बारिश के अब रोजाना डेंगू के रोगी आ रहे सामने

नमूनों की संख्या बढ़ी, अब तक 25 मरीज मिले

By: Puran

Published: 13 Aug 2019, 09:20 PM IST

सीकर। मौसम में हो रहे लगातार बदलाव के कारण अलग-अलग तरह के वायरस सक्रिय हो गए हैं। इसका नतीजा है कि मरीजों में डेंगू के लक्षण नजर आने लगे हैं। आउटडोर में मरीजों की संख्या बढऩे के साथ-साथ जिला लैब में एकाएक डेंगू की जांच के नमूनों की संख्या बढ़ गई है। हालांकि चिकित्सा विभाग डेंगू की एलाइजा जांच में पॉजीटिव मिलने पर पुष्टि करता है लेकिन निजी अस्तपालों में कार्ड टेस्ट के जरिए डेंगू के रोगी उपचार ले रहे हैं। विभाग के अनुसार सीकर जिले में 25 मरीज डेंगू के सामने आ चुके हैं।


वायरल दिखा रहा असर

ये सक्रिय वायरस एंटी बायोटिक और दर्द निवारक दवा लेने के बाद भी खांसी व पसलियां व पेट दर्द सरीखे लक्षण दिखा रहा है। चिकित्सकों का कहना है कि एक तरह का वायरस दवा के बाद दुबारा हमला नहीं करता है। एंटी बायोटिक दवा लेने के कारण शरीर की प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है। इस कारण वायरस का दूसरा स्वरूप पीछा नहीं छोड़ता है। यही कारण है इन दिनों वायरल से पीडि़त लोगों की संख्या बढ़ती जा रही है। निजी अस्पतालों का आउटडोर बढ़ता जा रहा है।
बारिश के बाद बढ़ी समस्या

मौसम में आए उतार-चढ़ाव के कारण एक सप्ताह से अधिक समय से बीमार है। आमतौर पर साधारण वायरल कम मात्रा वाली एंटी बायोटिक से ठीक हो जाता है। ये दवाएं तीन से चार दिन तक लेनी होती है, लेकिन पिछले एक पखवाडे से आ रहे मरीजों को वायरल के लिए दी जाने वाली एंटी बायोटिक दवाओं को बदलने के बाद भी वायरल पूरी तरह ठीक नहीं हो रहा है। इस कारण चिकित्सा अधिकारी भी इसे वायरल का दूसरा स्वरूप बता रहे हैं।

इनका कहना है
बारिश के बाद मच्छर पनप रहे हैं। एलाइजा टेस्ट में पुष्टि होने के बाद ही डेंगू का रोगी होता है। फिलहाल वायरल बुखार के पीडि़त अस्पताल में मरीज आने लगे हैं। अगले सप्ताह तक डेंगू सरीखी मौसमी बीमारियों के रोगी सामने आने लगेंगे। रेपिड रेस्पोंस टीम को सतर्क कर दिया गया है।
डा. अजय चौधरी, सीएमएचओ सीकर

Puran Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned