खनिज पोर्टल बंद होने के बावजूद पंचायत की खदान से जारी है रेत का अवैध उत्खनन

सरपंच-सचिव द्वारा कराया जा रहा अवैध रेत का उत्खनन व परिवहन, स्थानीय पुलिस की भूमिका संदिग्ध, रामपुर नैकिन जनपद के ग्राम पंचायत बजरंगगढ़ अंतर्गत पैपखरा रेत खदान का मामला

सीधी/खड्डी। जिले के रामपुर नैकिन तहसील अंतर्गत खड्डी चौकी के समीप ग्राम पंचायत बजरंगगढ़ के पैपखरा में पंचायत के माध्यम से संचालित रेत खदान में जमकर मनमानी की जा रही है। इस खदान को विगत माह रेत निकासी का पट्टा खनिज विभाग द्वारा जारी किया गया था। अब जबकि पूरे जिले का खनिज पोर्टल बीत करीब एक सप्ताह से बंद हो चुका है फि र भी यहां से बिना टीपी रेत की निकासी लगातार जारी है। ग्राम पंचायत बजरंगगढ़ के सरपंच-सचिव रेत के अवैध कारोबार में पूरी तरह से लिप्त हैं। बजरंगगढ़ रेत खदान से जब वाहनों के लिए टीपी जारी की जाती थी तो वहां से इंदौर, भोपाल, जबलपुर के नाम टीपी जारी की जाती थी। इसी टीपी के सहारे वाहनों द्वारा रेत परिवहन के लिए एक दिन में ही दर्जनों चक्कर लगाकर शासन को राजस्व का चूना लगाया जा रहा था। बताया गया कि पुलिस चौकी खड््डी का रेत के अवैध कारोबार में ग्राम पंचायत बजरंगगढ़ के सरपंच-सचिव को पूरा संरक्षण मिल रहा है, जिसके कारण पोर्टल बंद होने के बावजूद अवैध रेत की निकासी जमकर हो रही है। खनिज पोर्टल के बंद होने के बावजूद एक सप्ताह से ग्राम पंचायतों को आवंटित रेत खदानों से रेत का अवैध उत्खनन एवं परिवहन नहीं थम रहा है। बताया गया है कि बिना टीपी के ही वाहनों में रेत की लोडिंग कराई जा रही है। विडंबना यह है कि बिना टीपी के दौड़ रहे रेत से लोड वाहनों की जांच पड़ताल खनिज, पुलिस एवं राजस्व अमले द्वारा करने की जरूरत नहीं समझी जा रही है। यह अवश्य है कि जिले से बाहर जा रही अवैध रेत को लेकर कुछ वाहनों में दूसरे खदानों की टीपी रखी जा रही है। जिम्मेदार रेत परिवहन में लगे वाहनों की टीपी को देखने की जरूरत नहीं समझ रहे हैं। उनके द्वारा वाहनों के रूकते ही अपना सुविधा शुल्क ले लिया जाता है। इसके बाद वाहनों को आगे जाने की छूट मिल जाती है। सुविधा शुल्क के चलते ही रेत का अवैध कारोबार चरम पर है। खनिज पोर्टल बंद होने की जानकारी जिम्मेदार अधिकारियों को पूरी तरह से है, फि र भी अवैध रेत परिवहन में लगे वाहनों की जांच एवं कार्रवाई न करने को लेकर भी तरह-तरह के सवाल खड़े हो रहे हैं। रेत का अवैध परिवहन शाम ढलने के बाद से सुबह करीब 7 बजे तक बेरोक-टोंक चल रहा है। जानकारों का कहना है कि खनिज विभाग के साथ ही पुलिस एवं राजस्व अमले के संरक्षण में ही रेत का अवैध कारोबार एक सप्ताह से बड़े पैमाने पर चल रहा है।
........बजरंगगढ़ से रेत के अवैध उत्खनन एवं परिवहन की कोई जानकारी नहीं है। यदि ऐसा हो रहा है तो मैं पुलिस चौकी प्रभारी से बात कर बिना टीपी के रेत परिवहन पर पूरी तरह से अंकुश लगवाने की कार्रवाई सुनिश्चित कराऊंगा।
अशोक पांडेय, थाना प्रभारी रामपुर नैकिन

Manoj Pandey Bureau Incharge
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned