हिस्ट्रीशीटर और निगरानी की कुंडली की पोल खोल देगा ‘आधार’

अब एफआईआर में भी दर्ज कराया जा रहा आधार नंबर। गलत नाम और पता बताने वाले आरोपियों को खोजने में पुलिस को नहीं होगी परेशानी

By: brajesh tiwari

Published: 09 Feb 2018, 12:30 PM IST

सीहोर। हिस्ट्रीशीटर और निगरानी बस एक क्लिक दूर हैं। एक क्लिक में निगरानी और हिस्ट्रीशीटर की पोल खुल जाएगी।दरअसल, निगरानी और हिस्ट्रीशीटर के रिकार्ड के साथ पुलिस उनके आधार नंबर भी अपडेशन का काम कर रही है। इसके साथ ही एफआईआर दर्ज करते समय भी आधार नंबर लिए जा रहे जा रहे हैं।इससे बदमाश और आरोपी अपने आपको आसानी से पुलिस के शिकंजे से बचा नहीं पाएगा।

सीहोर पुलिस ने एफआईआर करते समय आधार नंबर जोडऩे की शुरूआत कर दी है। इसके साथ ही गवाह और आरोपी दोनों का आधार नंबर दर्ज होगा। एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा ने बताया कि पुलिस को बताया गया कि आरोपियों को गिरफ्तार करती है तो आधार नंबर एड किए जाए। इससे वारंट तामीली में भी आसानी होती है।क्योंकि कई मामलों में देखा जाता है कि आरोपी और गवाह अपना नाम और पता गलत दर्ज करा देते हैं।

आरोपी और गवाह का आधार नंबर दर्ज होने से उन्हें तलाश करने में आसानी होगी। आधार नंबर दर्ज होने से संबंधित व्यक्ति आसानी से बच नहीं पाएगा। ज्ञात रहे कि पुलिस ने सीसीटीएनएस सॉफ्टवेयर में एफआईआर की जा रही है। सीसीटीएनएस की एफआईआर फार्मेट में आधार कार्ड का भी कॉलम है, लेकिन आधार नंबर के कॉलम को खाली छोड़ दिया जाता था। हालांकि यदि किसी के पास आधार कार्ड नहीं है तो उसकी भी एफआईआर दर्ज की जा रही है।

हिस्ट्रीशीटर और निगरानी बदमाशों के कर रहे आधार अपडेशन
एसपी ने बताया कि हिस्ट्रीशीटर और निगरानी बदमाशों के भी आधार अपडेशन कराए जा रहे हैं।इससे आरोपी का क्रिमिनल रिकॉर्ड भी एक जगह देखा जा सकेगा। इससे बदमाश बस एक क्लिक दूर होंगे। उन्होंने बताया कि बिना आधार नंबर के गुंडा और निगरानी फाइल की स्वीकृति नहीं खोली जा रही है।

 

गुमशुदगी और अज्ञात शव का फोटो अपलोड करना जरूरी
पुलिस मुख्यालय के निर्देशों के अनुसार गुम इंसान और अज्ञात शव का फोटो सीसीटीएनएस में अपलोड करना जरूरी होगा। फोटो अपलोड होने से देशभर में गुम इंसान और अज्ञात शव का फोटो, जानकारी ऑनलाइन देखी जा सकेगी। इससे गुम इंसान और अज्ञात शव की पहचान करना करने में आसानी होगी। अब तक पुलिस गुम इंसान और अज्ञात शव की एफआईआर तो ऑनलाइन कर रही है लेकिन फोटो अपलोड नहीं कर रही। इससे परेशानी हो रही है।

Show More
brajesh tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned