-जो थे समिति में,उनको ही आंवटित कर दिए आवास

-स्वास्थ्य विभाग की आवास आवंटन प्रक्रिया पर उठे सवाल
-मामला जिला अस्पताल में बने चार डॉक्टर आवासों के आंवटन का

By: Laxmi Narayan

Published: 24 May 2020, 07:01 AM IST

श्योपुर,
जिला अस्पताल परिसर में डॉक्टरों के लिए बने चार नवीन आवासों का आवंटन स्वास्थ्य विभाग ने कर दिया है। मगर आवास आंवटन की प्रक्रिया पर सवाल खड़े हो गए है। क्योंकि स्वास्थ्य विभाग के अफसरों ने चहेते डॉक्टरों को ही आवासो का आंवटन किया गया। इससे नियम कायदो की अनदेखी हो गई। वहीं जिला अस्पताल के ऐसे डॉक्टर भी आवास से वंचित रह गए,जो किराए से रहने को विवश हो रहे है।
खास बात तो यह हैकि दो आवास तो ऐसे डॉक्टरो को आंवटित कर दिए गए, जो आवास आंवटन समिति में शामिल थे। स्वास्थ्य विभाग ने आवास आंवटन की कार्रवाई दो दिन पहले गोपनीय तरीके से कर दी। इसके लिए सीएमएचओ डॉ एआर करोरिया की देखरेख में बनी पांच सदस्यीय समिति भी बनाईगई। समिति में सिविल सर्जन डॉ आरबी गोयल, डीएचओ डॉ ओपी वर्मा, डॉ एके सिंह, डॉ वीके शाक्य भी शामिल थे।
इन डॉक्टरों को आंवटित किए आवास
यह नए आवास डॉ ओपी वर्मा, डॉ वीके शाक्य, डॉ दिलीप सिंह सिकरवार और डॉ संजय मंगल को आंवटित किए है। डॉ ओपी वर्मा और वीके शाक्य तो आवास आंवटन समिति में बतौर सदस्य शामिल थे। जबकि समिति सदस्यों के द्वारा खुद के लिए ही आवासो का आंवटन करना नियमो के विपरित है। सूत्र बताते है कि इस नियम विपरित आवंटन का विरोध न हो,इसलिए स्वास्थ्य विभाग ने आवास आंवटन सूची अभी न तो चस्पा की और न ही संबंधित डॉक्टरो को आवास आंवटित किए जाने के संबंध में कोई पत्र दिया।
दबी जुबान से उठने लगे विरोध के सुर
स्वास्थ्य विभाग के सूत्र बताते है कि जिन डॉक्टरो को आवास आंवटित किए गए है,उनसे भी कुछ डॉक्टर छोटे-बडे आवास को लेकर नाखुश है। जबकि जो आवास से वंचित किए गए है, वे भी नाराज है। मगर सूची सार्वजनिक न होने से अभी चुप है। मगर सूची सार्वजनिक होने पर उनके विरोध सुर दिखने लग जाएंगे।
वर्जन
आवासों का आवंटन कर दिया गया है।आवास आंवटन की कार्रवाई नियमानुसार समिति गठित करके की गईहै।
डॉएआर करोरिया
सीएमएचओ,श्योपुर

Laxmi Narayan Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned