शोध! सिगरेट पीने से भी ज्यादा खतरनाक है घंटे भर बैठे रहना, जाने कारण...

Priya Singh

Publish: Dec, 08 2017 11:45:00 (IST)

Science & Tech
शोध! सिगरेट पीने से भी ज्यादा खतरनाक है घंटे भर बैठे रहना, जाने कारण...

एक शोध से मालूम हुआ है कि यदि कोई ज्यादा लंबे समय तक बैठे रहते हैं तो ऐसा करना उसके लिए धूम्रपान करने से कम खतरनाक नहीं है।

नई दिल्ली। इस दौड़ती भागती जिंदगी में अपनी सेहत का ख्याल रखना बड़ा ही मुश्कल काम होता है। हम हमेशा कोशिश करते हैं कि बुरी आदतों से बच कर रहें कई तो यह सोचते हैं और हर साल रेसोलुशन बनाते कि शराब, सिगरेट छोड़ देंगे। ऐसा होता है भले ही हमें शराब, सिगरेट जैसी किसी बुरी चीज की लत ना हो लेकिन फिर भी हम अपनी रोज़मर्रा की जिंदगी में बहुत से ऐसे काम कर देते हैं जिससे हमारे स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचता ही है। एक शोध से मालूम हुआ है कि यदि कोई ज्यादा लंबे समय तक बैठे रहते हैं तो ऐसा करना उसके लिए धूम्रपान करने से कम खतरनाक नहीं है। हम अपने ऑफिस में कंप्यूटर पर काम करते समय, किसी का इंतजार करते वक्त, बातचीत करते हुए घंटों एक जगह जरूर बैठ रह जाते हैं।

smoking

9 हजार लोगों पर किए गए शोध के बाद यह बात पाता चली है कि एक घंटे से ज्यादा देर तक बैठने के बाद शरीर के मैटाबॉलिज्म जो की पाचन की प्रक्रिया में कमी आ जाती है, जिससे कॉलेस्ट्रॉल का स्तर नियंत्रण से बढ़ जाता है। शोधकर्ताओं के अनुसार शारीरिक मेहनत में कमी और अनियमितताओं की वजह से हार्ट से संबंधित बीमारियों की संभावना 6 फीसदी, डायबिटीज की संभावना 7 फीसदी और स्तन कैंसर की संभावना 10 फीसदी तक बढ़ जाती है।

पहले भी अमेरिका के एक शोध में इस बात का भी खुलासा हुआ था कि वहां होने वाली मौतों में 3.5 करोड़ मौतों का कारण कहीं ना कहीं मोटापा ही था। ज्यादा देर बैठने से हो सकता है मौत का खतरा जर्नल सकरुलेशन नाम की पत्रिका के अनुसार एक शोध के अनुसार, ऑफिस में काम करने वाले ज्यादतार युवा लगभग 9 से 10 घंटे तक बैठते हैं, जबकि वह केवल सात घंटे तक की ही नींद लेने में सक्षम होते हैं। इस तरह की आदत के कारण उनकी सेहत घातक परिणाम देखने को मिल सकते हैं। शोध से पता चला है कि बैठना नई पीढ़ी के लिए धूम्रपान से कम खतरनाक नहीं है। इसके अनुसार हर एक घंटा ज्यादा टीवी देखने वाले लोगों में मृत्यु का खतरा 11 फीसदी तक बढ़ जाता है। शोध में इसका कारण सीधे तौर पर ज्यादा देर तक बैठना बताया गया है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned