script ...हिमाचल में तब चले आना भरी बरसातों में। कैसे | during the rainy season then go to Himachal . How | Patrika News

...हिमाचल में तब चले आना भरी बरसातों में। कैसे

locationशिमलाPublished: Feb 05, 2024 11:06:58 pm

Submitted by:

satyendra porwal

बेस्ट ड्रेनेज प्लान के बाद प्रकृति बरसेगी, सबके मन हरषेंगे
शिमला. हिमाचल प्रदेश में पहाड़ों के बीच प्रकृति से खिलवाड़ पर कभी भी प्राकृतिक आपदा कहर बनकर टूट जाती है। ऐसे में यहां के लोगों में प्रकृति के अनुपम उपहार को सहेजने की भरपूर कोशिश रहती है लेकिन दिन-प्रतिदिन शहरीकरण व बढ़ती आबादी में अब यहां ड्रेनेज सिस्टम इस कदर गड़बड़ाया हुआ है कि प्रकृति के मेहरबान होने पर भी इसका बेहतर फल यानी जल प्राकृतिक आपदा के रूप में सामने आ जाता है।

...हिमाचल में तब चले आना भरी बरसातों में। कैसे
...हिमाचल में तब चले आना भरी बरसातों में। कैसे
शिमला नगर निगम की पहल
इस समस्या को सतह से दूर करने के लिए एक बार फिर शिमला नगर निगम ने पहल की है। यहां मुख्य समस्या सही ड्रेनेज सिस्टम बनाना है। हिमाचलवासियों सहित विषय विशेषज्ञों को आगे आकर इस दिशा में ऐसे मुकाम कायम करने होंगे कि स्थायी समाधान मिल सके।
बजट की तैयारियों में जुटा निगम
हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला का नगर निगम बजट की तैयारियों में जुट गया है। कांग्रेस शासनकाल में शिमला नगर निगम का यह पहला बजट होगा, जो फरवरी के अन्तिम सप्ताह में पेश किए जाने की तैयारियां हैं। नगर निगम ने बजट के लिए शिमला शहर के लोगों से सुझाव मांगे हैं, ताकि सुझावों के अनुरूप बजट का प्रावधान किया जा सके।
आम लोगों से बजट के लिए मांगे सुझाव
शिमला नगर निगम के मेयर सुरेन्द्र चौहान ने कहा कि बजट को लेकर अधिकारियों के साथ बैठकें की जा रही है और आम लोगों से बजट के लिए सुझाव मांगे गए हैं। बजट में शिमला शहर की मूलभूत समस्याओं पानी, पार्किंग, स्वच्छता सहित अन्य चीजों की तरफ विशेष फोकस रहेगा।
बरसात में शिमला शहर को काफी नुकसान
चौहान ने कहा कि बरसात में शिमला शहर को काफी नुकसान हुआ है जिसका बड़ा कारण सही ड्रेनेज सिस्टम न होना है। इसकी तरफ भी सरकार व नगर निगम शिमला विशेष ध्यान दे रही है।

ट्रेंडिंग वीडियो