सरपंच सचिव ने फर्जी मस्टर रोल लगाकर निकाला भुगतान

डैम निर्माण में गड़बड़ी, जनपद अध्यक्ष के निरीक्षण में हुआ मामले का खुलासा

 

 

By: Rakesh shukla

Published: 10 Jan 2019, 04:09 PM IST

करैरा. जनपद पंचायत के ग्राम उडवाह में सरपंच-सचिव ने मिलकर रोजगार गारंटी योजना के तहत बनाए जा रहे 13 लाख की लागत से दांगीपुरा में वाटर कंजर्वेशन और वाटर हार्वेस्टिंग के तहत चेक डैम निर्माण का कार्य मजदूरों की जगह मशीनों से करा लिया। साथ ही मजदूरों के फर्जी मस्टर रोल लगाकर पूरा भुगतान भी निकाल लिया। खास बात यह है कि पूरे डैम का निर्माण कार्य भी घटिया स्तर का कराया गया है। यह खुलासा जनपद अध्यक्ष बती आदिवासी के निरीक्षण में हुआ।

जानकारी के मुताबिक इस डैम के निर्माण में रोजगार सहायक व सरपंच ने 2 जनवरी 2019 को 98 मजदूर जनरेट किए है, वो भी सिर्फ कागजों में। मौके पर एक भी मजूदर काम करता हुआ नहीं मिला। करैरा जनपद पंचायत की अध्यक्ष बती आदिवासी ने बुधवार को ग्राम पंचायत उड़वाहा के ग्राम दांगी पुरा का आकस्मिक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान एक भी मजदूर कार्यरत नहीं मिला। बताया गया कि पूरा काम मशीनों से कार्य करा दिया गया है और इस काम में जिस सीमेंट का उपयोग किया गया है वह बहुत ही हल्के स्तर की है। निरीक्षण में जनपद पंचायत अध्यक्ष के साथ जनपद सदस्य कप्तान पाल, जनपद सदस्य नीरज लोधी सहित अन्य ग्रामीण लोग मौजूद थे। जनपद अध्यक्ष बती आदिवासी ने बताया कि घमंडी वंशकार के नाले के पास ग्राम दांगी पुरा में वाटर कंजर्वेशन और वाटर हार्वेस्टिंग के तहत चेक डैम निर्माण कार्य में बड़ा फर्जीवाड़ा हुआ है। उन्होंने मामले में पूरा प्रतिवेदन बनाकर जिले की कलेक्टर अनुग्रह पी को शिकायत कर जांच की मांग की है।

सहायक व सचिव मुख्यालय से रहते है गायब : ग्राम पंचायत ऊडवाह के रोजगार सहायक व सचिव दोनों ही अधिकांश समय मुख्यालय से नदारद रहते हंै। इन दोनों की गैर मौजूदगी में गांव के सरपंच ने पूरा काम घटिया स्तर से करवाया है। न तो इस डैम का निरीक्षण इंजीनियर ने किया है और न ही इसकी मॉनिटरिंग की गई।

मैंने बुधवार को जब ग्राम ऊडवाह का दौरा किया तो वहां पर डैम निर्माण के दौरान कोई भी मजदूर काम करते नहीं मिला। जबकि 2 जनवरी को सचिव ने 98 मजदूरों से काम होना बताया है और मजदूरों से जानकारी ली तो मजदूरों का कहना है कि हमे ग्राम में कोई भी काम नहीं मिलता है। यहां सरपंच-सचिव मशीनों से काम करवाते है। यह निर्माण बहुत ही घटिया स्तर से हुआ है। मैं इसका प्रतिवेदन बनाकर कलेक्टर को भेजूंगी और कार्यवाई के लिए मांग करूंगी।
बती आदिवासी जंप अध्यक्ष करैरा

Rakesh shukla
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned