script Rajasthan Election 2023: पोस्टल बैलेट ने किस पार्टी को कितना दिया वोट | How much vote was given to which party by postal ballot? | Patrika News

Rajasthan Election 2023: पोस्टल बैलेट ने किस पार्टी को कितना दिया वोट

locationसीकरPublished: Dec 09, 2023 12:04:25 pm

Submitted by:

Mukesh Kumawat

विधानसभा चुनाव कर्मचारियों की वोटिंग के लिहाज से महत्वपूर्ण रहा। इस बार बहुतायत में कर्मचारियों ने मतदान के दौरान कांग्रेस को तरजीह दी।

Rajasthan Election 2023: पोस्टल बैलेट ने किस पार्टी को कितना दिया वोट
Rajasthan Election 2023: पोस्टल बैलेट ने किस पार्टी को कितना दिया वोट

सीकर/श्रीमाधोपुर. श्रीमाधोपुर विधानसभा चुनाव कर्मचारियों की वोटिंग के लिहाज से महत्वपूर्ण रहा। इस बार बहुतायत में कर्मचारियों ने मतदान के दौरान कांग्रेस को तरजीह दी। कर्मचारियों के पोस्टल बैलेट में कांग्रेस ने बाजी मारी। जबकि एक दशक पूर्व तक ज्यादातर कर्मचारियों की पसंदीदा पार्टी भाजपा मानी जाती थी। विधानसभा चुनाव के दौरान कार्मिकों, बुजुर्ग और दिव्यांग वोटर्स के लिए शुरू की होम वोटिंग पोस्टल बेलेट के माध्यम से मतदान की सुविधा दी गई। पोस्टल वोट में सबसे ज्यादा दीपेंद्र सिंह कांग्रेस को 1641, झाबर सिंह खर्रा भाजपा को 1226, बलराम यादव निर्दलीय 616, झाबर सिंह निर्दलीय 49, नोटा 13, सीता देवी बसपा 9, अशोक कुमार शर्मा आप 7, मनोज कुमार कुलदीप लोजपा(रामविलास) 3, नंदू कंवर निर्दलीय 3 व फूलचंद अग्रवाल निर्दलीय 0 पोस्टल वोट मिले।

भाजपा पर कांग्रेस भारी

कर्मचारियों के पोस्टल बेलेट में भाजपा पर कांग्रेस भारी पड़ी। कांग्रेस को भाजपा से 415 वोट ज्यादा मिले। कुछ सीटों पर पोस्टल बेलेट ने हार- जीत में बड़ी भूमिका निभाई।

पुरुषों से ज्यादा महिलाओं ने की वोटिंग

श्रीमाधोपुर क्षेत्र में कुल 69.60 फीसदी मतदान हुआ। इस चुनाव में 71.85 फीसदी महिलाएं, 67.59 फीसदी पुरुष मतदाताओं ने वोटिंग की। इस बार पुरुषों की तुलना में 4.26 फीसदी ज्यादा महिलाओं ने मतदान में भाग लिया, लेकिन महिला उम्मीदवार सीता देवी बसपा को 878 व नंदू कंवर निर्दलीय को 287 वोट मिले।

ओपीएस ने कर्मचारियों को किया आकर्षित

कांग्रेस की पूर्ववर्ती गहलोत सरकार ने देश में पहली बार कर्मचारियों को ओल्ड पेंशन स्कीम ओपीएस का वादा किया। कर्मचारी लंबे समय से ओपीएस की मांग कर रहे थे। सरकार की ओर से ओपीएस की मांग पूरी करने का लाभ विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को मिलता भी दिखा। वहीं कर्मचारियों को दिए गए अन्य लाभ की बैलेट में कांग्रेस को भाजपा पर बढ़त दिलाने में कामयाब रहे।

ट्रेंडिंग वीडियो