शहर से गांव तक हर बच्चा पाएगा तालीम, ऐसे हो रहे हैं इंतजाम

शहर से गांव तक हर बच्चा पाएगा तालीम, ऐसे हो रहे हैं इंतजाम

Sunil Vandewar | Publish: Jun, 13 2018 03:01:01 PM (IST) Seoni, Madhya Pradesh, India

15 जून से स्कूल चलें हम अभियान का दूसरा पायदान, रणनीति बनाकर कलेक्टर कराएंगे अफसरों से अमल

सिवनी. शहर हो या गांव जो भी बच्चा शिक्षा से दूर है, उसे तलाशकर स्कूल पहुंचाने के लिए रणनीति बनाकर काम किया जाएगा। यह काम जिले में स्कूल चलें हम अभियान के दूसरा चरण में 15 जून से प्रारंभ किया जा रहा है। स्कूल शिक्षा विभाग ने कलेक्टर, जिला पंचायत सीइओ और नगर पालिका, नगर पंचायत, नगर परिषद के सीएमओ को अभियान के सफल क्रियान्वयन के संबंध में विस्तृत निर्देश जारी किए हैं।

निर्देशों में कहा गया है कि कक्षा एक से कक्षा 11वीं तक ऐसे छात्रों की पहचान की जाए, जिनका शालाओं में अप्रैल माह में प्रवेश नहीं हो पाया है। इसके साथ ही सामुदायिक सहयोग से शाला से बाहर तथा विशेष आवश्यकता वाले बच्चों को शिक्षा की मुख्य धारा में जोडऩे के लिए रणनीति तैयार की जाए। जिले में शिक्षा सत्र 2016-17 के नामांकन के आधार पर वर्ष 2017-18 में नामांकन में गिरावट वाली संस्थाओं की सूची के आधार पर समीक्षा की जाएगी।
15 जून को अनिवार्य रूप से प्रत्येक सरकारी विद्यालय में शाला प्रबंधन और विकास समिति की बैठक के साथ विशेष बालसभा का आयोजन किया जाएगा। इन सभाओं में बच्चों की नियमित उपस्थिति, दक्षता उन्नयन और पाठ्य-पुस्तकों के वितरण के संबंध में अनिवार्य रूप से चर्चा की जाएगी। प्रत्येक सरकारी विद्यालय में 18 जून को महारानी लक्ष्मीबाई के बलिदान दिवस के मौके पर देश के जवानों के प्रति श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए विशेष कार्यक्रम आयोजित करने के निर्देश दिए गए हैं। इस दिन प्रत्येक शासकीय विद्यालय में भारतीय सेना और सीमा सुरक्षा बल के जवानों तथा सेवानिवृत्त सैन्य कर्मियों को विद्यालय में आमंत्रित कर उन्हें सम्मानित किया जाएगा।
स्कूल चले अभियान के दूसरे चरण में 20 जून को प्रत्येक शासकीय विद्यालय में उन पूर्व छात्रों को विशेष रूप से आमंत्रित किया जाएगा, जो समाज में सक्रिय रहकर राष्ट्र के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन कर रहे हंै। ऐसे व्यक्तियों और छात्रों के साथ परस्पर संवाद कायम करवाया जाएगा। जिससे स्कूल के छात्र प्रोत्साहित हो सकेंगे। 22 जून को पालक सम्मेलन का आयोजन प्रत्येक सरकारी विद्यालय में करने के लिए कहा गया है। इस सम्मेलन में विद्यार्थियों के माता-पिता को आमंत्रित किया जाएगा। सम्मेलन में ऐसे वॉलेंटियर्स की उपस्थिति सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है, जो स्कूल शिक्षा विभाग के मिल बांचे कार्यक्रम, प्रणाम पाठशाला और अन्य गतिविधियों में सक्रिय रूप से जुडक़र सहयोग करते हैं।
जारी निर्देश में कहा गया है कि 15 से 30 जून तक जिले के प्रत्येक सरकारी विद्यालय में कम से कम एक कालखण्ड में खेल-कूद, साहित्य एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम के आयोजन करने के लिए कहा गया है। निर्देश में यह भी कहा गया है कि प्रत्येक सरकारी शाला भवन और छात्रावास में सफाई के लिए विशेष अभियान चलाया जाएगा। इनमें सामुदायिक सहभागिता भी रहेगी। इसके साथ ही पन्नी बीनने वाले, बेघर, अनाथ बच्चों के लिए संचालित सरकारी छात्रावासों में बच्चों का शत-प्रतिशत प्रवेश तय करने के लिए कहा गया है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned