चिन्मयानंद प्रकरण: संत समाज ने की छात्रा पर कार्रवाई की मांग

चिन्मयानंद प्रकरण: संत समाज ने की छात्रा पर कार्रवाई की मांग
chinmayanand rape case

suchita mishra | Updated: 23 Sep 2019, 12:11:38 PM (IST) Shahjahanpur, Shahjahanpur, Uttar Pradesh, India

 

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरि का कहना है कि चिन्मयानंद से 5 करोड़ रुपए की रंगदारी मांगने के मामले में लॉ छात्रा के खिलाफ भी कानूनी कार्रवाई की जानी चाहिए।

शाहजहांपुर। स्वामी चिन्मयानंद प्रकरण में संत समाज ने यौन शोषण का आरोप लगाने वाली छात्रा पर भी कार्रवाई की मांग की है। इस मामले में अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरि का कहना है कि चिन्मयानंद से 5 करोड़ रुपए की रंगदारी मांगने के आरोप में तीन युवक गिरफ्तार किए जा चुके हैं, लेकिन इस मामले में यौन शोषण का आरोप लगाने वाली लॉ छात्रा भी शामिल है, लिहाजा उसके खिलाफ भी कानूनी कार्रवाई की जानी चाहिए। नरेंद्र गिरि ने आशंका जताई है कि कोई संस्था साधु-संतों को बदनाम करने की साजिश रच रही है। हालांकि इस मामले में उन्होंने चिन्मयानंद के कृत्य को शर्मनाक बताते हुए उन्हें जल्द ही संत समाज से बहिष्कृत किए जाने के की भी बात कही।

अंतिम फैसले से पहले चिन्मयानंद को मिलेगा पक्ष रखने का मौका
नरेंद्र गिरि कहा कि 10 अक्टूबर को अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद की बैठक होगी, जिसमें यौन शोषण के आरोप में जेल भेजे गए पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद से संत समाज से बाहर करने का ऐलान किया जाएगा। लेकिन अंतिम फैसले से पहले अखाड़ा परिषद चिन्मयानंद को अपना पक्ष रखने का पर्याप्त समय देगा।

चिन्मयानंद के कृत्य से बदनाम हो रहा संत समाज
उन्होंने कहा कि चिन्मयानंद महानिर्वाणी अखाड़े के महामंडलेश्वर हैं, लेकिन उन्होंने जो कृत्य किया है, उससे पूरे संत समाज की बदनामी हो रही है। जब तक कोर्ट से वे निर्दोष साबित नहीं होते, तब तक उन्हें संत समाज से बहिष्कृत रहना पड़ेगा। मठ के आदेशों का शीर्ष निकाय भी उन्हें महानिर्वाणी अखाड़े से बहिष्कृत करेगा। इसके लिए जल्द ही हरिद्वार में 13 अखाड़ों के साधु-संत मौजूदगी में बैठक का आयोजन किया जाएगा।

आज एसआईटी हाईकोर्ट में सौंपेगी स्टेट्स रिपोर्ट
बता दें कि चिन्मयानंद पर उन्हीं के लॉ कॉलेज में पढ़ने वाली एक छात्रा ने यौन शोषण के आरोप लगाया था। इस मामले में चिन्मयानंद को शुक्रवार को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। पूरे मामले की जांच एसआईटी कर रही है। आज एसआईटी हाईकोर्ट में अपनी स्टेट्स रिपोर्ट सौंपेगी। वहीं चिन्मयानंद से पांच करोड़ की रंगदारी मांगने के आरोप में पीड़िता पर भी कानूनी शिकंजा कसे जाने की तलवार लटक रही है। गिरफ्तारी से बचने के लिए छात्रा भी प्रयागराज पहुंच गई है। उम्मीद की जा रही है कि पीड़िता इस मामले में आज अग्रिम जमानत की याचिका दायर कर सकती है।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned