मुकुट बिहारी मथुरिया ने भी जानकारी दी।


आढ़त बढ़ाने पर बनी सहमति, आज से फिर शुरू होगा मण्डी में कारोबार
सवाईमाधोपुर. राजस्थान खाद्य पदार्थ व्यापार संघ के आह्वान पर विभिन्न मांगों को लेकर चल रही व्यापारियों की हड़ताल में सरकार व व्यापारियों के बीच बुधवार देर रात सहमति बन गई है। ऐसे में अब शुक्रवार से मण्डियों में फिर से कारोबार सुचारू हो जाएगा। ऐसे में मण्डी में जिंसों को बेचने के लिए आने वाले किसानों को राहत मिलेगी।


भारत बंद के कारण नहीें खुल सकी:
व्यापारियों व सरकार के बीच सहमति बुधवार रात को ही बन गई थी। इसमें सरकार आढ़त में 0.25 प्रतिशत की बढ़ोतरी करके अब 2.25 प्रतिशत आढ़त देने पर राजी हो गई थी, लेकिन गुरुवार को भारत बंद के चलते मण्डी में कारोबार शुरू नहीं हो सका।


इन पर भी बनी सहमति : आढ़त में वृद्धि के अतिरिक्त सरकार ने जिंसों की खरीद में पंजाब व हरियाणा का पैटर्न लागू करने पर सहमति बनी है। वहीं खरीद में व्यापारियों को शामिल करने पर भी विचार किया जा रहा है।


32 मांगों पर फैसला जल्द : इसके अतिरिक्त मूंगफली को तिलहन में शामिल करने आदि मांगों पर भी 15 दिनों में फैसला करने पर सहमति बनी है।


आढ़त बढ़ाने पर सहमति बनी है। कई अन्य मांगों के लिए सरकार ने समय मांगा है। ऐसे में शुक्रवार से मण्डी में फिर से कारोबार शुरू हो जाएगा।
विजय सिंघानिया, महामंत्री खाद्य व्यापार संघ, सवाईमाधोपुर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned