तीन घंटे कतार में खड़े रहे किसान, तब कहीं मिला एक बोरी यूरिया

जिले में खत्म नहीं हो रहा यूरिया का संकट

सीहोर.
जिले में यूरिया का संकट समाप्त होने का नाम नहीं ले रहा है। यूरिया लेने किसान जहां इध-उधर भटक रहे हैं तो सोसायटियों मेें कतार में खड़ा होना पड़ रहा है। बुधवार को फिर इस तरह का ही नजारा कृषि उपज मंडी में देखने को मिला। जब एक बोरी यूरिया के लिए तीन घंटे तक किसानों को परेशानी उठाना पड़ी। उसके बावजूद खाद नहीें मिला तो खाली लौटना पड़ा।

मंडी स्थित एमपी स्टेट एग्रो डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन लिमिटेड सेंटर पर सुबह से ही किसान यूरिया लेने पहुंचना शुरू हो गए थे। सुबह 11 बजे उनकी भीड़ केंद्र पर लंबी कतार में बदल गई। किसानों ने बताया कि लंबी लाइन में तीन घंटे तक खड़ा होने के बाद भी सिर्फ एक बोरी यूरिया खाद दिया जा रहा है। यह फसल के हिसाब से काफी कम है। मजबूरी में बाजार से मंहगे भाव में खाद लाकर काम चलाना पड़ेगा। इससे नुकसान उठाना पड़ेगा।

तो खराब हो जाएगी फसल
किसानों ने बताया कि बोवनी के बाद गेहूं फसल में सिंचाई करने से पहले यूरिया की जरूरत लग रही है। यूरिया नहीं मिलने से फसल पीली पड़कर खराब होने लगी है। ऐसे में यूरिया की किल्लत दूर नहीं हुई तो फसल आंखों के सामने ही खराब हो जाएगी। उल्लेखनीय है कि मंगलवार को नसरूल्लागंज की सोसायटी में इसी तरह की भीड़ देखने को मिली थी।

पर्याप्त आ रहा है यूरिया
यूरिया की रैक लगातार आ रही है। बुधवार को भी 2600 एमटी यूरिया आया है, जिसे सोसायटियों में भेजा जा रहा है।
एसएस राजपूत, डीडीए सीहोर

Show More
Anil kumar
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned