प्रभारी बीएसी, जनशिक्षकों की शालाओं में वापसी की शुरुआत

प्रभारी बीएसी, जनशिक्षकों की शालाओं में वापसी की शुरुआत

Sunil Vandewar | Publish: Jul, 12 2019 11:35:43 AM (IST) Seoni, Seoni, Madhya Pradesh, India

डीइओ के मार्गदर्शन पर डीपीसी कर रहे अमल

सिवनी. जिला शिक्षा अधिकारी जीएस बघेल के दिशा-निर्देश पर जिला शिक्षा केन्द्र से संलग्नीकरण समाप्त करते हुए तीन शिक्षकों को शालाओं में लौटने के आदेश दिए गए हैं। दूसरी तरफ डीपीसी का कहना है कि जल्द ही चार साल से अधिक समय से जनशिक्षक, बीएसी, सीएसी बने बैठे शिक्षकों को भी कार्यमुक्त कर नई प्रक्रिया अमल में लाई जाएगी।
जिला शिक्षा केन्द्र से प्राप्त जानकारी के अनुसार बरघाट के प्रभारी बीएसी महेन्द्र पटले उच्च श्रेणी शिक्षक को शिक्षण कार्य के लिए शासकीय कन्या शाला बरघाट। प्रभारी बीएसी रक्षानंद झा सहायक अध्यापक को प्राथमिक शाला पौनार। गुमानसिंह बघेल प्रभारी जनशिक्षक सहायक अध्यापक जैतपुरकला को आदेश जारी किए गए हैं। सिवनी बीआरसीसी राहुल प्रताप सिंह ने कहा कि जनशिक्षकों के अधिकांश पद रिक्त हैं, ऐसे में कार्य व्यवस्था प्रभावित न हो, इसी आग्रह के साथ बघेल को प्रभार से मुक्त न किए जाने का प्रस्ताव वरिष्ठ कार्यालय को भेजा गया है।
नई प्रतिनियुक्ति में ये होगा अहम -
डीपीसी जेके इड़पाचे ने बताया कि आगामी सप्ताह में नई प्रतिनियुक्ति प्रक्रिया को अमल में लाने के लिए प्रयास हो रहे हैं। सब कुछ ठीक रहा तो नई प्रक्रिया के आवेदन लेकर, काउंसलिंग होगी। इसमें इस बात का ध्यान रखा जाएगा, कि ४९ वर्ष से अधिक उम्र के शिक्षक को पात्रता नहीं होगी। जो वर्तमान में जनशिक्षक या अन्य पद पर हैं, वे काउंसलिंग में तो शामिल होंगे, किंतु पुन: दायित्व मिलने पर उन्हें जनशिक्षा केन्द्र बदलकर स्थान दिया जाएगा। यह व्यवस्था में पारदर्शिता बनाए रखने के उद्देश्य से किया जाएगा।

आरटीई के प्रवेश व रिपोर्टिंग तिथि में वृद्धि

नि:शुल्क एवं अनिवार्य बाल शिक्षा का अधिकार अधिनियम के अंतर्गत कमजोर वर्ग एवं वंचित समूह के बच्चों को सत्र २०१९-२० में गैर अनुदान मान्यता प्राप्त अशासकीय स्कूलों में नि:शुल्क प्रवेश के लिए ऑनलाइन आवेदन करने के पश्चात सत्यापन अधिकारियों द्वारा किए गए सत्यापन उपरांत पात्र पाए गए बच्चों में से हुई ऑनलाइन लॉटरी के माध्यम से स्कूलों का आवंटन किया जा चुका है। जिन बच्चों को सत्र २०१९-२० में नि:शुल्क प्रवेश के लिए आवंटन हुआ है एवं अभी तक उनके द्वारा आवंटित स्कूल में प्रवेश नहीं लिया गया है, तो उन्हें प्रवेश लेने के लिए अंतिम अवसर देते हुए प्रवेश की अंतिम तिथि तथा अशासकीय स्कूलों द्वारा भी मोबाइल एप से एडमिशन रिर्पोटिंग दर्ज करने के लिए अंतिम तिथि २० जुलाई तक कर दी गई है। यदि प्रवेश लेने के उपरांत भी कोई बच्चा एडमिशन रिपोर्टिंग के लिए शेष रह जाता है तो सम्बंधित स्कूल ही व्यक्तिश: उत्तरदायी होंगे। उक्त आदेश पत्र जिला शिक्षा अधिकारी, परियोजना अधिकारी को राज्य शिक्षा केन्द्र की संचालक आइरीन सिंथिया जेपी के द्वारा दिया गया है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned