खाली बर्तन सिर पर रख मुख्य द्वार पर बैठे ग्रामीण, किया जनपद कार्यालय का घेराव

- जनपद सीईओ बोले..पीएचई करेगी हंैडपंप ठीक, सीईओ ने पीएचई एसडीओ को लगाया फोन, बोले जल्द मिलेगा पानी

By: Anoop Bhargava

Updated: 04 Jul 2020, 10:51 AM IST

कराहल
खाली बर्तन सिर पर रखकर इंद्रा कॉलोनी के ग्रामीण जनपद पंचायत कार्यालयके मुख्य द्वार पर बैठ गए। ग्रामीणों ने करीब डेढ़ घंटे तक जनपद कार्यालय पर धरना दिया। पांच दिन पहले आदिवासी महिलाओं ने जनपद पंचायत का घेराव किया था। पांच दिन में समस्या का समाधान करने का जनपद सीईओ द्वारा आश्वासन दिए जाने के बाद भी पेयजल समस्या ’यों की त्यों बनी है। इसको लेकर शुक्रवार को फिर से कराहल जनपद का घेराव किया गया। इस बार ख़ाली बर्तनों के साथ ब‘चे जनपद कार्यालय के मुख्यद्वार पर बैठ गए। बैठक में व्यस्त जनपद सीईओ ने आदिवासी समुदाय के कुछ लोगों को बुलाकर पीएचई के एसडीओ ओपी नागर से चर्चा कराकर समस्या जल्द निपटाने का आश्वासन दिया। इसके बाद ही आदिवासी ब‘चों ने घरना खत्म किया।

कराहल जनपद कार्यालय के पास आदिवासी बस्ती इंद्रा कॉलोनी के आधा सैकड़ा परिवार पीने का पानी नहीं मिलने से परेशान हैं। कराहल के करियादेह तिराहा, मुख्य बाज़ार से एक से डेढ़ किमी दूर से इन परिवारों को पानी लाना पड़ रहा है। इस समस्या से निजात पाने के लिए ग्रामीण ग्राम पंचायत कराहल के दो माह से चक्कर काट रहे हैं। ग्राम पंचायत सचिव और सरपंच पेयजल समस्या का निपटारा नहीं कर पा रहे हैं। पानी की समसया को लेकर ग्रामीणों ने 29 जून को कराहल जनपद सीईओ का घेराव किया था तब जनपद सीईओ एसएस भटनागर ने जल्द पानी मुहैया कराने का आश्वसन दिया था। इसके बाद भी समस्या का समाधान नहीं होने पर शुक्रवार को ब"ो खाली बर्तन लेकर जनपद कार्यालय पहुंच गए।
हैंडपंप का दूषित पानी दिखाया
इंद्रा कॉलोनी के ग्रामीणों ने जनपद सीईओ एसएस भरनागर को बर्तन में लाए हैंडपंप का दूषित पानी दिखाया और बोले सर आप इस पानी से नहाने सकते हो, यही पानी हैंडपंप से निकल रहा है। चार दिन पहले भी आप ने बोला था एक दिन में पेयजल समस्या का समाधान करा देंगे लेकिन चार दिन के बाद भी पेयजल समस्या में सुधार नहीं हुआ हमें मजबूरन आना पड़ा। अब पानी की समस्या का समाधान नहीं हुआ तो कलेक्टर एसडीएम की घेराबंदी करेंगे

Anoop Bhargava Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned