कथा से पहले निकाली भव्य कलश यात्राएं


नागदा व दांतरदा में श्रीमद्भागवत कथा आयोजित

Grand Kalash Yatras taken out before the story, news in hindi, mp news, sheopur news

श्योपुर. ग्राम नागदा स्थित श्रीगणेश मंदिर पर गुरुवार से श्रीमद् भागवत कथा शुरू हुई। इससे पहले कलश यात्रा निकाली गई, जिसमें नागदा, नगदी और हांसापुरा तीन गांव के लोगों ने भागीदारी की।

यही वजह रही कि सैकड़ों की संख्या में सिर पर कलश धारण किए महिलाएं और साथ में चल रहे श्रद्धालुओं से कलश यात्रा भव्य हो गई। तीनों गांंवों के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित कथा के लिए नागेश्वर मंदिर से ये कलश यात्रा प्रारंभ हुई और नागदा के गणेश मंदिर पर पहुंचकर संपन्न हुई। इसके बाद कलश पूजन उपरांत कथा वाचक पं.पुनीत शर्मा ने कथा वाचन प्रारंभ किया। इस दौरान उन्होंने कथा का महत्व बताते हुए कहा कि भागवत कथा के श्रवण मात्र से पुण्य लाभ अर्जित होता है।

गुुरुवार से दांतरदा गांव स्थित श्रीलक्ष्मीनाथ मंदिर में भागवत कथा का शुभारंभ हुआ। कथा से पूर्व कलश यात्रा निकाली गई। कलश यात्रा में महिलाएं सिर पर कलश धारण किए हुए चल रही थीं। कथा में पहले दिन कथावाचक पंडित राहुल पाराशर ने ने भक्तों को भागवत कथा का महत्व बताया। साथ ही भक्ति नारद संवाद का वर्णन किया।उन्होंने भक्तों को ज्ञान और वैराग्य की कथा सुनाई। कथावाचक ने कहा कि मनुष्य निजी स्वार्थ के कारण ही भक्ति और ज्ञान से दूर हो रहा है। उन्होंने कहा कि संतों और गुरु के साथ रहने से मनुष्य को ज्ञान मिलता है और मनुष्य भक्ति के मार्ग पर चलकर मोक्ष के मार्ग पर बढ़ता है। उन्होंने भक्तों से कहा कि लोग समय का बहाना बनाकर भक्ति से दूर होते जा रहे हैं। हमें प्रभु की आराधना के लिए भी समय प्रतिदिन निकालना चाहिए।

संजय तोमर Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned