scriptThe officers of the Food Department, who reached the paddy procurement | धान उपार्जन केन्द्र कलबोड़ी पहुंचे खाद्य विभाग के अधिकारियों को किसानों ने बनाया बंधक | Patrika News

धान उपार्जन केन्द्र कलबोड़ी पहुंचे खाद्य विभाग के अधिकारियों को किसानों ने बनाया बंधक

अधिकारियों पर किसानों ने लगाया अभद्रता का आरोप, कुरई पुलिस से शिकायत

सिवनी

Updated: January 20, 2022 10:29:38 am

सिवनी/मोहगांव. धान उपार्जन केन्द्र पर किसानों की परेशानी कम होने का नाम नहीं ले रही है। खरीदी का समय कम होने से किसान अपनी उपज बेचने के लिए परेशान है। प्रशासन धान उपार्जन केन्द्रों पर किसानों से खरीदी की पर्याप्त व्यवस्था नहीं कर पाई है, जिसकी वजह से किसान निर्धारित समय में अपना धान नहीं बेच पाएंगे। इसकी जानकारी के बाद से ही उनमें आक्रोश नजर आ रहा है। इन सबके बीच कलबोड़ी वेयरहाउस पर किसान धान कब और कैसे बेचेंगे? यह पूछने के लिए पहुंचे थे। उसी समय खाद्य आपूर्ति विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंचे। किसानों का आरोप है कि अधिकारी ने उनसे अभद्रता की। इस पर उन लोगों ने उनको बंधक बना लिया। कुरई पुलिस को दूरभाष पर इसकी सूचना दिए। कलबोड़ी वेयरहाउस पर उस समय सैकड़ों की संख्या में किसान मौजूद थे।
किसानों का कहना है कि सायं करीब 4.00 बजे खरीदी केंद्र पर खाद्य आपूर्ति निरीक्षक चौधरी व कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी उदय पहुंचे। किसानों का आरोप है कि निरीक्षक ने पहुंचते ही किसानों से दुव्र्यहार शुरू कर दिया। कुछ देर बाद किसानों के बीच निरीक्षक के साथ केन्द्र पर पहुंचे कनिष्ठ आपूर्ति निरीक्षक ने बताया कि वे लोग केन्द्र पर केवल यह जानने आए थे कि कितने किसानों से कितनी खरीदी हुई है। इस पर किसानों ने निरीक्षक द्वारा अभद्रता करने की बात कही तो वे इसका जवाब नहीं दे पाए। किसानों ने पूरे मामले की वीडियो बनाई है। किसानों का कहना है कि शासन किसानों को परेशान नहीं करने की बात कर रही है और धरातल पर उनके नुमाइंदे निजी हित को लेकर अभद्रता कर रहे हैं। जिला आपूर्ति विभाग व नागरिक आपूर्ति निगम के अधिकारियों का व्यवहार सही नहीं है। दोनों कार्यालय के अधिकारी/कर्मचारी किसानों की समस्या का समाधान करने के बजाए मूकदर्शक बने हुए हैं।
धान उपार्जन केन्द्र कलबोड़ी पहुंचे खाद्य विभाग के अधिकारियों को किसानों ने बनाया बंधक
धान उपार्जन केन्द्र कलबोड़ी पहुंचे खाद्य विभाग के अधिकारियों को किसानों ने बनाया बंधक
बाक्स -
52950 किसानों से अब तक 395839ण्197 मेट्रिक टन धान उपार्जित
सिवनी. जिला आपूर्ति अधिकारी से मिली जानकारी अनुसार जिले में मंगलवार तक 121 उपार्जन केंद्रों के माध्यम से 52950 पंजीकृत किसानों से 395839.197 मेट्रिक टन धान का उपार्जन किया जा चुका है। इसमें से 71.40 प्रतिशत का परिवहन कर भंडार केंद्रों में भंडारित किया जा चुका है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

मुस्लिम पक्षकार क्यों चाहते हैं 1991 एक्ट को लागू कराना, क्या कनेक्शन है काशी की ज्ञानवापी मस्जिद और शिवलिंग...दिल्ली के अशोक विहार के बैंक्वेट हॉल में लगी आग, 10 दमकल मौके पर मौजूदभारत में पेट्रोल अमेरिका, चीन, पाकिस्तान और श्रीलंका से भी महंगाकर्नाटक के राज्यपाल ने धर्मांतरण विरोधी विधेयक को दी मंजूरी, इस कानून को लागू करने वाला 9वां राज्य बनाSwayamvar Mika Di Vohti : सिंगर मीका का जोधपुर में हो रहा स्वयंवर, भाई दिलर मेहंदी व कॉमेडियन कपिल शर्मा सहित कई सितारे आएIPL 2022 MI vs SRH Live Updates : 16 ओवर के बाद हैदराबाद 2 विकेट के नुकसान पर 164 रन पर, त्रिपाठी ने बनाया शानदार अर्धशतकहिमाचल प्रदेश: सीएम जयराम ने किया एलान, पुलिस भर्ती पेपर लीक मामले की जांच करेगी CBIज्ञानवापी मामले में काशी से दिल्ली तक सुनवाई: शिवलिंग की जगह सुरक्षित की जाए, नमाज में कोई बाधा न हो
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.