गैरहाजिर रहे सिवनी, घंसौर बीआरसीसी व अन्य आठ शिक्षक

गैरहाजिर रहे सिवनी, घंसौर बीआरसीसी व अन्य आठ शिक्षक

Sunil Vandewar | Publish: Jun, 14 2019 12:25:48 PM (IST) Seoni, Seoni, Madhya Pradesh, India

अब दो-दो दिन के वेतन काटने की होगी कार्रवाई

सिवनी. शिक्षक प्रशिक्षण कार्यक्रम में शामिल न होने पर सिवनी एवं घंसौर बीआरसीसी के दो-दो दिवस के वेतन काटने की कार्रवाई की जाएगी। यह बात प्रशिक्षण प्रभारी एमके सैयाम द्वारा कही गई है।
बताया कि प्रशिक्षण आदेश में स्पष्ट कहा गया है कि आगामी दिनों में शुरु होने जा रहे शिक्षण सत्र के प्रारंभिक दिनों में हाइस्कूल की कक्षा ९वीं के छात्र-छात्राओं को गणित, अंग्रेजी एवं हिन्दी विषय के ब्रिजकोर्स की कक्षाएं लगाई जानी हैं। इससे पूर्व ब्रिजकोर्स संचालन के लिए शिक्षकों का प्रशिक्षण जिला मुख्यालय के एमएलबी स्कूल में आयोजित हो रहा है। इस प्रशिक्षण में विभिन्न शाला में पदस्थ शिक्षकों को भेजे जाने के लिए संस्था प्राचार्य को निर्देशित किया गया है। राज्य स्तर से अनुमति प्राप्त किए बिना किसी भी शिक्षक को अनुपस्थित न रहने की हिदायत भी दी गई है।
प्रशिक्षण प्रभारी ने बताया कि अंग्रेजी विषय के प्रशिक्षण के लिए जिन १२० शिक्षकों की सूची प्राप्त हुई है, उनमें से १० शिक्षक अनुपस्थित रहे हैं। इनमें सिवनी बीआरसीसी राहुल प्रताप सिंह एवं घंसौर बीआरसीसी का जिम्मा सम्भाल रहे मनीष मिश्रा का भी नाम है। नियम अनुसार इन्हें प्रशिक्षण में शामिल होना था या फिर विमर्श पोर्टल से अपना नाम हटवा लेना था। इन्होंने इस पर गंभीरता नहीं दिखाई और इस महत्वपूर्ण प्रशिक्षण में शामिल नहीं हुए। इसलिए गैरहाजिर रहने पर निर्देश अनुसार दो-दो दिन का वेतन काटा जाएगा।
गौरतलब है कि छपारा ब्लॉक के शासकीय हाइ स्कूल अंजनिया में अंग्रेजी विषय के शिक्षक राहुल प्रताप सिंह वर्तमान में सिवनी बीआरसीसी हैं। इसी तरह घंसौर विकासखण्ड के शासकीय हाइस्कूल पहाड़ी में पदस्थ अंग्रेजी के शिक्षक एवं प्रभारी प्राचार्य मनीष मिश्रा वर्तमान में घंसौर बीआरसीसी की जिम्मेदारी निभा रहे हैं।
ऑनलाइन लग रही है हाजिरी -
प्रभारी जिला शिक्षा अधिकारी जीएस बघेल के हस्ताक्षर से जारी प्रशिक्षण आदेश में कहा गया है कि शिक्षकों के दो दिवसीय ब्रिजकोर्स प्रशिक्षण में हाजिरी ऑनलाइन ली जा रही है। सुबह १० बजे के बाद आने वाले शिक्षकों को गैरहाजिरी मानकर कार्रवाई की जा रही है। प्रशिक्षण के लिए प्रावधानित राशि की वसूली भी गैरहाजिर शिक्षक के वेतन से होनी है। इसके साथ ही गैरहाजिर शिक्षकों का दो दिवस का वेतन काटने व अगले दिवस ट्रेनिंग में स्वयं के व्यय पर हाजिर होना होगा। शिक्षकों को यात्रा कर प्रशिक्षण केन्द्र में आने पर बस की टिकट प्रस्तुत करने पर भुगतान किया जाएगा।
किसने, क्या कहा -
राहुल प्रताप सिंह, बीआरसीसी सिवनी ने कहा कि प्राचार्य के द्वारा मुझे प्रशिक्षण से सम्बंधित कोई जानकारी नहीं मिली है। जानकारी मिलती तो विभागीय अधिकारी से निर्देश प्राप्त कर, प्रशिक्षण में जाना है या नहीं, जैसा कहा जाता वैसा आदेश पालन किया जाता। ऐसा क्यों हुआ, जानकारी ली जाएगी। मनीष मिश्रा, बीआरसीसी घंसौर ने कहा कि पहाड़ी हाइस्कूल में प्रभारी प्राचार्य भी मैं ही हूं। लेकिन मेरी जानकारी में प्रशिक्षण का कोई आदेश नहीं है। प्राचार्य और बीआरसीसी दोनों कार्य कर पाने में समस्या है। प्राचार्य का प्रभार किसी और मिलना चाहिए। एमके सैयाम प्रशिक्षण प्रभारी ने बताया कि सभी सम्बंधित प्राचार्यों को ई-मेल के माध्यम से सूचना भेजी गई है। जो शिक्षक प्रशिक्षण में शामिल नहीं हुए हैं, उनका दो दिवस का वेतन कटेगा। ऑनलाइन हाजिरी लग रही है, देरी से आने पर भी गैरहाजिर माना जा रहा है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned