Lockdown: अब बाजार में नहीं होगी अनाज व राशन की कमी, किसानों को भी होगा भारी फायदा

लॉकडाउन और अनाज मंडी में कारोबार बंद रहने के कारण एक और जहां किसानों को फसल बेचने के लिए बाजार नहीं मिल रहा वहीं दूसरी ओर बाजार में खाद्यान्नो की कमी के कारण आमजन बेहाल हो रहे हैं।

By: Sachin

Published: 05 Apr 2020, 11:53 AM IST

सीकर. लॉकडाउन और अनाज मंडी में कारोबार बंद रहने के कारण एक और जहां किसानों को फसल बेचने के लिए बाजार नहीं मिल रहा वहीं दूसरी ओर बाजार में खाद्यान्नो की कमी के कारण आमजन बेहाल हो रहे हैं। इसे देखते हुए कृषि व सहकारिता विभाग ने प्रदेश में प्रसंस्करण इकाइयों को सीधे किसान से अनाज की खरीद के लिए लाइसेंस देने का प्रावधान किया है। इससे एक ओर किसानों को उनकी उपज के लिए अच्छे भाव मिलेंगे वहीं बाजार में आटा, दाल, तेल सहित अन्य खाद्यान्नों की कमी से निजात मिल सकेगी। इसके लिए सीकर मंडी ने लाइसेंस देने की कवायद भी शु कर दी है। फिलहाल खाद्य पदार्थो की प्रसंस्करण इकाइयां अनाज मंडी से ही कच्चे माल की खरीद कर रही थी। गौरतलब है कि सीकर जिले में पौने चार लाख किसान खरीफ और रबी की बुवाई करते हैं


मंडी कार्यालय में देना होगा आवेदन
मंडी सचिव देवेन्द्र सिंह बारेठ ने बताया कि किसान से सीधी खरीद के लिए लाइसेंस लेने के लिए प्रसंस्करण इकाई, एफपीओ, एफपीसी की ओर से प्रदेश में संबंधित मंडी क्षेत्र के कार्यालय में आवेदन करना होगा। आवेदन में सीधी खरीद के लिए केन्द्र का नमाम ओर एक दिन की औसत खरीद की सूचना देनी होगी। जिन आवेदको के पास पूर्व में मंडी की ओर से जारी व्यापारी वर्ग या संयुक्त वर्ग का लाइसेंस नहीं है उन्हे आवेदन के साथ उचित दस्तावेज देने होगे। इसके लिए मंडी कार्यालय में प्रक्रिया शुरू कर दी है।


अब तक यह थी समस्या
लॉकडाउन की वजह से मंडी बंद होने से किसान ना तो अपनी उपज मंडी व्यापारी तक पहुंचा पा रहे थे, ना ही सीधे बेचने के लिए उन्हें वाहन उपलब्ध हो रहे थे। ऐसे में प्याज सरीखी फसल तो खराब होने के संकट से घिर आई थी। वहीं, बाजार में फसल नहीं आने पर आमजन के सामने भी संकट गहरा रहा था। लिहाजा सरकार के इस कदम से अब किसान व आमजन दोनों को फायदा होगा।

 

 

Corona virus
Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned