10वीं 85 व 12वीं में 95 प्रतिशत रिज्लट बनाने का तय हुआ लक्ष्य

Akhilesh Kumar | Updated: 27 May 2019, 09:51:37 PM (IST) Seoni, Seoni, Madhya Pradesh, India

आगामी सत्र के लिए कार्य योजना बनाकर परीक्षा परिणामों में सुधार के दिये निर्देश

सिवनी. संभागायुक्त राजेश बहुगुणा की अध्यक्षता में जिले के परीक्षा परिणामों की समीक्षा वनवीन शिक्षा सत्र के पूर्व आगामी शिक्षण सत्र में शैक्षणिक स्तर में सुधार हेतु जिलास्तरीय समीक्षा बैठक मिशन उमावि विद्यालय में हुआ।
जिले की विभिन्न शैक्षणिक संस्थाओं में अध्ययनरत व मंडल की परीक्षाओं में राज्यस्तरीय प्रावीण्य सूची में स्थान बनाकर जिले को गौरवान्वित करने वाले विद्ययार्थियों तथा शत-प्रतिशत परीक्षा परिणाम देने वाले शासकीय हाइस्कूल गोरखपुर, सिवनी एवं शासकीय हाइस्कूल देवरीटीका धनौरा के प्राचार्य एमएल जावरे एवं जमील खान को प्रमाणपत्र देकर मंचासीन अधिकारियों ने सम्मानित किया। जिला शिक्षा अधिकारी सिवनी जीएस बघेल ने पॉवर पाइंट प्रजेंटेशन के माध्यम से जिले की शैक्षणिक संरचना, अधोसरंचना, नामांकन, विगत व वर्तमान सत्र के परीक्षा परिणामों के तुलनात्मक स्थिति, आगामी शिक्षण सत्र के लिए लक्ष्य, 30 प्रतिशत के कम परीक्षा परिणाम वाली शालाओं की जानकारी, परीक्षा परिणाम कम होने संभावित कारणों पर प्रकाश डाला। कमिश्नर बहुगुणा ने शासकीय विद्यालयों में समुचित शैक्षणिक वातावरण का निर्माण करने। विद्यालयों में स्वच्छता व सौंदर्यीकरण पर जोर देते हुए जीवन से जुड़े अनुभवों का उल्लेख कर स्वच्छता को अभियान की बजाय आदत बनाने का आव्हान किया। शिक्षकों व प्राचार्य की स्वयं की पहल व भागीदारी से शाला के विद्यार्थियों के साथ मिलकर शाला परिसर की नियमित सफाई करने के अभिनव कार्यक्रम 'मेरी शाला मेरी जिम्मेदारीÓ को स्वैच्छिक व स्वस्फूर्त रूप से अपनाने के लिए प्रेरित किया यूनिसेफ के काउंसलर शाश्वत ने पॉवर पाइंट प्रजेंटेशन के माध्यम से स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार योजना के प्रभावी क्रियान्वयन एवं विद्यालयों की शत-प्रतिशत भागीदारी सुनिश्चित करने का आव्हान किया। संयुक्त संचालक लोक शिक्षण जबलपुर राजेश तिवारी ने त्रि-आयामी योजना प्राचार्यों द्वारा अपने विद्यालय में वॉक, चॉक एवं टॉक को अपना कर शैक्षणिक गुणवत्ता को बढ़ाने का निर्देश दिया। विद्यालयों मे छात्रों की उपस्थिति बढ़ाने के लिए शिक्षकों व पालकों का व्हाटसएप समूह बनाकर शाला में अनुपस्थित रहने वाले बच्चों की सूचना उनके पालकों को देकर उनकी उपस्थिति बढ़ाने का प्रयास किया जाए। कलक्टर ने सभी प्राचार्यों को निर्देशित किया कि शिक्षकों व अध्यापकों के छठवें व सातवें वेतनमान ऐरियर्स आदि के प्रकरण तत्काल निराकृत करने एवं उनकी सेवा अभिलेखों को अद्यतन किया जाए। साथ ही 15 दिनों में अपने विद्यालय को सुंदर बनाने एवं आने वाले सत्र में अच्छे परीक्षा परिणाम देने के लिए कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए गए। कलक्टर ने आने वाले वर्ष में दसवीं का परीक्षा परिणाम 85 प्रतिशत एंव बारहवीं का परीक्षा परिणाम 95 प्रतिशत का लक्ष्य निर्धारित कर उसे प्राप्त करने के लिए सघन व सम्मिलित प्रयास किए जाए। इसके पूर्व बैठक की शुरुआत अधिकारीगणों के स्वागत अभिनंदन के साथ हुआ। मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत सिवनी मंजुषा राय, डीपीसी जेके इड़पाचे, क्षेत्र संयोजक आदिम जाति कल्याण विभाग बीके बोरकर, एडीपीसी आरएमएसए, महेश कुमार गौतम के साथ जिले के 224 शासकीय हाई एवं हायर सेकेण्डरी विद्यालयों के प्राचार्य एवं आठ विकासखण्डों के बीआरसीसी की उपस्थिति रही।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned