VIDEO : जन्माष्टमी पर ठाकुरजी को भोग लगाते ही इन पर बरसे लाठी-सरिया, जानिए क्यों?

vishwanath saini | Publish: Sep, 04 2018 01:37:59 PM (IST) | Updated: Sep, 04 2018 04:30:29 PM (IST) Sikar, Rajasthan, India

www.patrika.com/sikar-news/

सीकर. झुंझुनूं जिले के गांव भीमसर में जन्माष्टमी पर भोग लगाने को लेकर विवाद हुआ है, जिसमें भीमसर गांव के सरपंच के परिवार पर हमला कर दिया गया। जानकारी के मुताबिक भीमसर गांव में ठाकुरजी के मंदिर को लेकर काफी दिनों से विवाद चल रहा है।

 

बीती रात को सरपंच के परिवार के सदस्य मंदिर में भोग लगाकर निकल रहे थे कि अचानक मंदिर के पुजारी सांवरमल सहित उसके परिवार के एक दर्जन से अधिक सदस्यों ने उन पर हमला कर दिया। इस मौके पर सरपंच के जेठ नवनीत टीबड़ा व उनके साथ गांव के कुछ लोग थे।

 

अचानक लाठियों और सरियों से किए गए हमले में ना केवल नवनीत, बल्कि गांव की दो महिलाओं समेत सात जनें घायल हो गए। जिन्हें जिला मुख्यालय के बीडीके अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। घटना के बाद गांव में तनाव का माहौल है।


जन्माष्टमी पर जोखिम में पड़ गई इस ‘कान्हा’ की जान, लोगों ने यूं बचाया

सीकर. राजस्थान के सीकर के धोद में जन्माष्टमी 2018 की रात को हुई मटकी फोड़ प्रतियोगिता में एकबारगी तो सबकी सांसे थम गई। यहां मटकी फोडऩे वाला एक ‘गोविंदा’ पिरामिड गिरने से 25 फिट ऊपर हवा में लटक गया। जिससे लोग दहशत में आ गए। कुछ देर रस्सी पर लटकने के बाद उसने जमीन पर छलांग लगा दी।

गनीमत यह रही कि इस दौरान नीचे मिट्टी बिछी होने के कारण उसे कोई चोट नहीं लगी। बतादें कि यहां कृष्ण जन्म के बाद मटकी फोड़ प्रतियोगिता हुई थी। जिसमें कस्बे की कई टीमों ने हिस्सा लिया था। जिसमें बाबा सुखदेव दास टीम ने मटकी फोड़ विजेता का खिताब जीता।

मटकी फोडऩे वाली इसी टीम का गोविंदा मटकी फोडऩे में रस्सी पकडकऱ इतनी शिद्दत से जुट गया कि उसके नीचे का पिरामिड गिरने पर भी उसने वह रस्सी नहीं छोड़ी। जिससे वह हवा में ही लटक गया। जिससे एकबारगी तो सबके होश फाख्ता हो गए। बाद में उसने मिट्टी में छलांग लगाकर जान बचाई। जिसके बाद लोगों ने राहत की सांस ली।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned