सावधान! दूषित खाद्य सामग्री न बिगाड़ दे सेहत

खुले में बिक रही दूषित खाद्य सामग्री, अधिकारी समय पर नहीं कर रहे कार्रवाई

By: vishal yadav

Published: 25 May 2019, 08:09 PM IST

बड़वानी/सेंधवा. सावधान! दूषित खाद्य सामग्री कई आपकी सेहत ना बिगाड़ दें। नगर की अधिकतर होटलों व मुख्य मार्गों पर लगाने वाले ठेलों पर खुले में खाद्य पदार्थ, फल आदि बेचे जा रहे है। इसके अलावा गर्मी के मौसम में शरबत और कोल्डड्रिंक की दुकानों में भी मक्खियां पेय पदार्थों और फलों को दूषित कर रही है। कई व्यापारी धूप बत्ती लगाकर मक्खियों को दूर भगाने के लिए जतन कर रहे है। नपा के स्वास्थ्य अमले की ओर से अभी तक खुले में खाद्य सामग्री बेचने वालों पर कार्रवाई नहीं की जा रही है। इससे दूषित खाद्य सामग्री ग्राहकों तक पहुंच रही है। बीएमओ जेपी पंडित ने बताया कि खुले में खाद्य पदार्थों पर मक्खियां बैठने से सामग्री दूषित हो जाती है। दूषित खाद्य सामग्री पेट की बीमारियों का कारण बन जाती है।
दिनभर उड़ाती है धूल और धुआं
पुराना बस स्टैंड, एबी रोड, नया बस स्टैंड चौराहा ऐसे क्षेत्र है। जहां दिनभर बसों, भारी वाहनों सहित दोपहिया वाहनों की आवाजाही बनी रहती है। इससे धूल और धुंआ होटलों रेस्टोरेंट फल नमकीन दुकानों आदि पर मिलने वाली खाद्य सामग्री को दूषित करता है। लोगों द्वारा यही खाद्य सामग्री खाई जाती है।
लोगों को होती है बीमारियां
बीएमओ जेपी पंडित ने बताया कि मौसम में जिस तरह बदलाव हो रहे है। उससे खुले में बिकने वाली खाद्य सामग्री का सेवन नहीं करना चाहिए। इससे पेट संबंधी रोगों के साथ ही कई तरह के इंफेक्शन हो सकते है। डॉ. अर्चना पटेल ने बताया कि जिन क्षेत्रों में धूल ज्यादा उड़ाती है। दुकानदारों ने भी बनने वाली खाद्य सामग्री कांच के जार या अलमारी में रखना चाहिए।
होटलों में सफाई का अभाव
नगर की कई होटलों में सफाई का अभाव साफ दिखाई देता है। जिन सामानों से खाद्य सामग्री बनाई जाती है (तेल बेसन मैदा मसाले सब्जियों आदि) उनके भंडारण में लापरवाही बरती जा रही है। नगर के साथ ग्रामीण अंचल में भी खाद्य सामग्री का विक्रय करते समय लापरवाही बरती जा रही है। रोड किनारे लगाने वाले ठेलों और रेस्टोरेंट में दिन भर वाहनों की धूल घुसती है। खाद्य सामग्री के दूषित होने से अनजान दुकान मालिक विक्रय कर रहे है।
वर्जन...
नगर में खुले में खाद्य सामग्री बेचने वालों पर कार्रवाई करेंगे। नपा द्वारा समय-समय पर निगरानी रख व्यापारियों को समझाइश दी जाती है। वैसे कार्रवाई खाद्य विभाग को करना चाहिए
-मधु चौधरी सीएमओ नपा सेंधवा

vishal yadav Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned