बेटे की मौत की खबर सुनते ही मां ने भी छोड़ी दुनिया

एक साथ उठी दोनों की अर्थी तो लोगों की आंखें हो गईं नम।

By: shatrughan gupta

Published: 17 Oct 2020, 11:11 PM IST

पिछोर. कहते हैं कि मां की जिंदगी बच्चे में ही बसती है और मां-बेटे का प्यार ताउम्र बना रहता है। ऐसी ही एक दु:खद घटना शनिवार को पिछोर नगर में सामने आई, जिसमें बेेटे की मौत की खबर सुनते ही मां ने भी दुनिया छोड़ दी। जब एक ही घर से मां-बेटे की अर्थी एक साथ निकली तो पूरे नगर की आंखें नम हो गईं। पिछोर नगर के बीजासेन रोड निवासी तथा नगर के प्रमुख व्यवसायी सरदार सुरमुख सिंह सल के छोटे भाई सरदार शेरसिंह सल (55) का निधन शुक्रवार 16 अक्टूबर को गुरुग्राम के मेदांंता अस्पताल में उपचार के दौरान हो गया। रात को हुई शेरसिंह की मौत की खबर शनिवार की सुबह जैसे ही उनकी वयोवृद्ध मां मायावति सल (88 वर्ष) को लगी तो वे यह दु:खद घटना सहन नहीं कर सकीं और पुत्रवियोग में उन्होंने भी प्राण त्याग दिए। एक ही परिवार में हुई मां-बेटे की मौत खबर से सारे नगर में शोक की लहर दौड़ गई। हर कोई यह सुनकर स्तब्ध था कि बेटे की मौत की खबर मां बर्दाश्त नहीं कर पाई और दुनिया छोड़ गई। इस घटना ने एक बार फिर मां के अपने बच्चों के प्रति प्रेम को उजागर किया है। जब मां-बेटे की अर्थी एक साथ एक ही घर से निकली तो उसे देखकर हर नगरवासी की आंख नम हो गई। पिछोर के मुक्तिधाम में मां-बेटे का अंतिम संस्कार पास-पास ही चबूतरे पर किया गया।

शव देखकर छोड़ दिए प्राण
स रदार शेर सिंह की मौत दिल्ली में शुक्रवार को ही हो गई थी, लेकिन परिवारजनों ने पिछोर में उनकी मां को नहीं बताया था। लेकिन परिजनों की स्थिति को देखकर वयोवृद्ध मां कुछ समझने का प्रयास कर रही थी। आज सुबह जैसे ही शेरसिंह का शव घर पहुंचा, तो उसे देखकर मां वहीं बेसुध होकर गिर पड़ी ओर कुछ ही देर में उसने प्राण त्याग दिए। इधर, एक तरफ बेटे का शव रखा हुआ था और दूसरी तरफ उसके प्यार में दुनिया छोड़ गई मां की मृत देह को देखकर पूरा परिवार शोक में डूब गया।

shatrughan gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned