एक साथ इतने बच्चों को खिलाई गई दवा

दूसरा चरण 15 फरवरी को, 4 लाख 15 हजार का लक्ष्य

By: shivmangal singh

Published: 10 Feb 2018, 08:48 AM IST

शहडोल. राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस के उपलक्ष्य में शुक्रवार को कलेक्टर नरेश पाल के मार्गदर्शन एवं शासन की मंशानुसार 01 से 19 वर्ष तक के बच्चों को कृमि नाशक दवा का सेवन कराया गया। इस संबंध में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा. राजेश पाण्डेय ने बताया कि जिले के लगभग ४ लाख १५ हजार बच्चों को दवा खिलाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। जिसके विपरीत शुक्रवार को पहले चरण में लगभग 2 लाख 25 हजार बच्चों को दवा खिलाई गई। शेष बच्चों को दूसरे चरण यानि 15 फरवरी को दवा खिलाई जायेगा।
नगर में इसका शुभारंभ उर्मिला कटारे अध्यक्ष नगर पालिका शहडोल के द्वारा स्थानीय सेंटर एकेडमी स्कूल शहडोल में बच्चो को कृमिनाशक गोली एलबेण्डाजोल खिलाकर किया गया। इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा एंव स्वास्थ्य अधिकारी डा. राजेश पाण्डेय ने कृमि मुक्ति दिवस की आवश्यकता एवं महत्व के बारे में बताते हुये कहा कि, कृमि के संक्रमण से बच्चो की शारीरिक एंव बौद्धिक क्षमता कम होती है और बच्चो में पोषण का स्तर गिरता है तथा खून की कमी होती है। स्वच्छता में कमी, खुले में शौच जाने से यह परिजीवी मिट्टी में मिल जाता है और नंगे पैर चलने पर बच्चे के शरीर में प्रवेश कर जाता है। जिससे बच्चा कृमि से संक्रमित हो जाता है, नैतिक जिम्मेदारी के साथ-साथ नैतिक शिक्षा की आवश्यकता है। इस अवसर पर डी एच ओ-2 डा. अंशुमान शर्मा, अर्बन शहडोल की प्रभारी डा. शेफाली वारिया, स्कूल प्रभारी संजय मिश्रा, डी पी एम मनोज द्विवेदी, डीसीएम रामगोपाल गुप्ता एंव अन्य स्वास्थ्य विभाग के कार्यकर्ता उपस्थित थे। उल्लेखनीय है कि दवा खिलाने के पीछे शासन की मंशा है कि बच्चों को कृमि बीमारियों से बचाया जा सके। राष्ट्रीय कृमि मुक्त दिवस के अवसर पर जिले के समस्त शासकीय अशासकीय विद्यालयों में छात्रों को कृमि नाशक दवाओं का सेवन कराया गया। साथ ही उन्हे इसके महत्व के विषय में भी समझाया गया।

shivmangal singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned