अध्यापकों को भुगतान के आदेश फिर भी नहीं मिली राशि

अध्यापकों को भुगतान के आदेश फिर भी नहीं मिली राशि

Sunil Vandewar | Publish: Jul, 21 2019 03:38:35 PM (IST) Seoni, Seoni, Madhya Pradesh, India

संवर्ग की समस्या सम्बंधी सौंपा आवेदन

सिवनी. अध्यापकों की विभिन्न समस्याओं को लेकर अध्यापक संविदा शिक्षक संघ मध्य प्रदेश राज्य कर्मचारी संगठन के जिला अध्यक्ष श्रवण कुमार डहरवाल द्वारा जिला शिक्षा अधिकारी एवं सहायक आयुक्त को पत्र लिखकर कहा गया है कि गुजरते समय के साथ अध्यापक संवर्ग की समस्याओं में कमी आने के बजाय वृद्धि हो रही है। समस्त समस्याओं का निराकरण अति शीघ्र करने को कहा गया है। बताया कि अब तक अध्यापक संवर्ग प्राथमिक, माध्यमिक, उच्च माध्यमिक शिक्षकों को सातवां वेतनमान का फायदा नहीं मिला है। यहां तक कि छठे वेतनमान की प्रथम और द्वितीय किस्त का एरियर भुगतान के भी शासन द्वारा कई बार आदेश जारी होने के बाद अब तक का अप्राप्त है।
कहा कि शिक्षा विभाग में प्रयोगशाला सहायकों को प्राथमिक शिक्षक में संविलियन अभी तक नहीं हुआ। ट्राइबल ब्लॉक में जन शिक्षक पद पर कार्य कर रहे अध्यापकों का अभी तक संविलियन आदेश जारी नहीं हुई है। इनके अलावा अनेक अध्यापक ऐसे हैं, जिन्हें तीन-चार माह से वेतन अप्राप्त है क्योंकि कुछ के प्रान नंबर नहीं है, कुछ अध्यापकों की डाटा एम्पलाई कोड जनरेट नहीं हो पा रहे हैं, कुछ अध्यापकों के बैंक के अकाउंट सही नहीं हैं। डीए, एरियस भुगतान के लिए समय-समय पर शासन द्वारा आदेश जारी किए जाने के बावजूद भी महंगाई भत्ते का एरियर एवं हड़ताल अवधि का वेतन अब तक अप्राप्त है। अधिकारियों द्वारा जिम्मेदार कर्मचारी पर किसी भी प्रकार की कोई कार्रवाई नहीं हुई है।
डहरवाल ने आरोप लगाते कहा कि इन सब समस्याओं का कारण कार्यालय में बैठे लापरवाह कर्मचारी हैं और इन पर कठोर कार्रवाई होना चाहिए, फिर भी कारण जो भी हो लेकिन अध्यापकों को भारी आर्थिक समस्या का सामना करना पड़ रहा है।
पत्र में यह भी मांग किया गया है कि अब उच्च माध्यमिक शिक्षक द्वितीय श्रेणी के कर्मचारी अधिकारी हो गए हैं। इसलिए शासन के आदेश अनुसार आहरण संवितरण अधिकार मिलना चाहिए। पत्र मे जिला शिक्षा अधिकारी एवं सहायक आयुक्त को आदेश जारी करने के लिए भी लिखा गया है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned