अस्पताल में किया जा रहा था कोरोना वैक्सीनेशन ...अचानक से ऐसा क्या हुआ कि पैरों के नीचे से जमीन और सिर के ऊपर से छत सरक गई!

Corona vaccination was being done in the hospital what happened suddenly

कोविड वैक्सिनेशन के दौरान हुई दिल दहलाने वाली घटना... गनीमत रही कि उस समय कोई नहीं था कमरे में

By: Gaurav

Updated: 06 Mar 2021, 06:31 PM IST

Corona vaccination was being done in the hospital what happened suddenly
-सीकर के एक गांव में दिखा यह मंजर
-जिसने देखा रह गया दंग
सीकर. ...और दिनों की तरह ही यह सुबह थी। अस्पताल में सुबह फिनाइल से लगे पौछे की महक के बीच मरीजों का आना शुरू हो चुका था। कोरोना वैक्सीनेशन (Corona vaccination ) के लिए मरीज जुट चुके थे। वहीं मर्ज के अनुसार चिकित्सकों से परामर्श भी लिया जा रहा था। चिकित्सकों के आगे मरीजों की कतार लग चुकी थी। कोई पेट में दर्द को लेकर तो कोई तेज बुखार आने पर अस्पताल (hospital)में डॉक्टर को दिखाने आया हुआ था। तभी अचानक से आई तेज आवाज ने लोगों को दहला कर रख दिया। एक बार को सब अपना मर्ज भूल चुके थे...। सब के पैरों के नीचे से जमीन सरक चुकी थी। मंजर ही ऐसा था। अस्पताल भवन की छत अचानक से तेज आवाज के साथ भराभरा कर जो गिर गई थी।


सीकर(sikar) के गांव झाडली के सेठ रामनिवास गोयल मेमोरियल चिकित्सलाय के कमरों की छत जो काफी समय से जर्जर अवस्था में थी वह भरभराकर गिर गई। जिस समय यह हादसा हुआ उस समय चिकित्सालय में काफी संख्या में लोग मौजूद थे। कोरोना वैक्सीनेशन के लिए काफी संख्या में बुजुर्ग भी आए हुए थे। अचानक से गिरी छत से तेज धमाका हुआ तो वहां मौजूद स्टाफ व मरीज सब डर गए।


हालांकि गनीमत रही कि अस्पताल के जिस भाग में कमरे की छत अचानक से गिरी वहां उस समय कोई मौजूद नहीं था। स्टाफ व गांव के लोग बताते हैं कि इसी चिकित्सालय में ऐसा पहले भी दो बार हो चुका है। अस्पताल भवन पहले सी ही काफी क्षतिग्रस्त हो चुका है।


अस्पताल प्रभारी डॉ. अनुज कुमार मीणा ने बताया कि छत गिरने से कमरे में रखे वाटर कूलर, चेयर, कूलर, बैड, आईवी स्टैण्ड , सीपीयू, इनवेटर व बैटरी मलबे में दब गए। कमरे की छत गिरने के बाद पीएचसी के पीछे की दीवार भी गिरने के कगार पर है। इस संबंध में विधायक, तहसीलदार, एसडीएम, ब्लॉक सीएमएचओ सहित सभी अधिकारियों को अवगत कराया जा चुका है।


ग्रामीणों के अनुसार पट्टी व इजेक्शन कक्ष तथा टीकाकरण कक्ष की छत की पट्टियां कभी भी गिर सकती हंै। झाडली सरपंच मगन कंवर ने कहा कि इस संबंध में 8 माह पहले कलक्टर को अवगत करवा दिया गया था और 6 महिने पूर्व मुख्य कार्यकारी अधिकारी सीकर को मौकेे पर बुलाकर अस्पताल की जर्जर स्थिति से अवगत करवाया गया था।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned