scriptRoster will be made for village-village ration supply, the duty of the | गांव-गांव राशन सप्लाई का बनेगा रोस्टर, अधिकारियों की ड्यूटी तय, निरीक्षण कर भेजनी होगी फोटो | Patrika News

गांव-गांव राशन सप्लाई का बनेगा रोस्टर, अधिकारियों की ड्यूटी तय, निरीक्षण कर भेजनी होगी फोटो

राशन वाहन पहुंचने से एक दिन पहले गांव में होगी मुनादी, हर मंगलवार कलेक्टर करेंगी समीक्षा

शाहडोल

Published: May 15, 2022 09:33:20 pm


खाद्य, सहकारिता, नागरिक आपूर्ति निगम और सहकारी बैंक अधिकारियों की कलेक्टर ने ली बैठक
प्रमुख सचिव ने अधिकारियों को किया तलब, योजना में लापरवाही पर प्रशासन से मांगी रिपोर्ट
शहडोल. मुख्यमंत्री राशन आपके ग्राम योजना में लापरवाही पर प्रशासन ने अधिकारियों की बैठक लेकर रणनीति बनाई। अब गांव-गांव राशन सप्लाई के लिए रोस्टर बनेगा। निरीक्षण के लिए अधिकारी-कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है। इतना ही नहीं, निरीक्षण के साथ अधिकारियों को राशन वाहन के साथ फोटो भी भेजनी होगी। समय पर गांव में राशन न पहुंचने पर भुगतान में कटौती के साथ अधिकारी-कर्मचारियों पर भी कार्रवाई होगी। 15 मई को कलेक्टर वंदना वैद्य ने खाद्य, सहकारिता, नागरिक आपूर्ति निगम एवं जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक के अधिकारियों के साथ बैठक लेकर समीक्षा की।
गांव-गांव राशन सप्लाई का बनेगा रोस्टर, अधिकारियों की ड्यूटी तय, निरीक्षण कर भेजनी होगी फोटो
गांव-गांव राशन सप्लाई का बनेगा रोस्टर, अधिकारियों की ड्यूटी तय, निरीक्षण कर भेजनी होगी फोटो
कलेक्ट्रेट कॉल सेंटर से जाएगा फोन, हर मंगलवार होगी समीक्षा
बैठक में कलेक्टर ने निर्देश दिए कि अब वाहन हितग्राहियों के पास कलेक्ट्रेट के कॉल सेंटर से फोन जाएगा। कॉल सेंटर से पूछा जाएगा कि कब राशन उठाया और गांव में कब वितरित करना है। राशन वितरण नहीं हुआ है तो वजह बतानी होगी। हर सप्ताह पत्रक बनेगा। मंगलवार को कलेक्टर इसकी समीक्षा करेंगी। यदि राशन उठाव की समस्या है तो दुकान के विक्रेता से कॉल सेंटर से संपर्क किया जाएगा और यदि दुकानों को खाद्यान्न नहीं मिला है तो अधिकारियों का नाम पत्रक में लिखेंगे व जानकारी लेंगे।
सचिव, रोजगार सहायकों को बनाया नोडल अधिकारी
बैठक में निर्णय लिया गया कि ग्राम सचिव और रोजगार सहायक को मॉनीटरिंग के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त किया जाता है। इनकी निगरानी में राशन वितरण होगा। इसके अलावा सिविल सप्लाइज कार्पोरेशन और खाद्य विभाग के अधिकारी हर 15 दिन में औचक निरीक्षण करेंगे। इन अधिकारियों को निगरानी के साथ राशन वितरण के वक्त फोटो लेकर कलेक्टर को भेजनी होगी।
एक दिन पहले होगी मुनादी, बताएंगे कब और कौन सा वाहन आएगा
बैठक में अधिकारियों को निर्देश दिए गए कि जिन गांवों में राशन वितरण के लिए वाहन भेजना है, वहां पर एक दिन पूर्व मुनादी कराई जाए। ग्रामीणों को यह भी बताया जाए कि कब और कौन सा वाहन पहुंचेगा। इसके अलावा दुकानों में भी नंबर वाहन चालकों का नंबर भी लिखवाया जाएगा। जिससे राशन सप्लाई वाहन के मूवमेंट की जानकारी ग्रामीण फोन कर ले सकेंगे।
वितरण के बाद ही होगा भुगतान, लापरवाही पर होगी कटौती
बैठक में निर्देश कि हर माह समीक्षा की जाए कि कहां राशन का वितरण हुआ है और कहां पर राशन नहीं पहुंचा है। जहां पर नहीं पहुंचा है, वहां पर भुगतान रोका जाएगा। वाहन से राशन वितरण न करने पर भुगतान में कटौती की भी कार्रवाई करनी होगी। भुगतान करने पर अधिकारियों की जिम्मेदारी तय होगी।
पत्रिका ने उठाया था मुद्दा
मुख्यमंत्री राशन आपके ग्राम योजना में लापरवाही बरती जा रही थी। सलाना करोड़ों रुपए खर्च के बावजूद गांव तक वाहन नहीं पहुंच रहे थे। आदिवासियों को राशन के लिए 10 से 15 किमी दूर पैदल चलना पड़ रहा था। पत्रिका की खबर के बाद प्रमुख सचिव व अधिकारियों ने सख्ती दिखाते हुए प्रशासन से रिपोर्ट तलब की। जिसके बाद प्रशासन ने बैठक करते हुए रणनीति बनाई है।
मुख्यमंत्री राशन आपके ग्राम योजना को लेकर आज समीक्षा बैठक ली गई। निगरानी के लिए अधिकारियों की ड्यूटी तय की है। निरीक्षण के साथ फोटो रिपोर्ट भेजनी होगी। गांव-गांव राशन वितरण का रोस्टर बनाया गया है। कॉल सेंटर से फोन जाएगा, जिसकी हर मंगलवार मैं खुद समीक्षा करूंगी।
वंदना वैद्य, कलेक्टर शहडोल
--------------------
राशन लेकर पहली बार महरौड़ी पहुंचा वाहन, हितग्राही बोले- पत्रिका ने दिलाई राहत
जिले के ग्राम महरौड़ी में पहली बार मुख्यमंत्री राशन प्रदाय योजना का वाहन पहुंचा। जिसे देख यहां के आदिवासी परिवारों के चेहरे खिल उठे। वाहन से घर-घर जाकर हितग्राहियों को राशन वितरण किया गया। अब यहां के हितग्राहियों को राशन के लिए चिलचिलाती धूप में कई किमी की पैदल यात्रा नहीं करनी पड़ेगी। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री राशन प्रदाय योजना के तहत चिन्हित गांवो तक वाहन के माध्यम से राशन पहुंचाने की योजना है। बावजूद इसके जिले के महरौड़ी गांव के हितग्राहियों को इस योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा था। राशन लेने के लिए लगभग 18 किमी दूर ग्राम पंचायत भमला जाना पड़ता था। जिसके चलते उनका पूरा दिन बीत जाता था। महरौड़ी के हितग्राहियों की इस समस्या का अब समाधान हो गया है। मुख्यमंत्री राशन आपके ग्राम योजना के तहत राशन वाहन महरौड़ा पहुंचा। यहां पर वाहन गांव के भीतर तक नहीं पहुंचा तो पड़ोस के गांव घोरवे में राशन वितरण कराया गया।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

बिहार सीएम की शपथ लेने के साथ अपने ही रिकॉर्ड तोड़ने से चूके Nitish Kumar, 24 अगस्त को साबित करेंगे बहुमतपीएम मोदी का कांग्रेस पर बड़ा हमला, कितना भी 'काला जादू' फैला लें कुछ होने वाला नहींMumbai: सिंगर सुनिधि चौहान के खिलाफ शिवसेना ने पुलिस में दर्ज कराई शिकायत, पाकिस्तान स्पॉन्सर कार्यक्रम का लगाया आरोपदेश के 49वें CJI होंगे यूयू ललित, राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने नियुक्ति पर लगाई मुहरकश्मीरी पंडित राहुल भट्ट की हत्या का बदला हुआ पूरा, सुरक्षाबलों ने तीन आतंकियों को मार गिरायासुनील बंसल बने बंगाल बीजेपी के नए चीफ, कैलाश विजयवर्गीय की हुई छुट्टीसुप्रीम कोर्ट से नूपुर शर्मा को बड़ी राहत, सभी FIR को दिल्ली ट्रांसफर करने के निर्देशBihar Mahagathbandhan Govt: नीतीश कुमार ने 8वीं बार ली बिहार के CM पद की शपथ, तेजस्वी यादव बने डिप्टी सीएम
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.