सरकारी शिक्षक की बेटी को कर्मकार मंडल की पात्रता, छात्रवृत्ति जारी

सरकारी शिक्षक की बेटी को कर्मकार मंडल की पात्रता, छात्रवृत्ति जारी

Sunil Vandewar | Publish: Sep, 11 2018 11:57:15 AM (IST) Seoni, Madhya Pradesh, India

डीइओ से हुई शिकायत, शिक्षक पिता ने भी जांच एवं कार्रवाई का लिखा पत्र

सिवनी. शासकीय शिक्षक की बेटी के नाम कर्मकार कल्याण मंडल की पात्रता प्रदान कर छात्रवृत्ति जारी कर दिए जाने का मामला उजागर हुआ है। पालक शिक्षक संघ ने कार्रवाई के लिए डीइओ से शिकायत की है, जबकि शिक्षक एवं छात्रा के पिता ने निष्पक्ष जांच एवं दोषियों पर कार्रवाई की मांग की है। मामला शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय छींदा का है।
केवलारी ब्लॉक के शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय छींदा के पालक शिक्षक संघ द्वारा डीइओ कार्यालय पहुंचकर डीइओ एसपी लाल को शिकायत की गई थी, कि शासकीय शिक्षक की बेटी को श्रम विभाग की छात्रवृत्ति का लाभ दिया जा रहा है। डीइओ ने उन्हें लिखित शिकायत देने पर ही जांच व कार्रवाई कराए जाने की बात कही थी।
इधर कर्मकार मंडल की पात्रता के आधार पर बेटी की नाम छात्रवृत्ति जारी होने पर १२वीं कक्षा में अध्ययनरत छात्रा खुशी पटेल के पिता दिनेश कुमार पटेल, जो कि प्राथमिक शाला गुबरिया में सहायक अध्यापक हैं, इन्होंने छींदा विद्यालय के प्राचार्य को एक पत्र सौंपा है। उन्होंने कहा कि जानकारी प्राप्त हुई है कि बेटी के नाम पर कर्मकार मंडल की छात्रवृत्ति संस्था के द्वारा स्वीकृति दी गई है। शिक्षक ने कहा कि उनके द्वारा कभी छात्रवृत्ति के लिए आवेदन नहीं किया गया, न ही उक्त छात्रवृत्ति की पात्रता का कोई प्रमाण पत्र है। संस्था के द्वारा उक्त छात्रवृत्ति की पात्रता किस प्रमाण पत्र से दी गई है, यदि छात्रवृत्ति दी गई है, तो पूर्णत: गलत है। इस प्रकरण की जांच कराई जाकर स्वीकृतिकर्ता छात्रवृत्ति प्रभारी से उक्त प्रमाण पत्र के प्रमाण लिए जाएं। षणयंत्र का अंदेशा जाहिर करते कहा कि उनके नाम को बदनाम किए जाने संस्था में कार्यरत शिक्षक द्वारा ऐसा किया गया है। जांच कराते हुए छात्रवृत्ति की पात्रता से मुक्त किए जाने की मांग की है।
हुई स्वीकृति एवं भुगतान -
इस प्रकरण में छींदा विद्यालय के प्राचार्य ने सहायक अध्यापक एवं छात्रा के पिता दिनेश कुमार पटेल को पत्र के माध्यम से अवगत कराया है कि खुशी पटेल को वर्ष २०१७-१८ में कक्षा ग्यारहवीं में संस्था द्वारा समग्र शिक्षा पोर्टल के माध्यम से छात्रवृत्ति स्वीकृति एवं भुगतान किया गया है। इसकी समस्त जानकारी प्राप्त की जा रही है। विस्तृत जानकारी १५ सितम्बर तक प्रदान की जाएगी।
होनी चाहिए निष्पक्ष जांच, कार्रवाई -
पूर्व छात्रवृत्ति प्रभारी बदनाम करने इस तरह का षणयंत्र कर रहे हैं। इससे बेटी और हमें मानसिक तनाव से गुजरना पड़ रहा है। निष्पक्ष जांच कराते हुए तत्काल कार्रवाई की जानी चाहिए।
दिनेश कुमार पटेल, सहायक अध्यापक, छात्रा के पिता
कराई जा रही है जांच -
छात्रवृत्ति की कार्रवाई ऑनलाइन होती है। ऐसे में शिक्षक की बेटी के नाम कर्मकार मंडल की पात्रता सूची में कैसे आ गया, इसकी जांच कराई जा रही है। पूर्व में जिसने भुगतान किया है, उससे पूछताछ की जा रही है।
सुनील कार्तिकेय, प्रभारी प्राचार्य उमावि छींदा
जो दोषी होगा, कार्रवाई की जाएगी -
शासकीय शिक्षक की बेटी के नाम श्रम विभाग की छात्रवृत्ति जारी होने का प्रकरण संज्ञान में आया है। लिखित शिकायत मिलने पर सम्बंधित प्राचार्य से जानकारी ली जाएगी, कैसे छात्रवृत्ति जारी हो गई, जो दोषी होगी कार्रवाई निश्चित की जाएगी।
एसपी लाल, डीइओ सिवनी

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned