पकड़े गए लूटेरे, अब खुलेंगे राज

पकड़े गए लूटेरे, अब खुलेंगे राज

Kailash Chand Sharma | Updated: 15 Apr 2019, 06:06:01 PM (IST) Sikar, Sikar, Rajasthan, India

पकड़े गए लूटेरे, अब खुलेंगे राज


सीकर. बोसाणा व भीराणा के बीच रास्ते में लूट की वारदात को अंजाम देने वाले गिरोह के तीन सदस्यों को लोसल थाना पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपी पवन शर्मा, उत्तम ङ्क्षसह व जितेंद्र सिंह है। जिन्होंने अपने बाकी साथियों के साथ मिलकर पांच अप्रेल को खानड़ी निवासी परिवादी राजेन्द्र कुमार को लूटकर फरार हो गए थे।
लोसल थानाधिकारी रामकिशन यादव ने बताया कि राजेंद्र पांच अप्रेल को अपनी गाड़ी लेकर धोद से खानड़ी आ रहा था। इस दौरान सात अज्ञात लोग एक कार व बाइक पर सवार होकर आए और राजेंद्र की गाड़ी को रूकवा कर उसके साथ मारपीट की। इसके बाद राजेंद्र के पास मौजूद 74 हजार रुपए और दो मोबाइल सहित उसके एटीएम कार्ड लूटकर ले गए। जाते समय आरोपी राजेंद्र की गाड़ी का शीशा भी तोड़ गए थे। इसके आरोप में तीनों आरोपियों को बापर्दा गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस ने बताया कि आरोपियों से पूछताछ जारी है और इनसे लूट की और भी वारदातों का खुलासा हो सकता है।
रंजिश भी है लूट का कारण
लुट की वारदात को आपसी पुरानी रंजिश के कारण जितेन्द्रसिंह उर्फ जीतू व उसके साथियों के द्वारा किया जाना सामने आया है।
आरोपी जितेन्द्र से पूछताछ की गई तो उसने बताया कि अपने अन्य साथी पवन शर्मा व उत्तम सिंह तथा 3-4 अन्य के साथ मिलकर घटना को अंजाम दिया। इनमें पवन व उत्तम सिंह को न्यायिक अभिरक्षा में भिजवाया जा चुका है तथा जितेन्द्रसिंह को जेल से प्रोडक्शन वारंट पर प्राप्त कर घटना में प्रयुक्त वाहन व बाकी साथियों के बारे में पूछताछ की जा रही है।

फायरिंग के बाद गांव आकर चला गया इनामी बदमाश, सोती रही सदर थाना पुलिस
सीकर. कमल रामसरा पर फायरिंग करने के बाद आरोपी कुलदीप बाजिया अपने गांव फकीरपुरा आकर चला गया और सदर थाना पुलिस को इसकी भनक तक नहीं लगी। इसके बाद वह जयपुर के बगरू कस्बे में जाकर छिप गया और वहां फरारी काट रहा था। लेकिन, चूरू पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए आरोपी कुलदीप को दबोच लिया। इसके साथ पुलिस के हाथ चूरू शहर के चर्चित महेंद्र गोदारा हत्याकांड का आरोपी रामस्वरूप जाट भी लगा। दोनों को गिरफ्तार करने के बाद पुलिस ने इनको पांच दिन के रिमांड पर लिया है। ताकि घटना में शामिल बाकी आरोपियों का भी पता लगाया जा सके।
पुलिस के अनुसार सदर थाना अंतर्गत फकीरपुरा के कुलदीप बाजिया गत दिनों कमल रामसरा पर फायरिंग करने के बाद मौके से फरार हो गया था। मामले में वांछित चलने पर पुलिस ने इसकी गिरफ्तारी के लिए पांच हजार का इनाम भी तय कर दिया था।
जयपुर के बगरू कस्बे में इसकी गिरफ्तारी के बाद सामने आया है कि कमल पर फायरिंग करने के बाद एक बार वह अपने गांव फकीरपुरा आकर गया था। लेकिन, सदर थाना पुलिस को इसकी जानकारी नहीं होने पर मौका पाकर वह यहां से फरार हो गया था। जरिए मुखबिर सूचना मिली कि आरोपी बगरू कस्बे में छिपा हुआ है। जिस पर घेराबंदी कर आरोपी को चूरू पुलिस ने पकड़ लिया। चूरू के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रकाश शर्मा ने बताया कि कुलदीप बाजिया और रामस्वरूप को पांच दिन के पुलिस रिमांड पर है। इनसे पूछताछ कर घटना के दौरान काम में लिए गए हथियारों के बारे में जानकारी जुटाई जाएगी।
यह था मामला
कुलदीप बाजिया ने गत 18 मार्च को अपने साथी खालिद राणासर सहित अन्य के साथ मिलकर शराब कारोबारी कमल रामसरा पर फायरिंग की थी। बाद में २८ मार्च को कुलदीप ने रामस्वरूप जाट व अन्य साथियों के साथ मिलकर कमल पर दुबारा फायरिंग की थी। इसके बाद खालिद को तो गिरफ्तार कर लिया था। लेकिन, कुलदीप पुलिस के हाथ नहीं लग रहा था। जिसके खिलाफ दूधवाखारा, कोतवाली, सदर थाना चूरू में पांच आपराधिक प्रकरण
दर्ज हैं।
बुजुर्ग महिला ने
तोड़ा दम
सीकर. शहर के वार्ड संख्या छह में रहने वाला परिवार बच्चों का जड़ूला उतरवाने के लिए मोल्सासी गया था। वापस लौटने के दौरान उनकी कार को एक बोलेरो वाले ने टक्कर मार दी।
घटना के बाद घायलों को उपचार के लिए एसके अस्पताल लाया गया। यहां चिकित्सकों ने बुजुर्ग महिला निर्मला देवी को मृत घोषित कर दिया। जबकि पार्षद रविकांत तिवाड़ी के अनुसार कार में सवार दंपती मालीराम व विमल के अलावा तीन बच्चे घायल हो गए थे। इनमें दो बच्चों को इलाज के लिए जयपुर रैफर करना पड़ा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned