बिजली कटौती से नलजल योजना ठप

बारिश में पानी से परेशान ग्रामीणों का बढ़ा आक्रोश

सिवनी. मुख्यालय से महज दो किलोमीटर की दूरी पर स्थित मानेगांव में बिजली कंपनी की आंख-मिचौली से गांव में पानी की सप्लाई नहीं हो पा रही है। बिजली कंपनी के अफसर कई घंटे लाइट गुल करके रख रहे हैं। वहीं बिजली डिम रहने से भी ग्राम पंचायत को पानी सप्लाई करने में भारी परेशानी उठानी पड़ रही है।
वहीं सरपंच रामकिशोर यादव ने बताया कि पिछले डेढ़ माह से बिजली की अघौषित कटाई के चलते पानी की सप्लाई विधिवत रूप से नहीं हो पा रही है। जिसके चलते सभी परेशान हैं।
उन्होंने बताया कि उनके गांव में पहले पानी की किल्लत थी लेकिन अब मानेगांव में सरकारी कुंआ और बोर में अच्छा पानी निकल जाने से गांव में पानी की समस्या फिलहाल खत्म हो गई है लेकिन डेढ़ माह से बिजली कंपनी की मनमानी के कारण बिजली तंगा रही है। भरपूर पानी होने के बावजूद बिजली के अभाव में गांव में नलजल योजना के माध्यम से पानी की सप्लाई नहीं कर पा रहे हैं। स्थिति ये है कि गांव के लोग बिजली आएगी और नलजल योजना से पानी आएगा की उम्मीद में नलों के नीचे बड़ी संख्या में खाली बर्तनों का ढेर लगा रहता है। ग्रामीणों ने बताया कि मानेगांव क्षेत्र में कभी कई घंटों लाइट गुल रहती है तो कभी लाइट डिम हो जाती है। ऐसे में दोनों ही स्थिति में लोगों को परेशानी उठानी पड़ रही है। बिजली के अभाव में लोगों को बैचेनी का भी सामना करना पड़ रहा है। सरपंच ने बताया कि बुधवार को मानेगांव की लाइट तकरीबन सात घंटे तक गुल रही। वहीं जब रात में लाइट मिली भी तो डिम थी।
सरपंच का कहना है कि इस मामले को लेकर बिजली कंपनी के अधिकारी व लाइनमेन से बात भी की गई लेकिन कोई सटीक जवाब नहीं दे रहे हैं। ऐसे में ग्रामवासियों की नाराजगी बढ़ रही है और कभी भी ग्रामीण बिजली कंपनी की मनमानी के खिलाफ बिजली कंपनी के दफ्तर और कलेक्ट्रेट पहुंचकर हंगामा कर सकते हैं।
इनका कहना है
गांव में पानी की कमी नहीं है लेकिन बिजली की कटौती के चलते पेयजल सप्लाई में खासी दिक्कतें आ रही हैं।
राम किशोर, सरपंच, कोहका

santosh dubey
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned